--Advertisement--

24 किलो की बच्ची का वजन घटाने विदेश से आई दवा, शरीर है पत्थर जैसा कड़क

सामान्य बच्चों से चार गुना ज्यादा भूख लगती है और खाना नहीं मिलने पर वो रोने लगती है।

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 04:57 AM IST
चाहत का वज़न किसी 4 साल के बच्चे के बराबर है। चाहत का वज़न किसी 4 साल के बच्चे के बराबर है।

अमृतसर. मोटापे की बीमारी से ग्रस्त मासूम चाहत 23 जनवरी को डेढ़ साल की हो जाएगी। उसका वजन भी 24 किलोग्राम के आसपास हो गया है। वजन बढ़ने से रोकने के लिए अभी उसे रोज आधा स्लिमिंग कैप्सूल दिया जा रहा है। वजन की रफ्तार तो रुक चुकी है, लेकिन अभी तक उसका उचित इलाज शुरू नहीं हो पाया है। पीजीआई ने चाहत के इलाज के लिए जापान से दवा मंगवाई है, जो जल्द ही पहुंचेगी। ये कहा डॉक्टर्स ने...

- चाहत की मां रेणु ने बताया कि वह अगस्त से दिसंबर तक तीन बार चाहत को चंडीगढ़ लेकर जा चुके हैं।
- तीनों बार उसके टेस्ट हुए जिसमें स्पष्ट हुआ कि चाहत को हार्मोनल प्रोब्लम है।
- हार्मोनल इम्बैलेंस होने के कारण चाहत का वजन एकदम से बढ़ना शुरू हो गया था।
- डॉक्टर्स ने बताया है कि चाहत की दवा जापान में उपलब्ध है। इससे हार्मोनल इम्बैलेंस को ठीक किया जाता है। जैसे ही चाहत के हार्मोन इम्बैलेंस ठीक होने लगेंगे, वजन खुद ही कम होना शुरू हो जाएगा।
- वहीं चाहत का इलाज कर रहे एक डॉक्टर ने भी फोन पर इसकी पुष्टि की। चाहत के पिता सूरज अभी जंडियाला गुरु अपने ससुराल में कुछ दिनों से रह रहे हैं। अमृतसर में काम ना होने के कारण वह जंडियाला शिफ्ट हो गए।

4 गुना भूख लगती है चाहत को
- ये बच्ची इतना खाना खाती है, जितना की उनकी पूरी फैमिली एक दिन में खाती है।
- बच्ची की भूख के कारण इससे उसके परिवार वाले भी परेशान हैं।
- इस उम्र में बच्चे को जितनी भूख लगती है, उससे चार गुना भूख चाहत को लगती है।
- यदि उसे खाना नहीं मिलता तो वो रोने और चिल्लाने लगती है।

डॉक्टर भी हैरान हैं बच्ची को देखकर
- बच्ची के शरीर की स्किन कड़क हो जाने के कारण उसका शरीर पत्थर जैसा कड़क हो गया है।
- इस बच्ची को जब डॉक्टर ने देखा तो वो भी उसकी बीमारी के बारे में नहीं बता सके।
- जन्म के समय बच्ची सामान्य थी, लेकिन कुछ समय बाद उसका वजन अचानक बढ़ता गया ।

आगे की स्लाइड्स में देखें Photos...

जब चाहत पैदा हुई थी, तो वो पूरी तरह से स्वस्थ थी। जब चाहत पैदा हुई थी, तो वो पूरी तरह से स्वस्थ थी।
4 महीने की होने के बाद उसका वेट अचानक बढ़ गया। 4 महीने की होने के बाद उसका वेट अचानक बढ़ गया।
परिवार के पास इतने पैसे नहीं है कि सही इलाज करा सके। परिवार के पास इतने पैसे नहीं है कि सही इलाज करा सके।
चाहत का चेकअप करने के बाद उसकी बीमारी का पता लगेगा। चाहत का चेकअप करने के बाद उसकी बीमारी का पता लगेगा।
लड़की को जब डॉक्टर ने देखा तो भी उसकी बीमारी के बारे में नहीं बता सके। लड़की को जब डॉक्टर ने देखा तो भी उसकी बीमारी के बारे में नहीं बता सके।
बच्ची की भूख के कारण इससे उसके परिवार वाले भी परेशान हैं। बच्ची की भूख के कारण इससे उसके परिवार वाले भी परेशान हैं।
ये बच्ची इतना खाना खाती है, जितना की उनकी पूरी फैमिली एक दिन में खाती है। ये बच्ची इतना खाना खाती है, जितना की उनकी पूरी फैमिली एक दिन में खाती है।