अबोहर

--Advertisement--

सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद मिलेगा पानी

एक धमकी भरा पत्र डाक के माध्यम से 8 मार्च को जन स्वास्थ्य विभाग तक पहुंचा, जिसमें लिखा था वाटर वर्क्स की ओर से इस...

Dainik Bhaskar

Mar 15, 2018, 02:05 AM IST
सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद मिलेगा पानी
एक धमकी भरा पत्र डाक के माध्यम से 8 मार्च को जन स्वास्थ्य विभाग तक पहुंचा, जिसमें लिखा था वाटर वर्क्स की ओर से इस सप्ताह का तोहफा बाग वाली गली व अबोहर रोड निवासियों के लिए, पानी में जहरीले केमिकल डालकर इतना गंदा कर दिया है कि पीओ ते मरो बीमारियां नाल... नीवी जात वाटर वर्क्स अंदर गंद पाउंदी है...हुण ऊची ते अमीर जातां वालेया नूं बचा लई।

इस पत्र को देखकर विभाग के पैरों तले जमीन खिसक गई। अधिकारियों ने पहले शहर में पानी की सप्लाई बंद कर दी, परंतु पानी के नमूने की परख करने के लिए कोई विभाग तैयार नहीं। जब स्थानीय विभागों ने नमूने की परख करने से हाथ खड़े कर दिए तो आखिर जन स्वास्थ्य विभाग ने अपनी मोहाली स्थित प्रयोगशाला में नमूना भेजा। इसके साथ ही पुलिस, सीआईडी व अन्य अधिकारियों को कार्रवाई करने के लिए सूचना दी। इस तरह पूरे शहर में पानी की सप्लाई आज पांचवें दिन भी बंद है और नमूने का परिणाम आने तक बंद रहेगी। थाना सिटी के मुखी तेजिन्द्रपाल सिंह ने बताया कि वाटर वर्क्स की डिगियों में जहर डालने के मामले संबंधी कार्रवाई जारी है। आरोपी अज्ञात होने के कारण अभी तक पकड़े नहीं गए।

जन स्वास्थ्य विभाग को लिखित धमकियां देने वाला पुलिस पकड़ से दूर

पहले भी मिल चुकी हैं जहर मिलाने की धमकियां

पानी की कमी के कारण लोगों में हाहाकार मची हुई है। यह घटना पहली बार नहीं बल्कि इससे पहले भी कई बार हो चुकी है। अज्ञात बदमाश जन स्वास्थ्य विभाग के यहां कुछ समय पहले बदलकर कार्यकारी इंजीनियर अमरीक सिंह के नाम धमकी भरे पत्र लिखकर पानी में जहर मिलाने की धमकियां 9 अक्टूबर 2017 व उसके बाद भी कई बार दे चुका है, परंतु अभी तक पुलिस पता भी नहीं लगा सकी है। बताया जाता है कि हर धमकी भरे पत्र में यह कारण लिखा जाता है कि जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी नीची जात वालों को जलघर में घूमने से रोकते हैं। लोगों की मांग है कि धमकियां देने वालों को पकड़ा जाए व पानी की नियमित सप्लाई जारी रखी जाए। बता दें कि इसी जलघर कॉम्पलेक्स में डीसी, जिला एवं सेशन जज, एसएसपी व एक्सईएन की रिहायश भी है और तीन बड़े टैंक हैं।

धमकियों से बहुत परेशान हूं: एक्सईएन

कार्यकारी इंजीनियर राजेश कुमार ने बताया कि धमकी भरा पत्र लगातार मिलने से बहुत परेशान हूं। अब पत्र मिलते ही उन्होंने पानी की सप्लाई बंद करके विभाग की मोहाली स्थित प्रयोगशाला में नमूना भेजा दिया, जिसका जवाब आने के बाद ही पानी की सप्लाई चालू की जाएगी। इससे पूर्व भेजे नमूनों में जहर का कोई अंश नहीं पाया गया। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा पुलिस को कार्रवाई करने के लिए कई बार लिखा है, परंतु अभी तक कोई दोषी नहीं पकड़ा गया कि अब नया मामला सामने आ गया।

X
सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद मिलेगा पानी
Click to listen..