Hindi News »Punjab »Amritsar» Bomb Attack In Syria And Thousands People Died

बमबारी के बीच लोगों की मदद कर रहे हैं ये भारतीय लोग, जानें कौन हैं ये

गौर हो कि सीरिया में बीते करीब दो हफ्तों में हुए बम धमाकों में करीब एक हजार जानें जा चुकी हैं

​प्रमोद कौशल | Last Modified - Mar 05, 2018, 01:44 AM IST

  • बमबारी के बीच लोगों की मदद कर रहे हैं ये भारतीय लोग, जानें कौन हैं ये
    +3और स्लाइड देखें
    बच्ची का इलाज करता ग्रुप मेंबर।

    फगवाड़ा.‘मानस की जात सबै एके पहचानबो’ के सिद्धांत पर चलते हुए विश्व भर में लोगों की सेवा करने में जुटी खालसा एड संस्था इन दिनों सीरियाई लोगों की मदद को लेकर आजकल खूब चर्चा में है। जिस देश में हो रही बमबारी से वहां के लोग बाहर निकलने से घबराते हैं, वहां जाकर लोगों के बीच रहकर संस्था ना सिर्फ वहां के लोगों व बच्चों को खाना और स्वास्थ सुविधाएं उपलब्ध करवा रही हैं बल्कि उनके रहने के लिए घरों का भी प्रबंध कर रही है।
    गौर हो कि सीरिया में बीते करीब दो हफ्तों में हुए बम धमाकों में करीब एक हजार जानें जा चुकी हैं। खाने-पीने के सारे संसाधन हुए तबाह...

    - सीरिया की राजधानी दमिशक के नजदीक घोटा शहर में सरकार की ओर से बागियों को खिलाफ चलाए अभियान के चलते बेकसूर शहर वासियों का भी खून बह रहा है।

    - बमबारी के चलते शहर इन दिनों कंकरीट की ढेरी बन चुका है। वहां लोग जिंदगी व मौत से लड़ रहे हैं। हालात ये है कि खाने-पीने के सारे संसाधन तबाह हो गए हैं।

    - लोगों को खाने-पीने के लाले पड़े हुए हैं वहीं हेल्थ सेंटर भी पूरी तरह धवस्त हो चुके हैं। ऐसे हालातों में सीरियाई लोगों के लिए मसीहा बनी खालसा एड संस्था के वालंटियर्स जान की परवाह किए बिना वहां पहुंचे और बमबारी के बीच लोगों की मदद कर रहे हैं।

    - मुफ्त सेहत सुविधाएं व भोजन उपलब्ध करवाया जा रहा है। पीड़ितों के रहने के लिए घरों का प्रबंध भी संस्था कर रही है। ये संस्था सीरिया में 2014 से लगातार काम कर रही है।

    - इससे पहले भी म्यांमार के रोहिंगिया शरणार्थियों की मदद के चलते खालसा एड संस्था अंतरराष्ट्रीय मीडिया में काफी चर्चा में रह चुकी है। सोशल साइट्स पर संस्था की इस मुहिम की बड़े स्तर पर सराहना की जा रही है।

    1999 में हुई स्थापना

    - खालसा एड संस्था गैर मुनाफा, सहायता व राहत संगठन है। इसकी स्थापना सिख सिद्धांतों, नि:स्वार्थ सेवा व विश्व व्यापी प्यार पर आधारित है।

    - ब्रिटेन चैरिटी कमीशन से मान्यता प्राप्त ब्रिटेन की रजिस्टर्ड इस संस्था की स्थापना साल 1999 में की गई थी।

    - उत्तरी अमेरिका व एशिया में यह संस्था नि:स्वार्थ भाव से सेवा कर रही है।

    - बीते समय की बात करें तो खालसा एड ने विश्व भर में तबाही, युद्ध व अन्य दुखद घटनाओ के पीड़ितों को राहत मदद उपलब्ध करवाई है।

    सुखबीर, हरसिमरत का ट्वीट

    - हरसिमरत कौर बादल, फूड प्रोसेसिंग मंत्री ने कहा कि सीरिया में खालसा एड संस्था ने जिस नि:स्वार्थ भाव से लोगों को मदद प्रदान की है, उसने हम सभी को गौरवान्वित किया है।

    - मानवता की सेवा सर्वोपरि है और यही सच्चे सिख की पहचान है।

    - ऐसे हालातों में वहां जाकर अपनी जान की परवाह किए बगैर लोगों की सेवा करना सभी के लिए मिसाल है।

    नि:स्वार्थ भाव से मदद करना, यही सच्चे सिख की पहचान है

    - गुरु साहिबान के दर्शाए मार्ग पर चलते हुए जिस सेवा भावना के साथ खालसा एड संस्था के सभी वालंटियर्स सीरिया में जान खतरे में डालकर जो सेवा निभा रहे हैं वो काबिले तारीफ है। वाहेगुरु के चरणों में बस यही अरदास है कि वाहेगुरु इस संस्था को इसी तरह सेवा करते रहने का बल प्रदान करें। -सुखबीर सिंह बादल, पूर्व उप-मुख्यमंत्री

  • बमबारी के बीच लोगों की मदद कर रहे हैं ये भारतीय लोग, जानें कौन हैं ये
    +3और स्लाइड देखें
    सामान बांटने ले जाता ग्रुप मेंबर।
  • बमबारी के बीच लोगों की मदद कर रहे हैं ये भारतीय लोग, जानें कौन हैं ये
    +3और स्लाइड देखें
  • बमबारी के बीच लोगों की मदद कर रहे हैं ये भारतीय लोग, जानें कौन हैं ये
    +3और स्लाइड देखें
    बच्चों के साथ सेल्फी लेता लड़का।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Amritsar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Bomb Attack In Syria And Thousands People Died
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×