न्यूज़ इन फोटो

रंगपंचमी / मिसाइलों से 200 फीट ऊंचाई पर भी चढ़ा ऐतिहासिक परंपरा का रंग

X
इंदौर. शहर की पहचान रंगपंचमी पर राजबाड़ा में एक बार फिर से जश्न का माहौल नजर आया। राजबाड़ा पर पहुंचे हर चेहरे पर रंग-गुलाल नजर आया। रंगपंचमी मनाने सोमवार सुबह से ही लोगों ने राजबाड़ा का रुख किया। एक के बाद एक गेर के पहुंचते ही रंग-गुलाल का मिसाइल से उड़ना शुरू हो गया और करीब 200 फीट ऊंचाई से रंगों की बरसात हुई, जिससे पूरा आसमान सतरंगी रंग में नजर आने लगा। गेर का इतिहास आजादी से पहले का है। तब महाराजा तुकोजीराव पांच दिन की होली मनाते थे। लोहे की कोठी रंगाड़ों में रखकर लोग गेर निकालते और पिचकारी से रंगों की बौछार होती थी। अब 72 साल बाद गेर का आकार, स्वरूप बदल चुका है।इंदौर. शहर की पहचान रंगपंचमी पर राजबाड़ा में एक बार फिर से जश्न का माहौल नजर आया। राजबाड़ा पर पहुंचे हर चेहरे पर रंग-गुलाल नजर आया। रंगपंचमी मनाने सोमवार सुबह से ही लोगों ने राजबाड़ा का रुख किया। एक के बाद एक गेर के पहुंचते ही रंग-गुलाल का मिसाइल से उड़ना शुरू हो गया और करीब 200 फीट ऊंचाई से रंगों की बरसात हुई, जिससे पूरा आसमान सतरंगी रंग में नजर आने लगा। गेर का इतिहास आजादी से पहले का है। तब महाराजा तुकोजीराव पांच दिन की होली मनाते थे। लोहे की कोठी रंगाड़ों में रखकर लोग गेर निकालते और पिचकारी से रंगों की बौछार होती थी। अब 72 साल बाद गेर का आकार, स्वरूप बदल चुका है।
राजबाड़ा पर रंगपंचमी पर उड़ा जमकर रंग-गुलाल।राजबाड़ा पर रंगपंचमी पर उड़ा जमकर रंग-गुलाल।
कलेक्टर लोकेश जाटव ने रंग पंचमी पर खेला रंग।कलेक्टर लोकेश जाटव ने रंग पंचमी पर खेला रंग।
COMMENT