--Advertisement--

हथियार लेकर आए पर्चियां देने, गेट पर थी पुलिस और फिर ऐसे स्कूल के अंदर पहुंचाई पर्ची

डीईओ सुनीता किरण ने शिकायतें मिलने के बाद ऑबजर्वर और पुलिस से रिपोर्ट मांगी।

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 04:26 AM IST
अठवाल गांव में स्कूल की दीवारों पर चढ़कर नकल करवाते लोग। अठवाल गांव में स्कूल की दीवारों पर चढ़कर नकल करवाते लोग।

अमृतसर/खेमकरण/भिखीविंड. बुधवार से शुरू हुई पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (पीएसईबी) की 12वीं की परीक्षा में पहले दिन जमकर नकल हुई। बोर्ड ने इस बार नकल रोकने के मकसद से सेंटर बदले लेकिन पहले दिन अंग्रेजी के पेपर में अमृतसर-तरनतारन जिलों में हालात पिछले साल से भी बदतर नजर आए। तरनतारन में तो नकल पर अंकुश लगाने के लिए एजुकेशन सेक्रेटरी आईएएस अधिकारी कृष्ण कुमार खुद पहुंचे और पांच केंद्रों में परीक्षा रद्द कर दी।

लोगों ने की अंदर घुसने की कोशिश

उधर निर्मल सैनी की अगुवाई में फ्लाइंग स्क्वॉयड खेमकरण के सरकारी सीनियर सेकेंडरी गर्ल्स स्कूल पहुंचा जहां 750 से ज्यादा बच्चे पेपर दे रहे थे। स्क्वॉयड को देखते ही अफरा-तफरी मच गई। सेंटर के बाहर खड़े लोगों ने अंदर घुसने की कोशिश शुरू कर दी। ये देखकर फ्लाइंग स्क्वॉयड ने तुरंत अधिकारियों को सूचित कर पुलिस बुलाई। डीएसपी सुलखान सिंह मान को शाम 7 बजे पुलिस सुरक्षा में आंसरशीट जमा करवाने को कहा गया। पुलिस प्रशासन के साथ-साथ पट्‌टी के एसडीएम सुरेंद्र सिंह और डीआईजी एके मित्तल भी मौके पर पहुंच गए।

तीन तरफ से घेरकर अंदर पहुंचाई पर्चियां

अठवाल स्कूल के बाहर जब पत्रकारों ने फोटो खींचनी चाही तो हुड़दंगी पीछे भागे। उन्होंने एक पत्रकार को पकड़कर पीट दिया और मोबाइल छीन लिया। मजीठा थाने के एसएचओ ने मौके पर पहुंचकर उसे छुड़वाया।

कागजों में शांत रहा सेंटर

डीईओ सुनीता किरण ने शिकायतें मिलने के बाद ऑबजर्वर और पुलिस से रिपोर्ट मांगी। ऑबजर्वर ने रिपोर्ट में लिखा कि सेंटर के अंदर शांति थी, बाहर का उन्हें पता नहीं। पुलिस ने भी रिपोर्ट में लिखा कि सड़क पर युवा खड़े थे मगर स्थिति कंट्रोल में थी।

शोर मचने पर एसबी सीनियर सेकेंडरी स्कूल का सुपरिंटेंडेंट बदला
फ्लाइंग स्क्वॉयड और दूसरे जिलों की टीमों ने अमृतसर के कई सेंटरों में चेकिंग की। गुरदासपुर के डिस्ट्रिक्ट साइंस सुपरवाइजर की टीम जब छेहर्टा के एसबी सीनियर सेकेंडरी स्कूल पहुंची तो वहां सेंटर पर

विद्यार्थियों का शोर बहुत अधिक था। इस पर उन्होंने सुपरिंटेंडेंट बदल दिया।

यहां मजीठा के शहीद कैप्टन अमरदीप सिंह सरकारी स्कूल के बच्चों का सेंटर है। यहां मजीठा के शहीद कैप्टन अमरदीप सिंह सरकारी स्कूल के बच्चों का सेंटर है।
स्कूल के बाहर का दृश्य। स्कूल के बाहर का दृश्य।
X
अठवाल गांव में स्कूल की दीवारों पर चढ़कर नकल करवाते लोग।अठवाल गांव में स्कूल की दीवारों पर चढ़कर नकल करवाते लोग।
यहां मजीठा के शहीद कैप्टन अमरदीप सिंह सरकारी स्कूल के बच्चों का सेंटर है।यहां मजीठा के शहीद कैप्टन अमरदीप सिंह सरकारी स्कूल के बच्चों का सेंटर है।
स्कूल के बाहर का दृश्य।स्कूल के बाहर का दृश्य।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..