--Advertisement--

इस शख्स ने इश्क में 5 और चोरी में किए 2 मर्डर, अब पुलिस ने ऐसे पकड़ा

पटियाला पुलिस ने लुधियाना से किया गिरफ्तार, रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरु।

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 04:34 AM IST

पटियाला. 29 और 30 दिसंबर की रात को टैगोर सिनेमा के पीछे सरपंच कॉलोनी लुधियाना के राजिंदर कुमार के कत्ल केस को सुलझाकर पुलिस ने कातिल को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान लुधियाना के ही बद्दोवाल के रहने वाले जगरूप सिंह के रूप में हुई है। जगरूप पेशेवर अपराधी है आैर उसने 1995 से लेकर अब तक सात कत्ल किए हैं, यह बात उसने खुद पुलिस के सामने कबूल की।

लुधियाना में महिला को मारने के अलावा बाकी के 6 कत्ल प्रेम संबंधों में किए हैं। डीआईजी सुखचैन सिंह गिल ने इस संबंध में प्रैस कान्फ्रेंस करके बताया कि आरोपी सीरियल किलर है। पुलिस को इसकी लंबे समय से तलाश थी जिसे उनकी टीम के एसपी-डी हरविंदर सिंह विर्क और पुलिस चौकी माडल टाउन के इंचार्ज सब इंस्पेक्टर गुरदीप सिंह ने ट्रैप लगाकर लुधियाना से पकड़ा। डीआईजी गिल ने बताया कि पटियाला के मॉडल टाउन में राजिंदर कुमार की हत्या के पीछे प्रेम संबंधों की बात सामने आई है। उन्होंने बताया कि आरोपी के हेमा नामक महिला के साथ संबंध थे आैर उनके प्रेम संबंधों में राजिंदर कुमार रोड़ा बन रहा था आैर हेमा को तंग करता था। पेंटर का काम करने वाला राजेंदर सिंह जब पटियाला आया तो हेमा ने उसके साथ यहां मुलाकात की आैर साथ में जगरूप को भी बुला लिया। इसके बाद हेमा आैर जगरूप राजिंदर को अॉटो में बिठाकर सिनेमा के बैक साइड सुनसान जगह ले गए। यहां हेमा ने राजिंदर के पैग में नशे की गोलियां मिला दीं। बेहोश होने पर जगरूप ने ईंटों से वार कर राजिंदर का कत्ल कर लाश खाली प्लाट में फैंक दी। इस संबंध में पुलिस ने थाना सिविल लाइन में 30 दिसंबर को धारा 302 के अंतर्गत मामला दर्ज करके जांच शुरू की थी।

कत्ल केसों में पकडे़ गए आरोपी जगरूप को कोर्ट में पेश करके पांच दिन का रिमांड लिया गया।

- 1995 मेंजगरूप ने पहला कत्ल शिमलापुरी में महिला का किया था। इससे पहले यह अपने दोस्तों के साथ छोटी-मोटी चोरियां करता था। चोरी करने के लिए यह महिला के घर में घुसा था। शोर मचाने पर उसने उस पर हमला कर दिया जिसमें उसकी मौत हो गई।
- 1998 में अपने ही गांव बद्दोवाल के एक घर में चोरी करने की नीयत से घुसा। घर की महिला ने उसे पहचान लिया तो उसने उसे भी बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया।
- 2004 में उसके हरियाणा की एक महिला परमजीत कौर के साथ जान-पहचान हो गई। महिला के पति कुलदीप को यह बात पसंद नहीं दी जिसके चलते जगरूप ने उसे परमजीत के साथ मिलकर गला घोंट मार डाला आैर लाश ट्रंक में डालकर यमुना नहर में फैंक दी।
- 2011 में लुधियाना की ही रहने वाली अपनी प्रेमिका हेमा के पति नंदलाल को भी जगरूप ने सिर में ईंटें मारकर कत्ल कर खाली प्लाट में फैंक दिया था। पुलिस का कहना है कि नंदलाल को भी हेमा आैर जगरूप के प्रेम संबंध का पता चल चुका था आैर वो दोनों को मिलने से रोकता था।
- 2015 में फिर हरियाणा की रहने वाली परमजीत कौर के कहने पर अनिल नामक व्यक्ति का एसएसटी नगर पटियाला में तलवार से कत्ल कर दिया था आैर लाश को टुकड़े कर अटैची में डाल विकास कॉलोनी में फैंक दिया। पुलिस अभी कत्ल के कारणों की तलाश कर रही है।
- 2016 में जगरूप ने अपने कत्लों की राजदार परमजीत कौर का भी कत्ल कर दिया। पुलिस ने बताया कि परमजीत कौर का कत्ल इसलिए किया गया क्योंकि उसको पता चल गया था कि जगरूप के हेमा नाम की किसी अन्य महिला से भी संबंध हैं आैर वह उसे उससे संबंध तोड़ने के लिए कह रही थी। इस पर उसने परमजीत कौर को मारकर लुधियाना के जस्सोवाल में खेतों में फैंक दिया।