अमृतसर

--Advertisement--

5 माह बाद नहर से मिली इस अफसर की लाश, कपड़े पर मिली इस निशानी से हुई पहचान

डेडबाड़ी पर केवल पैंट ही बची थी, साले ने की पहचान

Danik Bhaskar

Mar 02, 2018, 02:31 AM IST
फूड सप्लाई अफसर कमलदीप सिंह गिल फूड सप्लाई अफसर कमलदीप सिंह गिल

पटियाला. 20 सितंबर 2017 को गांव रोडेवाल के पास सुसाइड नोट लिखकर गायब हो गए फूड सप्लाई अफसर की पांच महीने बाद नहर से लाश मिली। गोताखोर ने डेडबॉडी गांव बुड्ढनपुर से बरामद कर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने गुमशुदा हुए लोगों के परिवारों को पहचान के लिए बुलाया। लाश इतनी बुरी तरह से गल चुकी थी कि परिवार के लिए भी इसकी पहचान कर पाना मुश्किल था। निशानी के रूप में लाश पर केवल पैंट ही बची थी लेकिन लगातार पांच महीने पानी में रहने के चलते उसका भी रंग बदल गया था। ऐसे की बॉडी की पहचान...

- परिवार ने पैंट पर लगे दर्जी के नेम स्टिकर से इसे पहचाना।

- बड़ा अधिकारी होने के चलते कमलदीप सिंह गिल घर से लगभग 50 किलोमीटर दूर पड़ते मालेरकोटला के सबसे मशहूर दर्जी से ही कपड़े सिलवाते थे।
- इसी आधार पर परिवार ने उनकी लाश की शिनाख्त की। इसके बाद राजिंदरा अस्पताल में पोस्टमार्टम करवा डेडबॉडी परिवार को सौंप दी गई।
- बता दें कि कमलदीप सिंह के गुम होने के 18 दिन बाद यानि 8 अक्टूबर 2017 को पारिवारिक मेंबरों ने संस्कार किए बिना भोग भी डाल दिया था।

सुसाइड नोट में लगाए थे 4 लोगों पर परेशान करने के आरोप

- कमलदीप सिंह 20 सितंबर को जब गायब हुए थे तो सुसाइड नोट में 4 व्यक्तियों को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया था।
- आरोप था कि हरजीत सिंह, हैप्पी शर्मा, सुरिंदर पाल और मंजीत सिंह उनको बिना वजह किसी केस में फंसाने आैर विजिलेंस से जांच करवाने की धमकियां देते थे।
- इससे दुखी होकर उसने जिंदगी खत्म करने का फैसला कर लिया।
- इसके बाद पुलिस ने चारों पर मौत के लिए मजबूर करने का मामला तो दर्ज कर लिया था, लेकिन लाश न मिलने के चलते अब तक इनमें से किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया था।

एक आरोपी की जमानत याचिका कोर्ट ने रद्द की

- हम इस मामले में जांच कर रहे हैं। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। इसके बाद बनती कार्रवाई की जाएगी।
- सुसाइड नोट में चार लोगों पर आरोप लगे थे जिनमें से एक ने जमानत के लिए अग्रिम याचिका लगाई थी, लेकिन विरोध करके पर कोर्ट ने इसे रद्द कर दिया था।
- पुलिस को डेडबॉडी मिलने का इंतजार था। जल्द ही सभी लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा। शाम लाल, एएसआई थाना बख्शीवाला।

पेंट पर मिला दर्जी का स्टीकर। पेंट पर मिला दर्जी का स्टीकर।
लाश न मिलने पर 21 दिन बाद परिवार ने कर दी थी पूजा। लाश न मिलने पर 21 दिन बाद परिवार ने कर दी थी पूजा।
Click to listen..