--Advertisement--

बेटी का कत्ल कर बोला पिता- हटा दी प्यार के रास्ते की रुकावट, पत्नी ने पूछी ये बात

मां ने सास-ससुर से बोला उन्होंने बेटी को मार दिया तो कहा- फिर क्या हुआ मार डाला तो मार डाला।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 01:43 AM IST

बठिंडा. अवैध संबंधों के पीछे हैवान बने पिता ने बेरहमी से 3 साल की बेटी का बेरहमी से सेट टॉप बॉक्स की तार से गला घोंटकर हत्या कर दी। वारदात के बाद आरोपी ने अपनी पत्नी को फोन कर बेटी को मारने की जानकारी दी। वह अपनी दूसरी बेटी को भी मारना चाहता था। इसके लिए वह उसे अपने पुराने घर ले जा रहा था, लेकिन रास्ते में पुलिस को देख 11 वर्षीय बेटी के शोर मचाने पर आरोपी को पकड़ा गया।

ये था घटना क्रम...

- आरोपी तरूण की 2006 में ममता से शादी हुई थी जिससे उसकी दो बेटियां थीं यशिका (3) और वंशिका(11 साल)।
- उसका पति नशा का आदी था और उसके महिलाओं के साथ अवैध संबंध भी थे।
- विवाद के चलते उसके ससुराल वालों ने किराये का मकान लेकर दिया था।
- ममता की सास की तबीयत खराब होने के कारण वह अपनी दोनों बेटियों को साथ लेकर सास-ससुर के पास गई थी।
- ममता को पता चला कि उसने किसी महिला को 5 हजार रूपए दिए हैं, इस बारे में उसने अपने पति से पूछा।
- पति से महिला को 5 हजार रुपए देने के बारे में पूछा तो पति ने झगड़ा शुरू कर दिया।
- रात करीब साढ़े 8 बजे के बाद आरोपी उसकी दोनों बेटियों को जबरदस्ती अपने साथ मोटरसाइकिल पर किराए के मकान में ले गया।
- वहां पर तरुण ने अपनी तीन साल की छोटी बेटी यशिका का सेट टॉप बॉक्स वाली तार से गला घोटकर हत्या कर दी।
- उसके बाद बड़ी बेटी को भी मारने की धमकी दी, लेकिन बड़ी बेटी वंशिका के शोर मचाने पर वह सहम गया।
- बुधवार को आरोपी हत्या के बाद यशिका की लाश लेकर अपने पिता के घर पहुंच गया।
- वहां उन्होंने अपने बेटे की हरकत पर कुछ करने की बजाय उन्हें घर से जाने के लिए कह दिया।
- इसके बाद हत्या के आरोपी ने अपनी पत्नी व दूसरी बेटी को मारने की साजिश रची और किराये वाले मकान में लेकर जाने लगा।
- रास्ते में पुलिस को देखकर मोटरसाइकिल के पीछे सहमी बैठी पत्नी व बड़ी बेटी ने छलांग लगाकर शोर मचा दिया।

बेटी को मारने का अफसोस नहीं : आरोपी पिता

- पुलिस ने आरोपी तरुण को जब अरेस्ट कर पूछताछ के लिए थाना लेकर आई तो वह हंस रहा था और उसे अपने किए पर जरा भी अफसोस नहीं था।

- उससे जब बेटी को मारने का कारण पूछा तो वह मुस्कुराहट के साथ अपने अवैध संबंधों की कहानियां सुनाने लगा। कहने लगा इश्क और जंग में सब जायज है। मैंने प्यार पाने के लिए रास्ते में आई रुकावट को हटा दिया।

- इंस्पेक्टर मनोज के मुताबिक अव्वल दर्जे का नशेड़ी होने के साथ वह सनकी भी है। मंगलवार देर रात एसपी व डीएसपी उससे पूछताछ कर रहे थे तो पूछे गए सवालों की जगह जांच को भड़काने की कोशिश करता रहा।

नेतागिरी का था शोक, नहीं करता था धंधा

- कोर्ट रोड के लोगों का कहना है कि तरुण कोई काम धंधा नहीं करता था। वह खुद को एंटी करप्शन का चेयरमैन बताया करता था। बाजार में उनकी दो दुकानें थी।

- कुछ ही समय पहले मेला राम ने एक दुकान 50 लाख में बेचकर ग्रीन सिटी में 34 लाख का प्लाट ममता के नाम पर खरीदा था। उस पर मकान बनाने के लिए भी ~16 लाख बैंक में रखे हुए थे। मेला राम कचहरी में टाइपिस्ट का काम करता है।