--Advertisement--

नौकरी दिलाने के बहाने कमांडो बटालियन के 15 मुलाजिमों से 80 लाख की ठगी

ठगी करने वालों में पावरकॉम के 2 और कमांडो बटालियन का 1 मुलाजिम शामिल है।

Dainik Bhaskar

Jan 07, 2018, 05:59 AM IST
15 lakhs of commando battalions smuggled out of 80 lakhs

पटियाला. पावरकॉम में 18 हजार सैलेरी वाली क्लर्क की नौकरी दिलाने के नाम पर पावरकॉम के 2 और बहादुरगढ़ कमांडो बटालियन के एक मुलाजिम ने करीबन 15 लोगों के साथ लाखों रुपये की ठगी कर ली। दिलचस्प पहलू यह है कि ठगी का शिकार होने वालों में कमांडो बटालियन के सब इंस्पेक्टर से लेकर अकाउंटेंट, क्लास थर्ड फोर्थ इंप्लाइज भी शामिल हैं। ठगी करने वालों में पावरकॉम के 2 और कमांडो बटालियन का 1 मुलाजिम शामिल है।

सदर, कोतवाली और पसियाना थानों समेत कई थानों में पीड़ितों की अर्जी के बाद पुलिस पिछले कई महीनों से आरोपियों के खिलाफ मामले तो दर्ज कर रही है, लेकिन जांच ठंडी पड़ी है। ताजा मामला पसियाना थाना ने कमांडो बटालियन में क्लास फोर्थ इंप्लाइज पूरन राम के बेटे गुरमीत राम की शिकायत पर दर्ज किया गया है।

इस मामले में पावरकॉम के कॉल सेंटर में कार्यरत प्रेम सिंह निवासी ज्ञान कॉलोनी सूलर, पीएसपीसीएल शेरांवाला गेट में कार्यरत लिफ्ट ऑपरेटर भूपिंदर सिंह और सेकेंड कमांडो बहादुरगढ़ में कार्यरत सिपाही गुरदीप सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। इससे पहले बीते साल 24 अगस्त 2017 को सब इंस्पेक्टर लखवीर सिंह निवासी न्यू प्रोफेसर कॉलोनी की शिकायत पर इसी आरोपी प्रेम सिंह निवासी ज्ञान कॉलोनी और लिफ्ट ऑपरेटर भूपिंदर सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। एसआई लखवीर ने भी इन पर उनके बेटे को नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाखों रुपए ठगने का आरोप लगाया था।

पावरकॉम हेड ऑफिस में सर्टिफिकेट चैक करवाकर जीता पिता-पुत्र का भरोसा
पीड़ितपूरन राम ने बताया कि सिपाही गुरदीप सिंह जो उनकी कमांडो बटालियन में ही काम करता है। उनके घर आया और बताया कि बिजली निगम में क्लर्क की पोस्टें निकली हैं, जिनकी सैलेरी 18 हजार है। अगर वो 5 लाख का इंतजाम कर ले तो वो उसके बेटे गुरमीत राम को नौकरी दिला सकता है। भरोसा जीतने के लिए बेटे के सर्टिफिकेट्स लेकर शेरांवाला गेट स्थित पावरकॉम हेड ऑफिस भी बुलाया। उन्हें पावरकॉम के मुख्य गेट पर खड़ा करके यह कह सर्टिफिकेट्स लेकर अंदर चला गया कि काउंटर पर सर्टिफिकेट्स चैक करवाने वालों की लंबी लाइन है। वो बैक गेट से चैकिंग करवा अभी वापस आया। करीबन आधे घंटे बाद बाहर आकर बताया कि सर्टिफिकेट्स ठीक है, अब पैसों को इंतजाम करवाओ। पूर्ण सिंह के मुताबिक कुछ दिन पहले छोटे बेटे की शादी करने के चलते पैसे नहीं थे, इसलिए ब्याज पर पैसे उठाकर उसे 4 किस्तों में 5 लाख आरोपियों को दिए ताकि बेटे को नौकरी मिल जाए।

18 हजार सैलरी की नौकरी का दिया था झांसा
पूर्णसिंह ने बताया कि कमांडो बटालियन के एसई से लेकर कई मुलाजिम इनकी ठगी का शिकार हुए हैं। 5 से लेकर 2 लाख तक अलग-अलग मुलाजिमों से इन आरोपियों ने करीबन 70 से 80 लाख रुपए की ठगी की है। पीड़ितों ने अलग-अलग थानों में इनकी शिकायतें दी हैं, लेकिन पुलिस जांच ठंडी है। पूर्ण सिंह के मुताबिक वो भी दो दिन पहले एसएसपी को मिलकर शिकायत सौंप कर आए, तब पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू की है।

X
15 lakhs of commando battalions smuggled out of 80 lakhs
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..