Hindi News »Punjab »Amritsar» Had To Sell In Debt Home

कर्ज में बेचना पड़ा था घर, आज ऐसे बने 2 फैक्ट्रियों के मालिक, 400 लोगों को दी नौकरी

शहर के प्रमुख उद्योगपति कमल डालमिया समाज सेवा में भी निभा रहे अहम भूमिका

Satish Sharma | Last Modified - Jan 22, 2018, 04:59 AM IST

  • कर्ज में बेचना पड़ा था घर, आज ऐसे बने 2 फैक्ट्रियों के मालिक, 400 लोगों को दी नौकरी
    शहर के प्रमुख उद्योगपति कमल डालमिया अपने परिवार के साथ। (मध्य) डालमिया कहते हैं कि उन्होंने कभी मुश्किल के वक्त में हिम्मत नहीं हारी और कड़ी मेहनत करके ही इस मुकाम तक पहुंच सके हैं।

    अमृतसर.फोकल प्वाइंट इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के चेयरमैन और डालमिया चेरिटेबल ट्रस्ट के ट्रस्टी कमल डालमिया सफल उद्योगपति होने के साथ ही समाज सेवा में भी अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। एक समय ऐसा था जब उनकी इंडस्ट्री डांवाडोल होने के बाद कर्ज चुकाने के लिए अपना घर तक बेचना पड़ा। इस मुश्किल वक्त में हिम्मत नहीं हारी और कड़ी मेहनत करके यह मुकाम हासिल किया। फोकल प्वाइंट में उनके नटराज वूलटैक्स लिमिटेड और नवनीत सिंथेटिक लिमिटेड दो यूनिट चल रहे हैं, जहां से 400 लोगों (लेबर) की रोजी-रोटी भी चल रही है। डालमिया ने समय के साथ ही खुद को अपडेट करते हुए अपने यूनिटों में चाइना, ताइवान, स्विट्जरलैंड से मंगवा कर मशीनरी भी लगवाई।

    कमल डालमिया 5 साल किराये के मकान में रहे

    डालमिया ने बीकाम करने के बाद वर्ष 1976 से लेकर 1996 तक धागे की एजेंसी और ट्रेडिंग का काम किया। वर्ष 1980 से लेकर 1995 तक आतंकवाद के दौर में इंडस्ट्री और कारोबार का बुरा हाल हो गया। उन्होंने फोकल प्वाइंट में 1996-97 में धागे की डाइंग, डबलिंग और ट्विस्टिंग के यूनिट लगाए लेकिन वे घाटे में चले गए। वर्ष 1999 में आर्थिक हालत इतनी बिगड़ गई कि उन्हें अपने यूनिट चलाने के लिए घर बेचकर 5 साल तक किराए के मकान में रहना पड़ा।

    पाॅजीटिव सोच और ईमानदारी की राह नहीं छोड़ी

    उनके मुताबिक भगत हंसराज श्री रामशरणम (गोहाना वाले) ने उनका मनोबल बढ़ाते हुए रास्ता दिखाया। वर्ष 2001 के बाद बड़ा बेटा पुनीत डालमिया और 2004 में छोटा बेटा विनीत डालमिया भी कारोबार में साथ आ गया और इंडस्ट्रियल यूनिटों को दोबारा से मजबूत किया। डालमिया के मुताबिक पॉजीटिव सोच और ईमानदारी की राह ही उन्हें और उनके परिवार को इस मुकाम तक लेकर आई है।

    डालमिया चेरिटेबल अस्पताल में गरीबों का हो रहा फ्री इलाज

    उद्योगपति डालमिया माल रोड पर सुमंगलम बिल्डिंग में स्थित डालमिया चेरिटेबल अस्पताल के माध्यम से जरूरतमंद लोगों की सेवा कर रहे हैं। उनके पिता स्वर्गीय गजानंद डालमिया ने यहां बिल्डिंग बनाकर ट्रस्ट स्थापित किया था। डालमिया के मुताबिक उनके पिता ने कहा था कि चैरिटी शुरू करने से पहले इन्कम का साधन बनाओ। जिसके बाद उन्होंने बिल्डिंग का एक हिस्सा बैंक को किराए पर दे दिया। अस्पताल में एलोपैथिक, होम्योपेथिक और आयुर्वेदिक विंग चल रहे हैं, जहां गरीबों का मुफ्त इलाज और टेस्ट किए जाते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Amritsar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Had To Sell In Debt Home
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×