--Advertisement--

दूल्हे की तरह सजाकर गैंगस्टर का हुआ फ्यूनरल, मां के साथ पूरा गांव भी रोया

किसान महल सिंह का बेटा हरजिंदर सिंह उर्फ विक्की गौंडर हैमर थ्रो का नेशनल प्लेयर था।

Dainik Bhaskar

Jan 29, 2018, 03:28 AM IST
गैंगस्टर के अंतिम संस्कार तक गांव में रहे 350 पुलिसकर्मी गैंगस्टर के अंतिम संस्कार तक गांव में रहे 350 पुलिसकर्मी

अमृतसर/जालंधर. नाभा जेल से फरार होने के बाद चर्चा में आने वाले कुख्यात गैंगस्टर विक्की गौंडर का राजपुरा पुलिस ने राजस्थान के हिंदूमल कोट के गांव पक्का टिब्बी की टहनी में एनकाउंटर कर दिया था। इसमें उसका साथी प्रेमा लाहौरिया और सुखप्रीत बुड्ढा भी मारे गए। गौंडर और लाहौरिया की मौके पर ही मौत हो गई, जबिक बुड्‌ढा ने हॉस्पिटल ले जाते समय दम तोड़ दिया था। आज उसके पैतृक गांव सरावां बोदला में अंतिम संस्कार किया गया। 27 साल के गौंडर की लाश को दूल्हे की तरह सजाया गया था और उसके अंतिम संस्कार तक गांव में लगभग 350 पुलिसकर्मी मौजूद थे।

गौंडर के मामा का आरोप...विक्की सरेंडर करने को तैयार था, पुलिस ने धोखे से मार डाला

गौंडर के मामा गुरभेज सिंह ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उसे धोखे से मारा है। कहा- एनकाउंटर करने वाली टीम के मुखी बिक्रमजीत सिंह बराड़ जालंधर स्पोर्ट्स कॉलेज में विक्की के साथ पढ़ते थे। एनकाउंटर वाले दिन शाम 4 बजे विक्की ने व्हाट्सएप कॉल कर उन्हें बताया था कि वह बिक्रम से मिलने जा रहा है। देर शाम उसकी मौत की खबर मिली। वह सरेंडर को तैयार था, लेकिन पुलिस ने उसके साथ धोखा किया।

आरोप झूठा, मेरा कोई लेना-देना नहीं

बिक्रमजीत सिंह बराड़ का कहना है कि ये आरोप झूठा है। उनका गौंडर से कोई लेना-देना नहीं था। अगर उसे सरेंडर ही करना था तो वह पंजाब में आकर करता। उम्र में गौंडर उनसे 10 साल छोटा था। ऐसे में कैसे संभव है कि वह उनके साथ कॉलेज में पढ़ा होगा।

साथी को पुलिस ने किया अरेस्ट...

गैंगस्टर विक्की गौंडर को पनाह देने और हथियार मुहैया कराने के आरोपी को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया। टीम ने रविवार को तरनतारन के झब्बाल के गांव मियांपुर में आरोपी अमृतपाल सिंह बाठ को पकड़ा। वह गौंडर को फंड भी मुहैया कराता था। उसके खिलाफ हत्या की कोशिश का भी केस दर्ज है। पुलिस के अनुसार बाठ खालसा काॅलेज का स्टूडेंट रहा है। करीब छह महीने पहले काॅलेज की लीडर बनने को लेकर बाठ ने जग्गू गैंग के सदस्यों पर फायरिंग की थी।

लीडर बनने की दौड़ में वह गौंडर के संपर्क में आया था। नाभा जेल ब्रेक के बाद वह गौंडर व उसके साथियों को वह पनाह देता रहा है। थाना प्रभारी मनोज ने बताया कि चंडीगढ़ से आई टीम ने आरोपी को गिरफ्तार किया है। लोकल पुलिस को जांच से दूर रखा गया है। वहीं, गौंडर के साथ मारे गए तीसरे साथी की पहचान अमृतसर जिले के सविंदर सिंह के रूप में हुई है। अटारी के नजदीकी गांव का होने की वजह से वह बॉर्डर एरिया का अच्छा जानकार था। हालांकि, उसका कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है, लेकिन पुलिस सूत्रों का कहना है कि हो सकता है कि वह हथियार और नशा तस्करी से भी जुड़ा रहा हो।

आगे की स्लाइड्स में देखें, गैंगस्टर गौंडर के फ्यूनरल की फोटोज...

गौंडर के शव को कंधा देते हुए रिलेटिव। गौंडर के शव को कंधा देते हुए रिलेटिव।
गौंडर के रिलेटिव शोक मनाते हुए। गौंडर के रिलेटिव शोक मनाते हुए।
गौंडर की मां विलाप करती हुईं। गौंडर की मां विलाप करती हुईं।
गौंडर के रिश्तेदारों के साथ कई लोगों की आंखों में भी आंसू थे। गौंडर के रिश्तेदारों के साथ कई लोगों की आंखों में भी आंसू थे।
गौंडर दूल्हे की तरह सजा हुआ। गौंडर दूल्हे की तरह सजा हुआ।
गांव में हर आदमी गौंडर के बारे में ही बात करता दिखा. गांव में हर आदमी गौंडर के बारे में ही बात करता दिखा.
गौंडर के घर उसकी मां। गौंडर के घर उसकी मां।
शमसान में मौजूद पुलिस। शमसान में मौजूद पुलिस।
शमसान घाट पर मौैजूद लोग। शमसान घाट पर मौैजूद लोग।
शमसान घाट पर भी सन्नाटा पसरा था। शमसान घाट पर भी सन्नाटा पसरा था।
गौंडर की शव यात्रा के दौरान भीड़। गौंडर की शव यात्रा के दौरान भीड़।
X
गैंगस्टर के अंतिम संस्कार तक गांव में रहे 350 पुलिसकर्मीगैंगस्टर के अंतिम संस्कार तक गांव में रहे 350 पुलिसकर्मी
गौंडर के शव को कंधा देते हुए रिलेटिव।गौंडर के शव को कंधा देते हुए रिलेटिव।
गौंडर के रिलेटिव शोक मनाते हुए।गौंडर के रिलेटिव शोक मनाते हुए।
गौंडर की मां विलाप करती हुईं।गौंडर की मां विलाप करती हुईं।
गौंडर के रिश्तेदारों के साथ कई लोगों की आंखों में भी आंसू थे।गौंडर के रिश्तेदारों के साथ कई लोगों की आंखों में भी आंसू थे।
गौंडर दूल्हे की तरह सजा हुआ।गौंडर दूल्हे की तरह सजा हुआ।
गांव में हर आदमी गौंडर के बारे में ही बात करता दिखा.गांव में हर आदमी गौंडर के बारे में ही बात करता दिखा.
गौंडर के घर उसकी मां।गौंडर के घर उसकी मां।
शमसान में मौजूद पुलिस।शमसान में मौजूद पुलिस।
शमसान घाट पर मौैजूद लोग।शमसान घाट पर मौैजूद लोग।
शमसान घाट पर भी सन्नाटा पसरा था।शमसान घाट पर भी सन्नाटा पसरा था।
गौंडर की शव यात्रा के दौरान भीड़।गौंडर की शव यात्रा के दौरान भीड़।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..