--Advertisement--

जिम का बोर्ड लगाने से रोका तो गोलियां चलाईं; 29 लोगों पर जानलेवा हमला

लोगों ने खुद ही हिम्मत दिखाते हुए 4 आरोपियों को काबू किया और जब पुलिस पहुंची तो आरोपियों को उनके हवाले कर दिया।

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 07:40 AM IST
घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरों से निकलवाई गई फुटेज में आरोपी पक्ष का एक युवक बंदूक से गोली चलाता हुआ, जबकि बाकी आरोपी ईंटें बरसाते दिखाई दे रहे हैं। घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरों से निकलवाई गई फुटेज में आरोपी पक्ष का एक युवक बंदूक से गोली चलाता हुआ, जबकि बाकी आरोपी ईंटें बरसाते दिखाई दे रहे हैं।

अमृतसर. छेहर्टा के प्रताप बाजार में रविवार सुबह गली के बाहर जिम का फ्लैक्स बोर्ड लगाने से रोकने पर हुए झगड़े में गोलियां और ईंट-पत्थर चलने से एक व्यक्ति जख्मी हो गया। गुंडागर्दी की सूचना देने के बावजूद काफी देर तक पुलिस नहीं आई तो इलाके के लोगों ने खुद ही हिम्मत दिखाते हुए 4 आरोपियों को काबू किया और जब पुलिस पहुंची तो आरोपियों को उनके हवाले कर दिया।

घटनास्थल पर पहुंची एसीपी परमिंदर कौर से गुस्साए लोगों ने शिकायत की कि 2 घंटे देरी से पहुंचे एसएचओ छेहर्टा लखविंदर सिंह कलेर ने बार-बार फोन करने के बावजूद काॅल भी रिसीव नहीं की। पुलिस ने जिम मालिक मनरोज सिंह और उसकी मां मनदीप कौर, गगन कुमार, बिंदर नेता, विक्रमजीत, सुखबीर सिंह, राजन मुरारी, गुरसेवक सिंह, बिक्कर सिंह सहित 29 के करीब लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

इलाके के रहने वाले हरपाल सिंह ने बताया कि गली की रहने वाली मनदीप कौर और उसके बेटे मनरोज सिंह ने घर में ही नीचे ढिल्लों फर्नीचर के नाम से दुकान और उसके ऊपर जिम बनाया हुआ है। रविवार सुबह आरोपी गली के बाहर फ्लैक्स बोर्ड लगवाने जा रहे थे, जब उन्होंने यह कहते हुए विरोध जताया कि बोर्ड लगने से उनके घर का अगला हिस्सा ढक जाएगा तो आरोपी झगड़ने लगे। मनरोज ने अपने 30-40 साथियों को मौके पर बुलाया और आरोपियों ने गोलियां और ईंट-पत्थर चलाने शुरू कर दिए, गोलीबारी के दौरान वह घायल हो गया। वहीं मौके पर घटना की वीडियो बना रहे एक अन्य दुकानदार हरीश कुमार पर भी आरोपियों ने हमला किया, लेकिन वह किसी तरह से बच निकला, लेकिन उसका मोबाइल तोड़ दिया गया।

वहीं वारदात की रिकार्डिंग दुकानों के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों में भी हुई है। इलाके वालों की तरफ से सूचित किए जाने के बावजूद पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। इसका फायदा उठाते हुए कई आरोपी मौके से भागने में कामयाब रहे। इसके रोष में इलाके वालों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की। हरपाल के मुताबिक उनके सहित अन्य दुकानदार भी कुछ दिनों से बोर्ड लगाने को लेकर आरोपियों को रोक रहे थे, लेकिन मां-बेटा टस से मस नहीं हुए।

किसी ने गोली नहीं चलाई, हरपाल ने खुद तोड़-फोड़ की: मनदीप कौर

मामले में आरोपी बनाई गईं मनदीप कौर ने कहा कि जिम का फ्लैक्स बोर्ड लगाने की बात को लेकर अकसर हरपाल सिंह उनसे झगड़ा करता था, जिसकी शिकायत उन्होंने कई बार पुलिस को की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। उनकी तरफ से किसी ने भी गोली नहीं चलाई बल्कि हरपाल सिंह ने खुद ही अपने घर में तोड़फोड़ कर झूठे आरोप लगाए हैं।

एसएचओ बोले- देरी से आने का कारण एसीपी से पूछो

घटनास्थल पर देरी से पहुंचने और बार-बार फोन करने के बावजूद काल रिसीव नहीं करने के आरोपों को लेकर एसएचओ छेहर्टा लखविंदर सिंह कलेर ने कहा कि इस बारे में एसीपी से बात करें, वह कुछ नहीं बोलेंगे।

एसएचओ के देरी से पहुंचने की जांच होगी: एसीपी
एसीपी पलविंदर कौर ने कहा कि घटनास्थल के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज कब्जे में ले ली गई है, जिसके आधार पर बनती कार्रवाई होगी। एसएचओ के देरी से पहुंचने के आरोपों की जांच होगी।

जख्मी हुए हरपाल सिंह (हरे स्वेटर में) के भाई गुरनाम सिंह लाली ने एक आरोपी को पकड़ लिया। जख्मी हुए हरपाल सिंह (हरे स्वेटर में) के भाई गुरनाम सिंह लाली ने एक आरोपी को पकड़ लिया।
दो आरोपियों को दबोचते इलाकावासी। दो आरोपियों को दबोचते इलाकावासी।
अारोपियों को हिरासत में लेती पुलिस। अारोपियों को हिरासत में लेती पुलिस।
इलाकावासियों काे शांत कराने का प्रयास करते पुलिस मुलाजिम। इलाकावासियों काे शांत कराने का प्रयास करते पुलिस मुलाजिम।