--Advertisement--

दयालु पर ही दया करते हैं भगवान : दिव्यानंद जी

श्री मोहन जगदीश्वर आश्रम कनखल हरिद्वार के अनंत श्री विभूषित 1008 महामंडलेश्वर स्वामी दिव्यानंद गिरि जी महाराज ने...

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 03:10 AM IST
दयालु पर ही दया करते हैं भगवान : दिव्यानंद जी
श्री मोहन जगदीश्वर आश्रम कनखल हरिद्वार के अनंत श्री विभूषित 1008 महामंडलेश्वर स्वामी दिव्यानंद गिरि जी महाराज ने कहा कि जो खुद दयालु होता है, भगवान उसी पर दया करते हैं। जिस व्यक्ति का मन शुद्ध होता है उसे ही भगवान के दर्शन होते हैं। जब तक मनुष्य का मन सांसारिक विषय-विकारों व वासनाओं के प्रति आसक्त रहेगा तब तक व्यक्ति को सच्चे सुख की प्राप्ति नहीं हो सकती। स्वामी दिव्यानंद गिरि महाराज ने यह विचार मंगलवार को अबोहर रोड स्थित श्री मोहन जगदीश्वर दिव्य आश्रम में सत्संग कार्यक्रम के दौरान प्रवचनों की अमृतवर्षा करते हुए व्यक्त किए। सच्चे शिष्य की परिभाषा देते उन्होंने कहा कि सच्चा शिष्य वही है जो गुरु के कामों पर ध्यान नहीं देता, बल्कि वह तो सिर्फ गुरु की आज्ञा का शीश झुकाकर पालन करता है। सेवा की परिभाषा बताते हुए दिव्यानंद बोले कि सेवा में बहुत आनंद है। श्री हनुमान जी ने सेवा द्वारा ही प्रभु श्री राम चंद्र को प्राप्त किया। स्वामी जी ने कहा कि मन को प्रभु भक्ति में लगाओगे तो लोक व परलोक दोनों ही सुधर जाएंगे। (अमित अरोड़ा)

X
दयालु पर ही दया करते हैं भगवान : दिव्यानंद जी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..