यूटिलिटी

स्पेन / दुनिया की सबसे खतरनाक बुल रेस शुरू

X
स्पेन के पैंपलोना में हर साल होने वाला सैन फर्मिन फेस्टिवल शनिवार से शुरू हो गया है। 8 दिन तक चलने वाले पारंपरिक फेस्टिवल की शुरुआत आतिशबाजी के साथ हुई। जिसका प्रमुख आकर्षण बुल रेस है।स्पेन के पैंपलोना में हर साल होने वाला सैन फर्मिन फेस्टिवल शनिवार से शुरू हो गया है। 8 दिन तक चलने वाले पारंपरिक फेस्टिवल की शुरुआत आतिशबाजी के साथ हुई। जिसका प्रमुख आकर्षण बुल रेस है।
फेस्टिवल के दौरान लोगों के पीछे सांडों को दौड़ाया जाता है। इस कारण इसे बुल रेस भी कहा जाता है। स्थानीय लोग बताते हैं कि बुल रेस में लोगों की हड्डियां टूटती हैं, खून बहता है। लोग गंभीर हालत में जख्मी होतेे हैं। फिरभी लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखने को मिलती है।फेस्टिवल के दौरान लोगों के पीछे सांडों को दौड़ाया जाता है। इस कारण इसे बुल रेस भी कहा जाता है। स्थानीय लोग बताते हैं कि बुल रेस में लोगों की हड्डियां टूटती हैं, खून बहता है। लोग गंभीर हालत में जख्मी होतेे हैं। फिरभी लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखने को मिलती है।
यह उत्सव दुनियाभर में प्रसिद्ध है। आयोजकों के मुताबिक, इसकी शुरुआत संत अर्नेस्ट हेमिंग्वे ने की थी। इस साल सैन फर्मिन फेस्टिवल की 100वीं वर्षगांठ है।यह उत्सव दुनियाभर में प्रसिद्ध है। आयोजकों के मुताबिक, इसकी शुरुआत संत अर्नेस्ट हेमिंग्वे ने की थी। इस साल सैन फर्मिन फेस्टिवल की 100वीं वर्षगांठ है।
इस साल दुनियाभर से 10 लाख लोगों के पहुंचने की उम्मीद है। आयोजकों के अनुसार, इसमें शामिल होने से पहले युवा डांस और मस्ती करते हैं। फिर एक जगह जमा होकर ढेर सारे सांडों को गुस्सा दिलाते हैं।इस साल दुनियाभर से 10 लाख लोगों के पहुंचने की उम्मीद है। आयोजकों के अनुसार, इसमें शामिल होने से पहले युवा डांस और मस्ती करते हैं। फिर एक जगह जमा होकर ढेर सारे सांडों को गुस्सा दिलाते हैं।
उत्सव की शुरुआज पैंपलोना स्क्वेयर से होती है। 850 मीटर लंबी और संकरी सड़कों पर सैकड़ों लोग सांडों के सामने प्रदर्शन करते हैं। जिसमें हर साल हजारों लोग जख्मी होते हैं।उत्सव की शुरुआज पैंपलोना स्क्वेयर से होती है। 850 मीटर लंबी और संकरी सड़कों पर सैकड़ों लोग सांडों के सामने प्रदर्शन करते हैं। जिसमें हर साल हजारों लोग जख्मी होते हैं।
फेस्टिवल के पहले दिन सांडों के हमले से 5 पर्यटक घायल हुए। यह आंकड़ा पिछले पांच साल में सबसे कम है।  रेस में हर साल 150 से ज्यादा लोग घायल होते हैं। इनमें से करीब 15 लोगों की मौत हो जाती है।फेस्टिवल के पहले दिन सांडों के हमले से 5 पर्यटक घायल हुए। यह आंकड़ा पिछले पांच साल में सबसे कम है। रेस में हर साल 150 से ज्यादा लोग घायल होते हैं। इनमें से करीब 15 लोगों की मौत हो जाती है।
यह पहली बार है जब ओपनिंग सेरेमनी में सिर्फ पांच पर्यटक घायल हुए हैं। पिछले पांच साल में 2016 में सबसे ज्यादा 43 लोग घायल हुए थे।यह पहली बार है जब ओपनिंग सेरेमनी में सिर्फ पांच पर्यटक घायल हुए हैं। पिछले पांच साल में 2016 में सबसे ज्यादा 43 लोग घायल हुए थे।
COMMENT