--Advertisement--

दो दिन से लापता बच्चे की लाश बोरी में बंधी मिली, किडनैपिंग के 56 घंटे पुलिस ने दर्ज की थी Fir

कराईवाला में 20 जनवरी से लापता 12 साल के सुरिंदर की लाश गांव में छप्पड़ के पास बोरी में बंधी मिली है।

Danik Bhaskar

Jan 23, 2018, 08:18 AM IST

मुक्तसर/मलोट | कराईवाला में 20 जनवरी से लापता 12 साल के सुरिंदर की लाश गांव में छप्पड़ के पास बोरी में बंधी मिली है। पुलिस लोगों को साथ लेकर बच्चे की तलाश कर रही थी। इसी बीच छप्पड़ के किनारे सरकंडों में कट्टे में कोई चीज लिपटी दिखी। खोलने पर पता चला कि इसमें सुरिंदर का शव था। मुंह बंधा था और गले में चोट के निशान थे।

गांव कराईवाला में लापता दो बच्चों में से एक की लाश बरामद हो गई जबकि दूसरे को पुलिस खोज नहीं पाई। दोनों बच्चों का नाम सुरिंदर है। 7 जनवरी से लापता सुरिंदर (14) के मामले में पुलिस ने उसकी मौसी के बेटे को हिरासत में लिया है। सोनी ने बताया है कि उसने सुरिंदर को किडनैप कर नहर में फेंक दिया था। दोनों मामलों में पुलिस लापरवाही सामने आई है।


7 जनवरी को अगवा सुरिंदर के मामले में पुलिस ने 56 घंटे बाद एफआईआर दर्ज की। किडनैप करने वाले आरोपी सोनी पुलिस 7 दिन के रिमांड में न तो कुछ और उगलवा पाई और न ही 15 दिन बाद शव को नहर में ढूंढ पाई। सोनी ने 26 दिसंबर को मलोट से चोरी हुई बाइक पर वारदात की थी। आज तक पुलिस ने चोरी का मामला ही दर्ज नहीं किया। दूसरे बच्चे सुरिंदर (12) के लापता होने के दो दिन बाद भी पुलिस ने कुछ नहीं किया। जब खफा लोगों ने धरना दिया तो सर्च शुरू की और लाश बरामद की।

कांग्रेसी विधायक राजा वड़िंग का हैरान करने वाला बयान
इधर दोनों बच्चों के परिवारों से हमदर्दी जताने गिद्दड़बाहा के कांग्रेसी विधायक अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग उनके घर पहुंचे। मीडिया ने जब उनसे पुलिस की ढीली कारगुजारी के बारे में पूछा तो उन्होंने पुलिस का बचाव करते हुए कहा, पुलिस अपनी ड्यूटी अच्छे से निभा रही है। क्राइम तो पूरे विश्व में होता है। 7 जनवरी को लापता हुए सुरिंदर सिंह के मामले में पुलिस के खाली हाथ पर विधायक पूरे मामले से अंजान दिखे, क्योंकि उन्होंने आरोपी सोनी सिंह पर 302 का पर्चा दर्ज होने का दावा किया, परंतु असल में सोनी सिंह पर अगवा करने का 364 का ही मामला दर्ज है।

Click to listen..