--Advertisement--

निस्वार्थ भावना से करनी चाहिए सेवा

सेवा भारती की एक बैठक स्थानीय गोबिंद नगरी स्थित प्रसन्नी देवी मंदिर में नवनियुक्त प्रधान फकीर चंद गोयल की...

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2018, 02:05 AM IST
निस्वार्थ भावना से करनी चाहिए सेवा
सेवा भारती की एक बैठक स्थानीय गोबिंद नगरी स्थित प्रसन्नी देवी मंदिर में नवनियुक्त प्रधान फकीर चंद गोयल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसकी शुरूआत भारत माता के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित व संगठन की प्रार्थना करके की गई। इस मौके पर फकीर चंद गोयल ने कहा कि सेवा प्रेम का एक उत्कृष्ट फल है जो निस्वार्थ भावना से की जानी चाहिए तथा सामाजिक समरस्ता के लिए जीवन मूल्यों को आचरणीय बनाना होगा। समाज में सेवा के लिए हमारा व्यवहार मित्र बनाने वाला होगा तो ही समता का भाव विकसित होगा। सेवा भारती 14 फरवरी को बाल संस्कार केन्द्रों पर मातृ-पितृ पूजन दिवस, नवसम्वत, 18 मार्च को श्री सुंदरकांड पाठ का भव्य आयोजन करने तथा रक्तदान शिविर लगा समाज में सेवा का भाव जागृत करेंगे। उन्होंनें कार्यकारिणी का विस्तार करते हुए राधेश्याम शर्मा, सतपाल गिल्होत्रा, विजय धींगड़ा, खजान चंद बजाज को संरक्षक, श्याम सुंदर सचेदवा को महासचिव, नरेश बाघला को कोषाध्यक्ष, कुलभूषण हितैषी को प्रचार मंत्री की जिम्मेवारी सौंपी। सेवाभारती के सभी सदस्यों ने निष्ठा एवं सेवा भाव का संकल्प लिया। बैठक के दौरान एडवोकेट अजय गिल्होत्रा, सतीश ग्रोवर, बैद्यनाथ, अजय धींगड़ा, सुरेन्द्र सहगल, वरिन्द्र गोयल, मनोज गोयल, पवन जैन, अशोक विज, दुर्गादास कटारिया, डा. परमानंद धूडिय़ा, जगदीश मुंजाल, रविन्द्र गुप्ता, राकेश धूडिय़ा, महेन्द्र बजाज, स्वरूप चंद टांक, जगन्नाथ नरूला, अजय गुगलानी व राज कुमार मुंजाल उपस्थित थे। (रजत शर्मा)

अबोहर में आयोजित सेवा भारती की बैठक में लोग।

X
निस्वार्थ भावना से करनी चाहिए सेवा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..