न्यूज़ इन फोटो

भोपाल / राजधानी में कुत्तों का आतंक, बच्ची को लहूलुहान किया

X
भोपाल में कुत्तों के हमले में जान गंवाने वाले छह साल के संजू जाटव को अभी लोग भूल भी नहीं पाए हैं। और गिन्नौरी में आवारा कुत्तों ने ढाई साल की बच्ची को लहूलुहान कर दिया।भोपाल में कुत्तों के हमले में जान गंवाने वाले छह साल के संजू जाटव को अभी लोग भूल भी नहीं पाए हैं। और गिन्नौरी में आवारा कुत्तों ने ढाई साल की बच्ची को लहूलुहान कर दिया।
चीख सुनकर लोग दौड़े और बच्ची की जान बचा ली। उसके गाल और पीठ पर गहरे घाव हुए हैं।चीख सुनकर लोग दौड़े और बच्ची की जान बचा ली। उसके गाल और पीठ पर गहरे घाव हुए हैं।
घटना मंगलवार दोपहर गिन्नौरी स्थित कप्तान साहब की बगिया की है।घटना मंगलवार दोपहर गिन्नौरी स्थित कप्तान साहब की बगिया की है।
कुत्तों ने एक के बाद एक पांच लोगों को काटा। इससे गुस्से में आए लोगों ने एक कुत्ते को घेरकर मार डाला।कुत्तों ने एक के बाद एक पांच लोगों को काटा। इससे गुस्से में आए लोगों ने एक कुत्ते को घेरकर मार डाला।
स्थानीय रहवासी और प्रदेश कांग्रेस सचिव अकबर बेग ने बताया कि तहूरा पर हमला करने वाले झुंड में दाे-तीन कुत्ते पागल थे। उन्हाेंने गैस राहत अस्पताल के पास बिलकिस बी, एक ऑटाे चालक तथा दाे अन्य लाेगाें काे भी काटा था।स्थानीय रहवासी और प्रदेश कांग्रेस सचिव अकबर बेग ने बताया कि तहूरा पर हमला करने वाले झुंड में दाे-तीन कुत्ते पागल थे। उन्हाेंने गैस राहत अस्पताल के पास बिलकिस बी, एक ऑटाे चालक तथा दाे अन्य लाेगाें काे भी काटा था।
बेग ने इसकी सूचना नगर निगम कमिश्नर बी विजय दत्ता काे दी। करीब 5.30 बजे निगम का डाॅग स्क्वाॅड इलाके में पहुंचा।बेग ने इसकी सूचना नगर निगम कमिश्नर बी विजय दत्ता काे दी। करीब 5.30 बजे निगम का डाॅग स्क्वाॅड इलाके में पहुंचा।
डॉग स्क्वॉड शाम 6.30 बजे तक उन्हाेंने एक कुत्ता पकड़ा और ड्यूटी टाइम खत्म हाेने का कहकर वापस लाैट गया।डॉग स्क्वॉड शाम 6.30 बजे तक उन्हाेंने एक कुत्ता पकड़ा और ड्यूटी टाइम खत्म हाेने का कहकर वापस लाैट गया।
अमले के इस रवैए से खफा लाेगाें ने एक पागल कुत्ते काे पीट-पीटकर मार डाला। जबकि, दाे पागल कुत्ते अभी भी घूम रहे हैं।अमले के इस रवैए से खफा लाेगाें ने एक पागल कुत्ते काे पीट-पीटकर मार डाला। जबकि, दाे पागल कुत्ते अभी भी घूम रहे हैं।
माेहल्ले के लड़के लाठी-डंडे लेकर उन्हें ढूंढ रहे हैं। लाेगाें में दहशत का आलम ऐसा है कि उन्हाेंने बच्चाें का घर से निकलना बंद कर दिया है।माेहल्ले के लड़के लाठी-डंडे लेकर उन्हें ढूंढ रहे हैं। लाेगाें में दहशत का आलम ऐसा है कि उन्हाेंने बच्चाें का घर से निकलना बंद कर दिया है।
COMMENT