--Advertisement--

ऐसे हुआ खुलासा- युवक के सिर पर राॅड और बोतल मारकर की हत्या, शव फेंका था नहर में

चांदी का कड़ा और पर्स बरामद कर लिया है, जोकि उन्होंने वारदात के बाद अपने पास रख लिए थे।

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 05:47 AM IST
डेमोफोटो डेमोफोटो

बठिंडा. जून से संदिग्ध हालत में लापता रामपुरा फूल के दशमेश नगर के रहने वाले अमनदीप सिंह उर्फ दीपा (25) की रामपुरा फूल के रहने वाले चार युवकों ने मिलकर उसकी हत्या कर दी और शव को खुर्दबुर्द करने के लिए सरहिंद नहर में फेंका दिया गया था। हालांकि मृतक युवक का शव अभी तक बरामद नहीं हुआ है, लेकिन हत्या करने वाले तीन युवकों को सीआईए स्टाफ वन की टीम ने गिरफ्तार कर लिया। उनसे मृतक का आधार कार्ड, वोटर कार्ड, दो मोबाइल फोन, चांदी का कड़ा और पर्स बरामद कर लिया है, जोकि उन्होंने वारदात के बाद अपने पास रख लिए थे।

28 अक्टूबर को सीआईए को सौंपी गई जांच

एसएसपी बठिंडा नवीन सिंगला ने बताया कि 29 जून 2017 को रामपुरा फूल के दशमेश नगर निवासी हरभजन सिंह ने थाना सिटी रामपुरा पुलिस को अपने 25 वर्षीय बेटे अमनदीप सिंह उर्फ दीपा की संदिग्ध परिस्थितियों में लापता होने की सूचना दी थी। उन्होंने बताया था कि उनका बेटा अमनदीप सिंह 25 जून की शाम को घर से गया था, लेकिन चार दिन बाद वापस नहीं लौटा। उन्होंने आशंका जताई कि उनके बेटे को अज्ञात लोगों ने अगवा कर लिया है। इसके बाद सिटी रामपुरा पुलिस ने हरभजन सिंह की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया। 28 अक्टूबर 2017 को मामले की जांच सीआईए स्टाफ वन के इंचार्ज इंस्पेक्टर राजिंदर कुमार को सौंपी गई। सीआईए ने अपने सूत्रों की मदद व गवाहों के बयानों के आधार पर 12 दिसंबर को आरोपी अमनदीप सिंह उर्फ जम्मू निवासी गली नंबर 6 दशमेश नगर रामपुरा मंडी, बिट्टू निवासी कोठे माहा सिंह वाले महाराज, जिंदर पाल सिंह उर्फ घुग्गी निवासी गली नंबर 4 दशमेश नगर रामपुरा मंडी और लवी निवासी रामपुरा मंडी को मामले में नामजद किया।

भाभी पर बुरी नजर रखने का शक था

एसएसपी सिंगला ने बताया कि सीआईए इंचार्ज राजिंदर कुमार ने गुप्त सूचना के आधार पर आरोपी अमनदीप सिंह उर्फ जम्मू, जिंदर पाल सिंह उर्फ घुग्गी व बिट्टू को 13 दिसंबर बुधवार सुबह करीब 7 बजे रामपुरा के बस स्टैंड से गिरफ्तार किया गया। पुलिस पूछताछ में तीनों युवकों ने बताया कि वह अनपढ़ है और दिहाड़ी मजदूरी करते है। एसएसपी ने बताया कि आरोपी जिंदर पाल सिंह उर्फ घुग्गी आरोपी अमनदीप सिंह का भतीजा है, जोकि कामकाज के बाद इकट्ठे रहते है और शराब पीने के आदि है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि 25 जून से दो दिन पहले आरोपी अमनदीप सिंह ने शराब पीते समय अपने भतीजे व दोस्तों को बताया था कि उनके मोहल्ले का रहने वाला अमनदीप सिंह उर्फ दीपा उसकी भाभी को गलत नीयत से देखता है। इसी रंजिश में चारों ने मिलकर सिर पर रॉड और बोतले मारकर अमनदीप सिंह को मार डाला। शव को खुर्दबुर्द करने के मकसद से सरहिंद नहर में फेंक दी और मोटरसाइकिल लेकर फरार हो गए।

X
डेमोफोटोडेमोफोटो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..