सिटी इवेंट्स

दुर्गोत्सव / रांची में बना बेंगलुरू के इस्कॉन मंदिर का सबसे महंगा पंडाल

X
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को बकरी बाजार पंडाल का उद्द्याटन किया। इस मौके पर भारतीय नवयुवक संघ अध्यक्ष अशोक चौधरी, मेयर आशा लकड़ा समेत कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को बकरी बाजार पंडाल का उद्द्याटन किया। इस मौके पर भारतीय नवयुवक संघ अध्यक्ष अशोक चौधरी, मेयर आशा लकड़ा समेत कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
बंगाल के 60 करीगरों ने छह महीने में बनाया बेंगलुरू का इस्कॉन मंदिर। यहां 45 लाख रुपए कुल खर्च किए गए हैं। इसमें पंडाल पर 35 लाख रुपए, प्रतिमा में 1.5 लाख रुपए और लाइट व अन्य में 8.5 लाख का खर्च आया है।बंगाल के 60 करीगरों ने छह महीने में बनाया बेंगलुरू का इस्कॉन मंदिर। यहां 45 लाख रुपए कुल खर्च किए गए हैं। इसमें पंडाल पर 35 लाख रुपए, प्रतिमा में 1.5 लाख रुपए और लाइट व अन्य में 8.5 लाख का खर्च आया है।
बेंगलुरू के इस्कॉन मंदिर की तर्ज पर 135 फीट ऊंचा पंडाल बनाया गया हैं। मुख्य प्रवेश द्वार के पास तालाब और उद्यान है।बेंगलुरू के इस्कॉन मंदिर की तर्ज पर 135 फीट ऊंचा पंडाल बनाया गया हैं। मुख्य प्रवेश द्वार के पास तालाब और उद्यान है।
मंदिर बेशर शैली में बनी है, जो यूरोपियन, द्रविड और नागर शैली का मिश्रण है। रंग-बिरंगे कांच और रंगीन पत्थरों का इस्तेमाल रोशनी को बिखेरने के लिए किया गया है।मंदिर बेशर शैली में बनी है, जो यूरोपियन, द्रविड और नागर शैली का मिश्रण है। रंग-बिरंगे कांच और रंगीन पत्थरों का इस्तेमाल रोशनी को बिखेरने के लिए किया गया है।
भारतीय नवयुवक संघ का इस वर्ष 61वां पूजा है। यहां 1976 में पंडाल बनना शुरू हुआ। वर्ष 2000 से पूजा पंडाल ने भव्य रूप लिया।भारतीय नवयुवक संघ का इस वर्ष 61वां पूजा है। यहां 1976 में पंडाल बनना शुरू हुआ। वर्ष 2000 से पूजा पंडाल ने भव्य रूप लिया।
बकरी बाजार का यह पंडाल श्रद्धालुओं को श्रीकृष्ण के करीब लेकर जाता है। बेंगलुरू के इस्कॉन मंदिर के प्रारूप को अनूठे ढंग से सामने लाया गया है।बकरी बाजार का यह पंडाल श्रद्धालुओं को श्रीकृष्ण के करीब लेकर जाता है। बेंगलुरू के इस्कॉन मंदिर के प्रारूप को अनूठे ढंग से सामने लाया गया है।
प्रतिमा के ठीक सामने सीढ़ियों से उतरते हुए आप दोनों ओर बृज की गलियों में कृष्ण को अठखेलियां करता पाएंगे। पंडाल में श्री कृष्ण की लीलाओं को सचित्र दिखाने का प्रयास किया गया है।प्रतिमा के ठीक सामने सीढ़ियों से उतरते हुए आप दोनों ओर बृज की गलियों में कृष्ण को अठखेलियां करता पाएंगे। पंडाल में श्री कृष्ण की लीलाओं को सचित्र दिखाने का प्रयास किया गया है।
COMMENT