Hindi News »Punjab »Amritsar» Congress Leader Suicide On Wedding Day

शादी के ही दिन घर से निकली तीन लाशें, दर्दनाक कहानी का हुआ खौफनाक अंत

हनी का जन्म पिता की मौत के दो महीने बाद हुआ था। जिस मां ने जन्म दिया, उसका पूरी जिंदगी मुंह नहीं देखा।

​चेतन शर्मा | Last Modified - Jan 15, 2018, 10:19 PM IST

  • शादी के ही दिन घर से निकली तीन लाशें, दर्दनाक कहानी का हुआ खौफनाक अंत
    +6और स्लाइड देखें
    तीनों शवों का रविवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया।

    बरनाला (पंजाब). यहां के 25 साल के यूथ कांग्रेसी नेता हरमेश मित्तल उर्फ हनी की रविवार को शादी थी। शादी के ही दिन कैंसर पेशेंट हनी के 80 साल के दादा की मौत हो गई। दादा के मौत से दुखी हनी ने पहले अपनी दादी को गोली मार दी। फिर उसके बाद उसने खुद को भी गोली मारकर सुसाइड कर लिया।


    जन्म से 2 महीने पहले पिता की मौत मां देखी नहीं, दादा-दादी ने पाला था

    - हनी का जन्म पिता की मौत के दो महीने बाद हुआ था। जिस मां ने जन्म दिया, उसका पूरी जिंदगी मुंह नहीं देखा।

    - जन्म देने के बाद उसकी मां ने दूसरी शादी कर ली थी और फिर कभी नहीं आई। दादा-दादी के पास ही पला बढ़ा और आज उन्हीं के साथ ही चला गया।

    - अगस्त 1992 में जन्में हनी के पिता हैप्पी टल्लेवालिया की मौत हनी के जन्म से दो महीने पहले हो गई थी। हनी के पिता की शादी को एक साल भी नहीं हुआ था।

    - हनी के पिता की मौत के बाद दोनों परिवारों की सहमती से उसकी मां की शादी कहीं और करना तय हुआ था। हनी के पिता चार बहनों के अकेले भाई थे।

    - इसलिए दादा और दादी ने बहू से कहा था बच्चे को जन्म दें, हम उसे पालेंगे। जिसके चलते उसने हनी को जन्म देने के बाद उसको दादा-दादी को सौंप दिया।

    - आम बच्चों की तरह घर में मम्मी-डैडी का ना होना भी हनी को परेशान करता था। आर्थिक रूप से समृद्ध हनी ने 25 साल की उम्र में ही असलाह लाइसेंस बनवा लिया था।

    हॉस्पिटल में एडमिट रहते दादा ने तय की थी हनी की शादी

    - दादा की बीमारी के कारण परिवार ने रविवार को ही मानसा में हनी की शादी करनी थी। परिवारवालों ने बताया कि हनी के दादा हरी राम टल्लेवालिया दिल्ली के अस्पताल में भर्ती थे।

    - वहीं पर मानसा की एक महिला भी भर्ती थी, जिसकी हनी की उम्र की बेटी है। दोनों परिवारों की वहीं पर बात हो गई।

    - हनी के दादा की बीमारी के कारण उनके रहते रिश्तेदार उसकी शादी करना चाहते थे, जिसके चलते रविवार को उन्होंने लड़की को मानसा में देखने जाना था और वहीं पर सादे समागम में शादी कर डोली में बैठा कर ले आना था।

    - जिस दिन घर में डोली आनी थी उसी दिन 3 आर्थियां उठने से शहर सदमें में है। मौके पर मौजूद मक्खन शर्मा ने बताया कि जब पहली गोली चली तो ऊपर से आवाज आई, वह उधर की ओर भागे।

    - पहली मंजिल की सीढ़ियां चढ़कर कमरे तक पहुंचते 4 फायर हो गए। हनी ने अंदर से कुंडी लगा रखी थी। जब उन्होंने दरवाजा तोड़ा तो हनी खून से लथपथ जमीन पर पड़ा था व उसकी दादी बेड पर पड़ी थी।

    - गाड़ी में बैठे उन्होंने हनी से पूछा- तूने ये क्या कर दिया। उसने आखरी शब्द बोले- मेरे लई ऐही ठीक सी, बस मैं कर ता, हुण कोई टैंशन नईं। करीब सवा आठ बजे दोनों ने सिविल अस्पताल में जाकर दम तोड़ दिया।

  • शादी के ही दिन घर से निकली तीन लाशें, दर्दनाक कहानी का हुआ खौफनाक अंत
    +6और स्लाइड देखें
    हनी अपने दादा-दादी के साथ।
  • शादी के ही दिन घर से निकली तीन लाशें, दर्दनाक कहानी का हुआ खौफनाक अंत
    +6और स्लाइड देखें
    हरमेश मित्तल उर्फ हनी। (फाइल फोटो)
  • शादी के ही दिन घर से निकली तीन लाशें, दर्दनाक कहानी का हुआ खौफनाक अंत
    +6और स्लाइड देखें
    एक परिवार में तीन मौतों के बाद रोते बिलखते फैमिली मेंबर्स।
  • शादी के ही दिन घर से निकली तीन लाशें, दर्दनाक कहानी का हुआ खौफनाक अंत
    +6और स्लाइड देखें
    बुआ तुसीं कमरे चों बाहर जाओ, माता नाल गल्ल करनी ऐ...।
  • शादी के ही दिन घर से निकली तीन लाशें, दर्दनाक कहानी का हुआ खौफनाक अंत
    +6और स्लाइड देखें
    बुआ के जाते ही हनी ने दादी के साथ दरवाजा बंद कर लिया...।
  • शादी के ही दिन घर से निकली तीन लाशें, दर्दनाक कहानी का हुआ खौफनाक अंत
    +6और स्लाइड देखें
    रिवॉल्वर से दो गोली दादी को मारी, फिर अपने को मार ली।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Amritsar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Congress Leader Suicide On Wedding Day
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×