जीएनडीएच के 2, मेडिकल कॉलेज का एक गेट पक्के तौर पर बंद, 4 के खुलने का समय भी तय

Amritsar News - गुरु नानक देव अस्पताल तथा सरकारी मेडिकल कॉलेज में सुरक्षा कर्मी लगाए जाने के बाद प्रबंधन ने इन दोनों संस्थानों के...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:25 AM IST
Amritsar News - 2 hours of gndh a gate of the medical college on a permanent basis
गुरु नानक देव अस्पताल तथा सरकारी मेडिकल कॉलेज में सुरक्षा कर्मी लगाए जाने के बाद प्रबंधन ने इन दोनों संस्थानों के सभी गेटों को बंद रखने के लिए समय सीमा तय कर दी है। प्रिंसिपल की तरफ से जारी दिशानिर्देश के मुताबिक तीन गेटों को पक्के तौर पर बंद रखा जाएगा। यही नहीं बल्कि कॉलेज में प्रवेश करने वाले को अपना पहचान पत्र भी दिखाना पड़ेगा। बाहरी लोगों को यहां की ग्राउंड में खेलने पर पाबंदी के साथ मुंह ढक कर आने पर भी मनाही कर दी गई है। कॉलेज प्रबंधन की तरफ से इस तरह का फरमान पहले ड्रेस कोड को लेकर जारी किया गया था और अब चोरी और बाहरी दखल रोकने के लिए यह दूसरा है।

अस्पताल तथा कॉलेज में पिछले काफी समय से चोरी, छीना-झपटी, बाहरी लोगों के दखल के अलावा छेड़छाड़ की भी घटनाएं हुईं और स्टूडेंट्स ने सुरक्षा की मांग उठाई थी। मामला इतना उछला कि अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट को पद से हटना पड़ा। खैर इसके बाद दोनों संस्थानाें में 65 सिक्योरिटी गार्ड नए लगा दिए गए। इसके बाद प्रबंधन ने सुरक्षा पहलुओं के मद्देनजर सात में से चार गेटों के खुलने का समय तय किया है, जबकि तीन को पक्के तौर पर बंद करने का।

ड्यूटी पर तैनात सिक्योरिटी स्टाफ करेगा रजिस्टर मेंटेन




गुरु नानक देव अस्पताल के गेट पूछताछ के बाद खुलेंगे


ये गेट रहेंगे पक्के तौर पर बंद : गेट नंबर पांच, जो मजीठा रोड की तरफ बी ब्लॉक हॉस्टल के साथ है, पक्के तौर पर बंद रहेगा। गेट नंबर सात, जो कि मजीठा रोड की तरफ एनाटमी ब्लाक की तरफ है को पक्के तौर पर बंद रहेगा। कॉलेज के ए ब्लाक हॉस्टल के साथ सर्कुलर रोड की तरफ वाला गेट नंबर सात भी पक्के तौर पर बंद रहेगा।

पांच जगह पर दीवारें टूटीं, आपराधिक तत्वों को होगी आसानी

प्रबंधन ने भले ही चोरी, छीना-झपटी और बाहरी दखल रोकने के लिए पहल की है लेकिन यह यहां पर तर्कसंगत नहीं दिख रहा है। चूंकि यह दोनों संस्थान सरकारी हैं और यहां पर हमेशा आम तथा इमरजेंसी मरीजों को लाया जाता है। लोग जिधर से सुविधा लगती है उधर से ही आ जाते हैं। इस आदेश के बाद मरीज बुरी तरह से प्रभावित होंगे। रही चोरी रोकने की बात तो गेट के अलावा इन संस्थानों में घुसने के लिए 5 जगहों पर दीवारें टूटी हैं और आपराधिक तत्व वहां से आएंगे। बाहरी दखल खास करके दवा की दुकानों के कारिंदों की बात करें तो वह खुद नहीं आते बल्कि कथित रूप से भीतर के डॉक्टरों की मिलीभगत से ही आते हैं।

मुंह ढंक कर आने की इजाजत नहीं : कॉलेज में एंट्री करने के लिए पहचान पत्र दिखाना होगा। सामान सप्लाई करने वालों और कूरियर वालों को नाम, पता, फोन नंबर, जिससे मिलना उसका नाम वहां लगाए गए रजिस्टर में दर्ज करना होगा और पहचान पत्र जमा करवाना होगा। मुंह ढंकने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

सिविल सर्जन कार्यालय से एसी चोरी, जीएनडीएच में पकड़े गए दो चोर

अमृतसर | गुरु नानक देव अस्पताल के बाद चोरों ने सिविल सर्जन अॉफिस को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। सोमवार की शाम चोरों ने जिला डेंटल हेल्थ अफसर डॉ. शरणजीत कौर सिद्धू के अॉफिस का एसी उड़ा दिया। इससे पहले भी कई बार इस कैंपस से चोरियां हो चुकी हैं। दूसरी तरफ गुरु नानक देव अस्पताल से दो चोरों को काबू किया गया है। डॉ. सिद्धू ने बताया कि दीवार कम ऊंची होने के कारण चोरों ने घटना को अंजाम दिया है। उन्होंने बताया कि इससे पहले पानी की टैंकी का बैंड पाइप भी कई बार चोरी हो चुका है। बताते चलें कि सिविल सर्जन अॉफिस से पहले भी चार एसी चोरी हुई थे। बावजूद इसके प्रबंधन ने कोई पुख्ता बंदोबस्त नहीं किया। बताते चलें कि इस अॉफिस की दीवारें नीची हैं जिस कारण अक्सर नशेड़ी रात को दीवार फांद कर आ जाते हैं और लोहे व अन्य वस्तुओं को उठा ले जाते हैं। खास बात तो यह है कि यहां पर सुरक्षा का भी कोई पुख्ता बंदोबस्त नहीं रहता और इसके अक्सर चोरी की घटनाएं होती रहती हैं। चोरी की घटनाओं की कड़ी के तहत मंगलवार गुरु नानक देव अस्पताल की बैक साइड में बन रहे कैंसर सेंटर से सरिया चोरी करते हुए एक व्यक्ति को काबू किया गया है। इसी तरह से अस्पताल कैंपस से ही एक मोबाइल चोर भी पकड़ा गया।

X
Amritsar News - 2 hours of gndh a gate of the medical college on a permanent basis
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना