--Advertisement--

माथे पर पिस्तौल रख 50 हजार कैश, एक्टिवा छीन ले गए लुटेरे

जिले में बदहाल कानून व्यवस्था की रोजाना खुल रही पोल, बेबस नजर आ रही पुलिस, दो दिन में तीन और बड़ी लूट की वारदातें हुईं

Danik Bhaskar | Jan 19, 2018, 05:34 AM IST

अमृतसर. मंडी फतेह सिंह में जियो कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर संदीप कुमार के माथे पर पिस्टल लगाकर चार-पांच लुटेरे करीब 50 हजार रुपए का कैश और एक्टिवा छीन कर ले गए। वारदात के समय संदीप अपने दफ्तर से घर जाने के लिए अभी निकले ही थे कि लुटेरों ने उन्हें घेर लिया और हाथापाई करके कैश छीन लिया। इसके बाद लुटेरों ने पिस्टल दिखाई और गोली मारने की धमकी दी व धक्का देकर गिरा दिया। इससे संदीप खुद भी पीछे हट गए व लुटेरे उनकी एक्टिवा भी साथ ही छीन कर ले गए। थाना सी डिवीजन की पुलिस ने अज्ञात लुटेरों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इस मामले में पुलिस को संदीप के पास काम करते एक पुराने कर्मचारी पर भी शक है कि उसी ने ही इस वारदात को अंजाम दिलवाया है, जिस कारण पूछताछ के लिए पुलिस ने उस कर्मचारी को भी हिरासत में लिया है।

जानकारी के मुताबिक संदीप कुमार जियो कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर हैं और गुरुद्वारा शहीदां साहिब के करीब मंडी फतेह सिंह में उनका दफ्तर है। उनके 8-10 कर्मचारी हैं, जो कि शहर में विभिन्न जगहों पर काउंटर लगाते हैं और कंपनी के सिम कार्ड बेचते हैं। बुधवार शाम को भी सभी काउंटरों पर काम करने वाले कर्मचारी पूरे दिन की सेल के पैसे लेकर अपने दफ्तर आए और हिसाब करने के बाद कैश संदीप के पास जमा करवा दिया। इसके बाद सभी कर्मचारी करीब 9.30 बजे दफ्तर से चले गए। थोड़ी देर रुकने के बाद संदीप भी दफ्तर बंद करके बाहर आ गए और एक्टिवा स्टार्ट करने लगे। इतने में अभी घर जाने ही लगे थे कि चार-पांच लुटेरे आए। आते ही लुटेरों ने संदीप के माथे पर पिस्टल लगा दिया और सारा कैश देने के लिए कहा। इकट्ठी हुई पेमेंट के 50 हजार रुपए तुरंत संदीप ने लुटेरों को पकड़ा दिए। इसके बाद लुटेरों ने संदीप को एक्टिवा से भी धक्का दे दिया और वह भी छीन कर तुरंत फरार हो गए।

आसपास लगे कैमरे चेक किए, कुछ नहीं मिला
थाना प्रभारी रवि शेर सिंह ने कहा कि केस दर्ज कर लिया है। आस-पास सीसीटीवी भी चेक किया है, मगर कुछ खास जानकारी नहीं मिल पाई है। फिलहाल लुटेरों को ट्रेस करवाया जा रहा है।

पर्स नहीं छोड़ा तो लुटेरों ने मेेरे हाथ पर किसी चीज से वार किया : अनु

अनु गुप्ता ने बताया 25 तारीख को गुडगांव में उनके रिश्तेदार की शादी है। वीरवार शाम करीब 6 बजे वह स्थानीय माल पर शॉपिंग करने के लिए गई थी। इसके बाद 7 बजे रिक्शे पर बैठ कर घर लौट रही थी। जब वह गोपाल मंदिर के करीब पहुंची तो वहां से पैदल ही घर की तरफ चल पड़ी। इतनी देर में पीछे से बाइक पर दो लुटेरे आए। दोनों ने मुंह बांधे हुए। लुटेरों ने आते ही पर्स छीनना शुरू कर दिया। उसने पर्स कस कर पकड़ लिया, लेकिन लुटेरों ने खींचातानी शुरू कर दी और इसी दौरान वह जमीन पर गिर गईं। इसके बाद लुटेरों ने हाथ पर किसी चीज से वार किया। वह जख्मी हो गई तो लुटेरे पर्स और कपड़ों वाले लिफाफे लेकर भाग गए। पुलिस आस-पास के सीसीटीवी भी चेक किए कर रही है, मगर जिस जगह वारदात हुई, वहां की फुटेज नहीं मिल सकी है।