Hindi News »Punjab »Abohar» पेट्रोल पंप लूट से महीना पहले बना था प्लान, पकड़ में नहीं आने के लिए श्रीगंगानगर से चुराया था बाइक

पेट्रोल पंप लूट से महीना पहले बना था प्लान, पकड़ में नहीं आने के लिए श्रीगंगानगर से चुराया था बाइक

पिछले माह की 17 तारीख को सादुलशहर के तीन युवकों विक्रम उर्फ विक्की, नवनीत गर्ग व प्रवीण कुमार ने दुतारांवाली के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 05, 2018, 02:05 AM IST

पिछले माह की 17 तारीख को सादुलशहर के तीन युवकों विक्रम उर्फ विक्की, नवनीत गर्ग व प्रवीण कुमार ने दुतारांवाली के मलकीत सिंह उर्फ काका को साथ लेकर जो पेट्रोल पंप लूटा था, उसकी साजिश उन्होंने लगभग एक महीना पहले बना ली थी। विक्रम उर्फ विक्की और नवनीत गर्ग ने 25 दिसंबर को श्रीगंगानगर में 16 एमएल निवासी मंजोत का मोटरसाइकिल चुराया था, ताकि पकड़ में न आएं और बाद में पेट्रोल पंप से पिस्तौल की नोक पर कथित तौर पर लगभग 17 लाख रुपए मिलकर लूटे।

बाइक चुरा करने लगे ज्यादा कैश वाले दिन का इंतजार

श्रीगंगानगर कोतवाली थाना पुलिस ने विक्की और नवनीत को फाजिल्का से प्रॉडक्शन पर लेकर जब पूछताछ शुरू की तो हैरानीजनक तथ्य सामने आया। इन्होंने माना कि वारदात से पहले वे श्रीगंगानगर के रामलीला मैदान में गए और वहां से मंजोत का मोटरसाइकिल चुराया। फिर वे उस दिन की प्रतीक्षा करने लगे जब पेट्रोल पर महीने का सबसे अधिक कैश हो। उधर, मंजोत की शिकायत पर श्रीगंगानगर थाने में 10 जनवरी को इसके संबंध में मामला भी दर्ज है। मोटरसाइकिल चोरी की जांच कर रहे हवलदार महेश मीणा ने बताया कि राजस्थान पुलिस ने शनिवार को इनको दो दिन के रिमांड पर लिया है।

शुरू से ही मलकीत पर मेहरबान दिखी पंजाब पुलिस: वारदात के बाद पुलिस ने शाबाशी हासिल करने के लिए दावा किया था कि उन्होंने 72 घंटे में आरोपियों को पकड़कर वारदात का खुलासा कर लिया है, लेकिन दुतारांवाली के मलकीत को उसने अभी तक गिरफ्तार न कर मेहरबानी का सबूत पेश किया है। लगता है कि वह उस पर मेहरबान है। वह शुरू से उसका नाम छिपती आ रही है। जब राजस्थान पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की तो कई खुलासे होते चले गए। वहीं रविवार को जब बहावलवाला थाने के एसएचओ बच्चन सिंह से मलकीत के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि मलकीत के खिलाफ मामला दर्ज हो चुका है, लेकिन उसकी गिरफ्तारी के बाद ही अपराध में उसकी संलिप्तता के बारे में पता चल सकेगा। पुलिस के मुंह से पहली बार मलकीत का नाम सुना जा रहा है, वरना पहले तो वह यह कहकर ही टाल-मटोल कर रही थी कि उसके बारे में जांच चल रही है। जांच प्रभावित न हो, इसलिए उसका नाम अभी बताया नहीं जा सकता।

कर्मचारी ने गैंग बना पिस्तौल के बल पर लूटा था पंप

पेट्रोल पंप पर कार्यरत कर्मचारी प्रवीण कुमार ने लूट की योजना तैयार कर विक्रम उर्फ विक्की, नवनीत गर्ग और मलकीत सिंह उर्फ काका को साथ शामिल कर लिया। इसके बाद इन लोगों ने 17 जनवरी को गांव दोदा के पास डिफेंस रोड पर पेट्रोल पंप से कथित तौर पर लगभग 17 लाख रुपए की राशि लूट ली थी। इस दौरान इन्होंने फायर किया जिससे एक पंप कर्मचारी मुलायम घायल हो गया था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Abohar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×