Hindi News »Punjab »Amritsar» 12th School Girl Tried To Suicide

हाथ पर ब्लेड से नाम और डायरी में शायरी लिख लटकी थी फंदे से, रूममेट ने बताया सच

मां ने कहा था- बातों से नहीं लगता था कि वो सुसाइड कर सकती है या किसी बात से परेशान है।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 18, 2018, 01:36 AM IST

  • हाथ पर ब्लेड से नाम और डायरी में शायरी लिख लटकी थी फंदे से, रूममेट ने बताया सच
    +5और स्लाइड देखें
    मेरिटोरियस स्कूल में पढ़ने वाली स्टूडेंट जैसमीन।

    अमृतसर.मेरिटोरियस स्कूल में पिछले सप्ताह सुसाइड का प्रयास करने वाली 12th की स्टूडेंट जैसमीन के मामले ने नया मोड़ ले लिया है। जैसमीन को फैमिली के कहने पर जालंधर के जोहल हॉस्पिटल में शिफ्ट कर दिया गया है, लेकिन इस दौरान हॉस्पिटल मैनेजमेंट की नजर उसकी बाईं बाजू पर पड़ी, जहां कुछ लिखा गया था। इसके बाद अब पुलिस इस मामले को प्रेम प्रसंग के साथ जोड़कर भी देखना शुरू करेगी। रूम से मिली थी डायरी...

    - गौरतलब है कि 12th मेडिकल की छात्रा जैसमीन ने पिछले बुधवार ही मेरिटोरियस स्कूल के होस्टल में सुबह 6.30 बजे सुसाइड कर लिया था। स्कूल प्रशासन ने उसे तुरंत फंदे से उतार कर अस्पताल पहुंचाया, लेकिन शुरू से ही छात्रा कोमा में थी।

    - एक सप्ताह कोमा में रहने के बाद बुधवार उसकी फैमिली ने जैसमीन को जालंधर लेकर जाने का फैसला कर लिया और शाम 6 बजे उसे लाइफ स्पोर्ट सिस्टम के साथ जालंधर प्राइवेट हॉस्पिटल में भेज दिया गया, लेकिन इससे पहले ही पुलिस को हॉस्पिटल मैनेजमेंट, स्टूडेंट की फैमिली और स्कूल मैनेजमेंट ने पुलिस को फोन करके जानकारी दी कि जैसमीन की बाजू पर एक नाम लिखा हुआ है, जो उसी स्कूल के किसी लड़के का है।
    - पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जैसमीन ने बाईं बाजू पर ब्लेड से किसी का नाम गोद रखा है, लेकिन वे पढ़ा नहीं जा रहा। इस सुराग के बाद अब पुलिस मामले को प्रेम प्रसंग से जोड़कर देखना शुरू हो गई है।
    - वहीं इससे पहले लड़की की एक डायरी मिली थी, जिसमें उसने कविताएं व शायरी लिख रखी थी। अंतिम कविता की दो लाइनें भी पुलिस को पहले इसी तरफ मोड़ रही थी। लेकिन अब हाथ में गुदा नाम पुलिस के लिए ठोस सबूत है।

    ये था मामला

    - स्कूल में एग्जाम को लेकर बुधवार सुबह कोचिंग चल रही थी। 6 बजे के करीब वह क्लास से किताब लेने के बहाने होस्टल में आई।

    - कुछ देर तक उसकी रूममेट, जो ब्रश करने के लिए कमरे से बाहर गई थी, ने आकर देखा कि वह पंखे के साथ लटक रही थी, तुरंत उसने होस्टल में शोर मचाया।

    - होस्टल वार्डन ने उसकी दुपट्टा काटकर नीचे उतारा। स्कूल की वैन में ही छात्रा को गुरु नानक देव हॉस्पिटल लेकर जाया गया, लेकिन वहां डॉक्टर्स ने हालत गंभीर बताई।

    - इसके बाद फैमिली ने हॉस्पिटल पहुंच उसे अमनदीप हॉस्पिटल में एडमिट करवा दिया। घरवालों का आरोप है कि स्कूल मैनेजमेंट उससे बातें छिपाने का प्रयास कर रहा है।

    आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

  • हाथ पर ब्लेड से नाम और डायरी में शायरी लिख लटकी थी फंदे से, रूममेट ने बताया सच
    +5और स्लाइड देखें
    जैसमीन बुधवार सुबह 6.30 बजे पंखे से लटकी मिली।
  • हाथ पर ब्लेड से नाम और डायरी में शायरी लिख लटकी थी फंदे से, रूममेट ने बताया सच
    +5और स्लाइड देखें
    जैसमीन डॉक्टर बनना चाहती थी।
  • हाथ पर ब्लेड से नाम और डायरी में शायरी लिख लटकी थी फंदे से, रूममेट ने बताया सच
    +5और स्लाइड देखें
    जैसमीन की हालत गंभीर है।
  • हाथ पर ब्लेड से नाम और डायरी में शायरी लिख लटकी थी फंदे से, रूममेट ने बताया सच
    +5और स्लाइड देखें
    जैसमीन 17 साल की थी।
  • हाथ पर ब्लेड से नाम और डायरी में शायरी लिख लटकी थी फंदे से, रूममेट ने बताया सच
    +5और स्लाइड देखें
    लड़की के चाचा दीपक कुमार
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×