यूटिलिटी

चीन / जिंदगी दांव पर लगाकर निकाले गए 1 किलो शहद की कीमत 3500 रुपए

X
लाइफस्टाइल डेस्क. चीन के यूनान प्रांत में सैकड़ों फीट ऊंची चट्टानों में लगे छत्तों से शहद निकालना आसान नहीं है। शहद निकालने वाले शिकारियों कई बार एक प्रयास में सफलता नहीं मिलती। मधुमक्खी का झुंड और उनके डंक वापस उतरने के लिए मजबूत कर देते हैं। चीन के मी कियायुन शहद निकालने का काम करते हैं। वह पोल की मदद से रस्सी की सीढ़ी बनाकर ऊपर चढ़ते हैं।  काम कितना कठिन है, यह समझाने के लिए फोटोग्राफर केविन फ्रायर ने इसे तस्वीरों में कैद किया। स्लाइड में देखिए शहद निकालने की पूरी प्रक्रिया...लाइफस्टाइल डेस्क. चीन के यूनान प्रांत में सैकड़ों फीट ऊंची चट्टानों में लगे छत्तों से शहद निकालना आसान नहीं है। शहद निकालने वाले शिकारियों कई बार एक प्रयास में सफलता नहीं मिलती। मधुमक्खी का झुंड और उनके डंक वापस उतरने के लिए मजबूत कर देते हैं। चीन के मी कियायुन शहद निकालने का काम करते हैं। वह पोल की मदद से रस्सी की सीढ़ी बनाकर ऊपर चढ़ते हैं। काम कितना कठिन है, यह समझाने के लिए फोटोग्राफर केविन फ्रायर ने इसे तस्वीरों में कैद किया। स्लाइड में देखिए शहद निकालने की पूरी प्रक्रिया...
चट्टानों पर लगे छत्ते से निकलने वाला शहद आमतौर पर मिलने वाले शहद से अधिक शुद्ध होता है। यूनान प्रांत के ढियॉन्ग क्षेत्र में ऐसी कई चट्टाने हैं जहां सैकड़ों छत्ते देखने को मिलते हैं। शहद निकालने के लिए सबसे पहले चट्टान के नीचे आग जलाई जाती है ताकि मधुमक्खियां छत्ते को छोड़ें और यह काम थोड़ा आसान हो सके।चट्टानों पर लगे छत्ते से निकलने वाला शहद आमतौर पर मिलने वाले शहद से अधिक शुद्ध होता है। यूनान प्रांत के ढियॉन्ग क्षेत्र में ऐसी कई चट्टाने हैं जहां सैकड़ों छत्ते देखने को मिलते हैं। शहद निकालने के लिए सबसे पहले चट्टान के नीचे आग जलाई जाती है ताकि मधुमक्खियां छत्ते को छोड़ें और यह काम थोड़ा आसान हो सके।
यहां से निकलने वाले एक किलो शहद की कीमत 3500 रुपए है। समूहों में शहद निकालने की प्रक्रियो को अंजाम दिया जाता है। तस्वीर में बीच में मी कियायुन दिखाई दे रहे हैं। जो चट्टान पर चढ़ने की तैयारी कर रहे हैं।यहां से निकलने वाले एक किलो शहद की कीमत 3500 रुपए है। समूहों में शहद निकालने की प्रक्रियो को अंजाम दिया जाता है। तस्वीर में बीच में मी कियायुन दिखाई दे रहे हैं। जो चट्टान पर चढ़ने की तैयारी कर रहे हैं।
मी कियायुन जैसे ही छत्ते के पास और शहद इकट्ठा करना शुरू करते हैं मधुमक्खियां उन्हें घेर लेती हैं। चट्टानों से शहद निकालने वाले इंसान को मांउटेनियरिंग का अनुभव होना जरूरी है। जिन्हें पर्वतारोहण का अनुभव नहीं है, उनकी जान का जोखिम बढ़ जाता है।मी कियायुन जैसे ही छत्ते के पास और शहद इकट्ठा करना शुरू करते हैं मधुमक्खियां उन्हें घेर लेती हैं। चट्टानों से शहद निकालने वाले इंसान को मांउटेनियरिंग का अनुभव होना जरूरी है। जिन्हें पर्वतारोहण का अनुभव नहीं है, उनकी जान का जोखिम बढ़ जाता है।
मी कियायुन एक थैले में छत्ते के हिस्सों को इकट्ठा करते हैं। इस दौरान लगाकार नीचे से  धुआं आता रहता है जिसके कारण मधुमक्खियां छितर जाती हैं।मी कियायुन एक थैले में छत्ते के हिस्सों को इकट्ठा करते हैं। इस दौरान लगाकार नीचे से धुआं आता रहता है जिसके कारण मधुमक्खियां छितर जाती हैं।
तस्वीर में सबसे ऊपर डॉन्ग हैफा और नीचे मी कियायुन दिखाई दे रहे हैं। ये समूह कभी भी इस क्षेत्र के सभी छत्तों से शहद नहीं निकालता है। कुछ छत्ते छोड़ दिए जाते हैं ताकि मधुमक्खियां यहां से निकलकर दूसरे छत्ते भी विकसित कर सकें। इस एक कारण ग्लोबल वार्मिंग के कारण मधुमक्खियों की संख्या घटना भी है।तस्वीर में सबसे ऊपर डॉन्ग हैफा और नीचे मी कियायुन दिखाई दे रहे हैं। ये समूह कभी भी इस क्षेत्र के सभी छत्तों से शहद नहीं निकालता है। कुछ छत्ते छोड़ दिए जाते हैं ताकि मधुमक्खियां यहां से निकलकर दूसरे छत्ते भी विकसित कर सकें। इस एक कारण ग्लोबल वार्मिंग के कारण मधुमक्खियों की संख्या घटना भी है।
छत्ते में शहद के साथ मोम काफी मात्रा में निकलता है। इसके सिर्फ एक हिस्से में कई किलो मोम निकाला जा सकता है। जिसे शिकारी अपने साथ ले जाते हैं।छत्ते में शहद के साथ मोम काफी मात्रा में निकलता है। इसके सिर्फ एक हिस्से में कई किलो मोम निकाला जा सकता है। जिसे शिकारी अपने साथ ले जाते हैं।
शहद निकालना चीन के यूनान प्रांत और म्यांमार की संस्कृति से जुड़ा है। शहद का व्यापार यहां की अर्थव्यवस्था का अहम हिस्सा भी है। जिसके लिए यहां लोग समूह में काम करते हैं।शहद निकालना चीन के यूनान प्रांत और म्यांमार की संस्कृति से जुड़ा है। शहद का व्यापार यहां की अर्थव्यवस्था का अहम हिस्सा भी है। जिसके लिए यहां लोग समूह में काम करते हैं।
COMMENT