Hindi News »Punjab »Abohar» मुक्तसर में रजबाहे से मिला 5 माह का मानव भ्रूण

मुक्तसर में रजबाहे से मिला 5 माह का मानव भ्रूण

कोटकपूरा-जलालाबाद बाईपास के पास गुजरते रजबाहे के पास एक 4-5 माह का मानव भ्रूण मिला। एएसआई गुरतेज सिंह ने बताया कि यह...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 05, 2018, 02:05 AM IST

मुक्तसर में रजबाहे से मिला 5 माह का मानव भ्रूण
कोटकपूरा-जलालाबाद बाईपास के पास गुजरते रजबाहे के पास एक 4-5 माह का मानव भ्रूण मिला। एएसआई गुरतेज सिंह ने बताया कि यह भ्रूण पीछे से रजबाहे में तैरता आ रहा था। कालू की बाड़ी के पास नहा रहे बच्चों ने इसे निकालकर बाहर रख दिया और इसकी सूचना दी। जिस पर मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने भ्रूण को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल मुक्तसर में इसका पोस्टमार्टम करवा दिया है। पता चला है कि यह भ्रूण लड़के का है। उन्होंने बताया कि पड़ताल की जा रही है कि यह कहां से आया है और किसका है। थाना सिटी पुलिस ने अज्ञात महिला के खिलाफ धारा 318 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। उन्होंने बाबा शनिदेव सेवा सोसायटी को इसकी सूचना दी, जिस पर सोसायटी के सदस्यों ने पुलिस की उपस्थिति में इस भ्रूण को दफना दिया।

पहले भी मिल चुके हैं 6 भ्रूण : शहर में इससे पहले भी 6 भ्रूण मिल चुके हैं। इनमें एक गुरु गोबिंद सिंह पार्क में और दूसरा भ्रूण कोटली रोड में सूए में मिला था। इसके बाद शहर के गोनियाना रोड पर सूए से भी एक भ्रूण मिला था। इसी तरह अबोहर रोड पर पनसप कार्यालय के नजदीक कुछ समय पहले भ्रूण मिला था। इसी तरह गवर्नमेंट कॉलेज के पीछे रजबाहे में एक लड़की का भ्रूण मिला था। मुक्तसर की निहंगा वाली छावनी के पास एक लड़के का भ्रूण मिला था। जिला प्रशासन को इस मामले पर गंभीरता से संज्ञान लेना चाहिए, ताकि सामाजिक बुराई को रोका जा सके। जिले के सभी अल्ट्रासाउंड सेंटरों पर भी कड़ी निगरानी रखने की जरूरत है।

भ्रूण को अपने कब्जे में लेती पुलिस।

एक्सपर्ट व्यू : 10 साल से उम्र कैद तक हो सकती है

आईपीसी धारा 313 के तहत भ्रूण हत्या करने का जुर्म साबित होने पर दोषी व्यक्ति को 10 साल से उम्र कैद तक की सजा हो सकती है। यह एक्ट भ्रूण के माता पिता व लिंग की जांच करने वाले डॉक्टर पर लागू होता है।-एडवोकेट जसपाल औलख

समाज को करना होगा जागरूक : गुरमेज सिंह

समाज सेवी गुरमेज सिंह का कहना है कि भ्रूण हत्या समाज के लिए अभिशाप है। सरकार को ऐसे कार्य करने वालों को सख्त सजा देनी चाहिए। इसके साथ ही हमें समाज में इसके प्रति जागरूकता फैलानी चाहिए। भ्रूण हत्या में शामिल डॉक्टर को भी सख्त सजा मिलनी चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Abohar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×