अबोहर

  • Hindi News
  • Punjab News
  • Abohar
  • लेबर काटरेज के टेंडरों में अनियमितता का आरोप, शिकायतकर्ता पर ही अगवा का पर्चा
--Advertisement--

लेबर काटरेज के टेंडरों में अनियमितता का आरोप, शिकायतकर्ता पर ही अगवा का पर्चा

गिद्दड़बाहा ट्रक यूनियन के प्रधान रहे लखवीर सिंह ने खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता विभाग के प्रमुख सचिव को...

Dainik Bhaskar

Apr 05, 2018, 02:05 AM IST
लेबर काटरेज के टेंडरों में अनियमितता का आरोप, शिकायतकर्ता पर ही अगवा का पर्चा
गिद्दड़बाहा ट्रक यूनियन के प्रधान रहे लखवीर सिंह ने खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता विभाग के प्रमुख सचिव को पत्र लिखकर आरोप लगाए हैं कि रबी सीजन 2018-19 के गिद्दड़बाहा केन्द्र के लेबर काटरेज टेंडरों में सरकारी गाइडलाइंस का उल्लंघन करके सरकार को वित्तीय घाटा पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कि गिद्दड़बाहा के लिए 2 लोगों ने टेंडर डाले जिनमें से एक का टेंडर टेक्निकल बिड में कमेटी पर दबाव डालकर रद्द कर दिया गया।

इस तरह राजसी लोगों की शह प्राप्त एक ही फर्म टेंडर के लिए रह गई। लखवीर ने बताया कि मुक्तसर में स्थित पीजी गोदामों का टेंडर 16.5 प्रतिशत घाटे से और मलोट के पीजी गोदामों का टेंडर 13 प्रतिशत घाटे से मंजूर हुआ। गिद्दड़बाहा की एक फर्म की ओर से पीजी गोदामों का टेंडर एक 1.19 प्रतिशत बढ़ोतरी से 28 मार्च को खुला, परंतु उक्त फर्म द्वारा इसे टेक्नीकल गलती बताया गया और टेंडर कमेटी पर सियासी दबाव डालकर इसे नामंजूर कर दिया गया। पंजाब सरकार की हिदायतों में यह स्पष्ट है कि अगर कोई फर्म ऐसा करती है तो उसकी खरीद एजेंसियों के पास पड़ी रकम जब्त करके उसे ब्लैक लिस्ट किया जाना चाहिए, परंतु ऐसा कुछ भी नहीं किया गया।

3 अप्रैल को मुक्तसर सिटी में पर्चा

प्रमुख सचिव को 31 मार्च को यह पत्र लिखने वाले लखवीर पर 3 अप्रैल को मुक्तसर सिटी में अगवा संबंधी मामला दर्ज कर लिया जाता है। गिद्दड़बाहा वासी जगतार सिंह ने पुलिस को दिए बयानों में बताया कि 25 अक्टूबर 2015 को लखवीर व कुछ अन्य व्यक्तियों ने उसकी मारपीट की थी, जिस संबंधी थाना गिद्दड़बाहा में 307, 325, 295 ए, 336, 148, 149 आईपीसी के तहत मामला दर्ज है और इस संबंध अदालत में केस चल रहा है। जगतार के अनुसार बुधवार को जब वह मुक्तसर दवाई लेने के लिए आया तो लखवीर सिंह का भाई सुक्खा सिंह गिद्दड़बाहा बस स्टैंड पर मौजूद था और उसने मुझे मुक्तसर वाली बस में आते देखा। जगतार के अनुसार जब वह बस स्टैंड से डॉक्टर संधू के अस्पताल जाने के लिए अबोहर रोड पर पैदल जा रहा था तो पीछे से एक एटीओ कार आई जिससे लखवीर सिंह व अन्य व्यक्ति उतरे, जिनमें से 2 के हाथ में पिस्तौल था और 1 के हाथ में बेसबॉल। लखवीर ने मेरे सिर पर पिस्तौल लगाकर कहा कि मेरे खिलाफ गवाही देगा। आज तुझे नहर में फेंक देंगे और मुझे कार में डाल लिया और कार को भगा लिया। जब आसपास के लोगों ने शोर मचाया तो 2 नौजवानों ने इनके पीछे कार लगा ली तो लखवीर सिंह डरता हुआ मुझे अबोहर रोड बाईपास पर धक्का देकर उतार गया, जहां से 2 नौजवान प्रभजोत सिंह व हरमीत सिंह मुझे ले आए और बस स्टैंड के पास छोड़ गए। पुलिस ने जगतार के बयानों पर लखवीर सिंह उर्फ लक्की किंगरा व 2 अज्ञात व्यक्तियों पर धारा 364, 34 आईपीसी व आर्म्स एक्ट 25, 54, 59 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। (कुलदीप रिणी)

सियासी रंजिश में हुआ मामला दर्ज : लक्खी किंगरा

लखवीर सिंह लक्खी किंगरा ने बताया कि गिद्दड़बाहा के लेबर व काटरेज के ठेके कांग्रेसी विधायक अमरिंदर सिंह राजा वडिंग सियासी दबाव से अपनी चहेती एक फर्म को दिला रहा है, जिस संबंधी उसने पत्र मुख सचिव को लिखा, जिस उपरांत उस पर यह मामला दर्ज कर दिया गया। लक्की ने कहा कि पुलिस मामले की बारीकी से जांच कर, उस रोड की सीसीटीवी फुटेज, सभी की फोन लोकेशन निकाले जाए ताकि सच सामने आ सके। लक्की ने आरोप लगाए कि जिसके बयानों पर पर्चा दर्ज किया गया वह जगतार सिंह कांग्रेसी वर्कर है और जिन 2 नौजवानों की पर्चे में बात की जा रही है वह उसे उठाकर लेकर आए जिन्हें पर्चे में गवाह बनाने की कोशिश की गई है, उन दोनों में से प्रभजोत सिंह यूथ कांग्रेस हलका मुक्तसर का प्रधान है और हरमीत सिंह यूथ कांग्रेस का नेता है जो हमेशा राजा वडिंग के साथ होता है। लक्खी ने कहा टेंडर में अनियमितताओं को लेकर वह वो हाईकोर्ट जाएंगे।

कोई सियासी दबाव नहीं : डीएफएससी

डीएफएससी दीवान चंद ने कहा कि मुक्तसर जिले में लेबर और काटरेज के ठेकों के लिए 29 क्लस्टर बनाए गए हैं, जिनमें से 27 क्लस्टर का टेंडर हो गया है। मलोट के 2 क्लस्टर 5 और 10 नंबर को अभी होल्ड रखा गया है। जिले में पांच पीजी गोदामों में लेबर और काटरेज के टेंडर भी हो चुके हैं। गिद्दड़बाहा के टेंडरों संबंधी उन्होंने कहा कि जिस फर्म संबंधी लखवीर सिंह द्वारा आरोप लगाए जा रहे हैं उस फर्म ने खुद अपनी टेक्नीकल गलती को टेंडर कमेटी के सामने माना है, जहां तक ब्लैक लिस्ट करने की बात है तो हमने पूरा मामला उच्चाधिकारियों के ध्यान में ला दिया है। अगर उच्चाधिकारियों द्वारा सिक्योरिटी जब्त करने या ब्लैक लिस्ट करने की कोई भी हिदायत होगी तो उस फर्म के साथ वैसा ही किया जाएगा। टेंडरों का काम पूरी पारदर्शिता से हुआ है।

X
लेबर काटरेज के टेंडरों में अनियमितता का आरोप, शिकायतकर्ता पर ही अगवा का पर्चा
Click to listen..