एक साल में 7100 यूनिट खूनदान करने वाली शहर की 3 सोसायटियों को मिला राज्य स्तरीय सम्मान

Amritsar News - 7100 यूनिट खूनदान करके लोगों की जिंदगी बचाने वाली अमृतसर की तीन एनजीओ को पंजाब स्टेट ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल ने...

Nov 11, 2019, 07:30 AM IST
7100 यूनिट खूनदान करके लोगों की जिंदगी बचाने वाली अमृतसर की तीन एनजीओ को पंजाब स्टेट ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल ने राज्यस्तरीय सम्मान से नवाजा है। सम्मान पाने वाली नॉलेज विला इंटीग्रेटेड एजुकेशन एंड वेलफेयर ने एक साल में 2700, खालसा यूनिटी ने 2400 और गुरु रामदास डोनेशन यूनिटी ने 2000 यूनिट ब्लड इकट्‌ठा कर लोगों की जान बचाई है। बरनाला में हुए सम्मान समारोह के दौरान सेहत एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने महादान में अहम योगदान देने वाली समाजसेवी (एनजीओ) संस्थाओं को सम्मानित किया और उनके काम को सराहा।

पंजाब स्टेट ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल की ओर से राज्य की 13 सोसायटी को सेहत मंत्री ने बख्शा मान

कौंसिल हर साल एेसा आयोजन करती है, लेकिन इस बार 3 साल के अंतराल पर हुआ है। इस साल ब्लड डोनेट करने वाली सूबे की 13 एनजीओ को नामित किया गया था और उसमें से अमृतसर की तीन संस्थाएं रहीं। मंत्री ने यह सम्मान नॉलेज विला इंटीग्रेटेड एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसायटी के प्रधान बिक्रमजीत सिंह, खालसा ब्लड डोनेशन यूनिटी के प्रधान अमनदीप सिंह और गुरु रामदास ब्लड सेवा सोसायटी के प्रधान सुखविंदर सिंह को सौंपा और कहा कि लोगों को इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए, क्योंकि किसी के खून की एक बूंद किसी की जिंदगी बचा सकती है।

सम्मान समारोह में नॉलेज विला इंटीग्रेटेड एजुकेशन एंड वैलफेयर सोसायटी के प्रधान बिक्रमजीत सिंह को सम्मानित करते सेहत मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू।

10 साल में 20 हजार यूनिट खून डोनेट करवा चुकी नॉलेज विला सोसायटी

बिक्रमजीत िंसंह ने बताया कि उनकी संस्था साल 2010 से खूनदान का सिलसिला जारी रखे हुए हैं। अब तक उनकी टीम के लोगों ने 20,000 यूनिट खून डोनेट किया है। उनके मुताबिक उनकी टीम सरकारी अस्पतालों खास करके गुरु नानक देव अस्पताल और जलियांवाला बाग मैमोरियल सिविल अस्पताल को ही यह सेवा दी गई है। उन्होंने बताया कि चूंकि यहां पर गरीब आदमी इलाज को आता है इसलिए उनकी टीम का लक्ष्य उसे ही सेवा मुहैया करवाना है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना