92 अध्यापकों ने सम्मान लिया नहीं, लेने वालों के लेटर पर सचिव के साइन नहीं

Amritsar News - शिक्षा विभाग ने जंडियाला गुरु में सेल्फ मेड स्मार्ट स्कूल बनाने वाले प्रिंसिपल, अध्यापकों और 100 फीसदी परिणाम देने...

Sep 14, 2019, 08:31 AM IST
Manawala News - 92 teachers did not take honors no sign of secretary on takers letter
शिक्षा विभाग ने जंडियाला गुरु में सेल्फ मेड स्मार्ट स्कूल बनाने वाले प्रिंसिपल, अध्यापकों और 100 फीसदी परिणाम देने वाले 2781 अध्यापकों को सम्मानित किया गया। इस दाैरान शिक्षामंत्री विजय इंद्र सिंगला मुख्यातिथि के रूप में पहुंचे। लेकिन इस दौरान 92 के करीब अध्यापक ऐसे थे, जिन्होंने सम्मान लेने से ही मना कर दिया। वहीं मंत्री सिंगला ने बताया कि जिले में 93 सेल्फ मेड स्मार्ट स्कूल तैयार हो चुके हैं और 112 स्कूलों में काम चल रहा है।

सिंगला ने अपने भाषण में स्पष्ट किया कि इस साल परिणाम में काफी सुधार देखने को मिला है। जिन अध्यापकों ने मेहनत कर, छुट्टी के दिन भी स्टूडेंट्स को एक्स्ट्रा पढ़ाकर 100 प्रतिशत परिणाम हासिल किया है, उन्हें इस दौरान खास सम्मानित किया जा रहा है। आने वाले दिनों में सरकारी स्कूलों में काफी सुधार देखने को मिलेगा। पंजाब में लगभग 19 हजार स्कूलों को स्मार्ट बनाने के लिए कोशिशें की जा रही हैं। प्राइवेट स्कूलों एक ही दुकान से किताबें खरीदने, वर्दी खरीदने आदि के लिए स्टूडेंट्स व अभिभावकों पर जोर नहीं डाल सकते। ऐसा हुआ तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं मौके पर मौजूद एजुकेशन सेक्रेटरी किशन कुमार ने जानकारी दी कि अध्यापकों की मेहनत के कारण ही पंजाब में शिक्षा का ग्राफ बेहतर हुआ है। इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी सलविंदर सिंह समरा, जिला शिक्षा अधिकारी एलिमेंटरी जुगराज सिंह आिद मौजूद थे।

सम्मानित अध्यापकों के साथ शिक्षामंत्री विजय इंद्र सिंगला।

एप्रिसिएशन लेटर पर सचिव के साइन नहीं।

अध्यापकों को डंडे खाते देखा, सम्मान नहीं लेंगे

इस दौरान कई अध्यापक ऐसे थे, जिन्होंने सम्मान लेने से मना कर दिया सम्मान ना प्राप्त करने वाली कंवलजीत कौर छज्जलवड्‌डी ने बताया कि उन्होंने बठिंडा में अध्यापकों को डंडे खाते हुए देखा है। एक परिवार जिसमें 45 हजार रुपए जा रहे हैं, उन्हें तीन साल के लिए 15 हजार रुपए लेने के लिए बाधित किया गया। ऐसे में उनका दिल नहीं करता कि वह यह सम्मान प्राप्त करें। शिक्षा विभाग के दिखावा बढ़ रहा है। कोई भी काम करो, उससे पहले वाट्स एप्प या मेल करो। अगर स्टूडेंट्स को एक्सट्रा पढ़ा रहे हैं तो अपनी फोटो भेजा। यह दिखावा ही है। वह कई सालों से स्टूडेंट्स को एक्सट्रा क्लासिस पढ़ा रही हैं, तभी गणित की अध्यापिका होते हुए भी उनका परिणाम 100 प्रतिशत आया। पिछले साल जहां परिणाम 53 प्रतिशत के करीब रहा था, वहीं उनका परिणाम 80 प्रतिशत था। ऐसे में अध्यापकों को प्रशंसा पत्र देने से बेहतर है, उन्हें सम्मान दिया जाए।

अध्यापिका कंवलजीत कौर छज्जलवड्‌डी।

बांटे गए सम्मान पत्र पर नहीं थे सचिव के साइन

इस कार्यक्रम में जो अध्यापकों को सम्मान सर्टिफिकेट बांटे गए उस पर शिक्षा विभाग के सचिव के दस्तखत नहीं थे। जब इसके बारे में शिक्षा विभाग के सचिव कृष्ण कुमार से बात की तो उन्होंने ने हंसी हंसी में इसके जवाब को टाल दिया ।

Manawala News - 92 teachers did not take honors no sign of secretary on takers letter
Manawala News - 92 teachers did not take honors no sign of secretary on takers letter
X
Manawala News - 92 teachers did not take honors no sign of secretary on takers letter
Manawala News - 92 teachers did not take honors no sign of secretary on takers letter
Manawala News - 92 teachers did not take honors no sign of secretary on takers letter
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना