पंजाब / दमदमी टकसाल व तरना दल के बीच गायों को लेकर चली गोलियां और ईंट-पत्थर, 7 लोग गंभीर घायल

7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
X
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas
7 persons injured in firing after a dispute between damdami taksal and nihangas

  • अमृतसर के कस्बा मेहता में शुक्रवार शाम हजारों गाय लेकर गुरुद्वारे के पास पहुंच गए तरना दल के कई लोग
  • खेतों में घुसने का पता चला तो दमदमी टकसाल के सदस्य हथियार लेकर पहुंचे मौके पर, दानों गुट भिड़े

दैनिक भास्कर

Aug 03, 2019, 11:04 AM IST

अमृतसर. अमृतसर जिले के मेहता कस्बा में दमदमी टकसाल और तरना दल के समर्थकों के बीच गायों को लेकर खूनी संघर्ष की घटना सामने आई है। हालांकि यह विवाद शुक्रवार शाम का बताया जा रहा है, जिसमें दोनों पक्षों के लगभग पांच सौ से ज्यादा समर्थक आमने-सामने हो गए। दोनों तरफ से जमकर गोलियां चलीं। एक-दूसरे पर ईंट-पत्थर बरसाए गए। इस दौरान सात लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घटनास्थल पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। दूसरे दिन भी तनावपूर्ण माहौल के चलते कस्बे में ऐसा लग रहा है, मानो कर्फ्यू लग गया हो।

 

मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि दमदमी टकसाल के मुखी हरनाम सिंह के सदस्यों का तरना दल के मुखी गजन सिंह के सदस्यों से पुराना विवाद चल रहा है। शुक्रवार शाम तरना दल के कई सदस्य हजारों गाय लेकर गुरुद्वारे के पास पहुंच गए। बाद में ये गायें दमदमी टकसाल के सदस्यों के खेतों में पहुंच गई और फसल को बर्बाद कर दिया। जब दमदमी टकसाल के सदस्यों को इसके बारे में पता चला तो वह भी दर्जन भर हथियारबंद सदस्यों के साथ खेतों में पहुंचे। यहां दोनों गुटों के सदस्य आमने-सामने हो गए।

 

दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं। एक-दूसरे पर जमकर ईंट-पत्थर भी बरसाए। इस खूनी संघर्ष में दोनों पक्षों के दर्जनभर लोग जख्मी हो गए। गोलियों के छर्रे लगने से अमृतपाल सिंह सहित सात लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को गुरु नानक देव अस्पताल में दाखिल करवाया है। घायल जगतार सिंह, मनप्रीत सिंह, पंथजीत सिंह, नंबरदार सिंह, सुखविंदर सिंह को निजी अस्पतालों में दाखिल करवाया गया है।

 

मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थिति पर नियंत्रण करने का प्रयास किया लेकिन देर रात रात तक दोनों पक्षों के बीच स्थिति तनावपूर्ण रही। दोनों पक्षों के करीब पांच सौ से ज्यादा हथियारबंद सदस्य घटनास्थल पर डटे रहे। उधर, मेहता, कंबो, मजीठा, कत्थू नंगल और अन्य थानों से भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। कस्बे में कर्फ्यू जैसे हालात बने हैं। पुलिस के आला अधिकारियों ने घटनास्थल पर अतिरिक्त बल भेजने के आदेश भी जारी कर दिए हैं।

 

इस बारे में एसपी हरपाल सिंह ने बताया कि दोनों गुटों का गायों को लेकर विवाद हुआ है। फिलहाल गायों को खेतों और रास्ते से हटवा दिया गया है। स्थिति नियंत्रण में है और जांच जारी है।

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना