--Advertisement--

122 साल की पत्नी बोली थी- मैं उनके बिना नहीं जी सकती, फिर ऐसे उनकी भी हुई मौत

कुछ दिन पहले मनाई थी शादी की 100 वीं सालगिरह, अब दोनों की हो गई मौत।

Danik Bhaskar | Mar 07, 2018, 10:38 PM IST

बठिंडा. गांव के एक व्यक्ति की उम्र 120 साल थी और उनकी पत्नी की उम्र 122 साल थी। बता दे कि अपनी शादी की 100 वीं साल गिरह मनाने के कुछ दिन बाद ही पति भगवान सिंह का निधन हो गया था। जिस पर उनकी 122 साल की पत्नी ने कहा था कि वे अब अपने पति के बिना नहीं जी पाएंगी। अब आज उनकी बात सही हो गई और पति की मौत के 2 दिन बाद ही उनकी भी मौत हो गई है। बड़ी बेटी है 90 साल की...

- करीब 15 दिन पहले ही उन्होंने शादी की 100वीं सालगिरह मनाई थी।
- धन कौर के बेटे नत्था सिंह ने बताया कि कुछ हफ्ते पहले ही उनके पिता ने कहा था कि अब वह थोड़े दिन के ही मेहमान हैं।
- उनके निधन के बाद से धन कौर भी सदमे में थीं। बुजुर्ग दंपति की सबसे बड़ी बेटी गुरनाम कौर 90 साल की हैं।
- जबकि सबसे छोटे बेटे की उम्र 50 साल से ज्यादा है। उनके अंतिम संस्कार में बड़ी तादाद में गांव के लोग मौजूद थे।

100 साल साथ निभाने वाला साथी नहीं रहा

- 122 साल की पत्नी धन कौर को पहले पति के निधन की सूचना नहीं दी गई थी।
- जब घर में लोगों की भीड़ बढ़ने लगी तो वह खुद ही समझ गईं कि 100 साल तक साथ निभाने वाला साथी अब नहीं रहा।
- रोते हुए इतना ही बोलीं, आपके बिन अब मैं भी जी नहीं सकती।

आधार कार्ड पर लिखी थी ये आयु

- आधार कार्ड पर उनकी जन्म तिथि 1 जनवरी 1900 थी, लेकिन उनके दावे को माने तो उनका जन्म 1898 में हुआ और उनकी पत्नी धन कौर का जन्म 1896 में हुआ था।
- आजादी पूर्व ग्रामीण इलाकों में जन्म के चलते उनकी उम्र का कोई प्रमाण नहीं है लेकिन इनके बच्चों की उम्र देखकर और गांवों के बुजुर्गों की बातें सुन उनका दावा सही लगता है।
- भगवान सिंह व धन कौर की 5 बेटियां और एक बेटा है। सबसे बड़ी बेटी 90 साल की है जबकि सबसे छोटा बेटा 55 साल का है।
- जागरूकता की कमी के कारण वह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज नहीं करवा सके थे।