--Advertisement--

मां के नाम लिखी चिट्ठी में कहा-आई लव यू मां, बड़े बेटे ने दी चिता को मुखाग्नि

विदेशों में रहने वाले इंदरप्रीत के जानकार उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 03:28 AM IST
पत्नी बदहवास स्थिती में। पत्नी बदहवास स्थिती में।

अमृतसर. पिता चरणजीत सिंह चड्ढा की वीडियो वायरल होने और बिजनेस पार्टनरों की ओर से लगातार परेशान किए जाने के बाद खुद को गोली मारकर सुसाइड करने वाले इंदरप्रीत सिंह चड्ढा का शुक्रवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनकी चिता को बड़े बेटे अनमोल दीप सिंह चड्ढा ने मुखाग्नि दी। इस दौरान इंद्रप्रीत के पिता चरणजीत सिंह चड्ढा भी मौजूद थे। अंतिम संस्कार के मौके पर इंद्रप्रीत को श्रद्धांजलि देने के लिए हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहे, जिनमें शहर के कई राजनेता, पुलिस अधिकारी भी थे। इसके अलावा विदेशों में रहने वाले इंदरप्रीत के जानकार उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

चीफ खालसा दीवान के पूर्व प्रधान चरनजीत सिंह चड्ढा के होटल कारोबारी बेटे इंद्रप्रीत सिंह चड्ढा के 3 सुसाइड नोट और 3 पत्र सामने आए हैं। एक पत्र इंद्रप्रीत ने लंदन में रह रहे अपने खास दोस्त पीटर विर्दी को लिखा था। इसमें उन्होंने लिखा कि ‘फ्रेंड इट इज टाइम फाॅर मी टू गो, प्लीज सेव माय फैमिली।’ इस पूरी साजिश के पीछे मेरा भाई हरजीत है।

मैं दुनिया छोड़ रहा हूं, मेरी फैमिली को बचाने की जिम्मेदारी आपकी


चिट्ठी में उन्होंने अपने दोस्त से निवेदन किया है कि ‘मैं दुनिया को अलविदा कह रहा हूं। अब परिवार को बचाने की जिम्मेदारी आपकी है।’ वहीं, पीटर का कहना है कि इंद्रप्रीत उनके लिए भाइयों से भी बढ़कर थे। इंद्रप्रीत ने कहा था कि उनके भाई ने ही कुछ लोगों के साथ मिलकर पिता चरनजीत सिंह का वीडियो वायरल कराया है। पहले एफआईआर केवल चरनजीत सिंह चड्ढा के नाम पर थी। बाद में हरजीत ने ही इंद्रप्रीत का नाम भी शामिल कराया था। हालांकि, सभी सुसाइड नोट में इंद्रप्रीत ने अपने भाई हरजीत का बार-बार जिक्र किया है लेकिन उसके खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। वहीं शुक्रवार को इंद्रप्रीत सिंह का अंतिम संस्कार कर दिया गया। कई दिन से गायब उनके पिता चरनजीत सिंह चड्ढा भी संस्कार में शािमल हुए। कोर्ट ने वीरवार को चरनजीत को अग्रिम जमानत दी थी।

उनका अंतिम संस्कार बाद दोपहर करीब 3 बजे किया गया। अंतिम संस्कार के वक्त सब तरफ गमगीन माहौल था। यहां तक कि खुद चरणजीत सिंह चड्ढा भी गहरे सदमे में थे क्योंकि कहीं कहीं उनके मन में भी अफसोस था, कि बेटे ने उनकी अश्लील वीडियो वायरल होने के बाद अपनी जान दे दी। इस दौरान इंद्रप्रीत के तीनों बेटों, पत्नी और मां की रो-रो कर बुरी हालत थी। पार्थिव शव को मुखाग्नि देने वाला बड़ा बेटा अनमोल दीप सिंह बार-बार गुहार लगा रहा था कि एक बार पिता उसे उठकर गले से लगाए, मगर इस बार उसकी आवाज पिता नहीं सुन पा रहे थे।

इंद्रप्रीत चड्‌ढा के अंतिम संस्कार के समय उनके घरवालों का रो-राे कर बुरा हाल था, वहीं रिश्तेदार घरवालों काे दिलासा देकर चुप कराने की कोशिश करते दिखे। इंद्रप्रीत सिंह की अंतिम यात्रा में पिता चरणजीत सिंह चड्‌ढा, भाई हरजीत सिंह और परिवार के तमाम सदस्यों के अलावा बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे। इनमें विदेशों में रहने वाले इंद्रप्रीत के जानने वाले भी शामिल रहे।

सुसाइड नोट में जिनको मौत का जिम्मेदार बताया, वह सभी शहर में ही घूम रहे
पुलिस ने 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है, मगर वह सभी आरोपी भी अभी शहर में ही घूम रहे हैं। यहां तक आरोपियों में शामिल सुरजीत सिंह, विजय उम्मट और वीडियो में दिखाई देने वाली महिला उसका पति आदि सभी ने खुद को बचाने के लिए हाथ-पैर मारने शुरू कर दिए हैं। यह सभी आरोपी राजनीति में बैठे अपने-अपने आकाओं के पास चले गए हैं, ताकि किसी तरह केस में से नाम बाहर हो सके।

मां के नाम लिखी चिट्ठी में कहा-आई लव यू मां
इंद्रप्रीत सिंह ने एक आखिरी चिट्ठी अपनी मां हरबंस कौर के नाम पर भी लिखी है। इस चिट्ठी में उन्होंने अपनी भावनाएं व्यक्त करते हुए लिखा है कि आई लव यू माॅम। वह मां से बहुत प्यार करते हैं। बावजूद इसके दुनिया छोड़ कर जा रहे हैं।

इनमें विदेशों में रहने वाले इंद्रप्रीत के जानने वाले भी शामिल रहे। इनमें विदेशों में रहने वाले इंद्रप्रीत के जानने वाले भी शामिल रहे।
पिता को कंधा देते हुए बेटा। पिता को कंधा देते हुए बेटा।
इंद्रप्रीत सिंह की अंतिम यात्रा में पिता चरणजीत सिंह चड्‌ढा, भाई हरजीत सिंह और परिवार के तमाम सदस्यों के अलावा बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे। इंद्रप्रीत सिंह की अंतिम यात्रा में पिता चरणजीत सिंह चड्‌ढा, भाई हरजीत सिंह और परिवार के तमाम सदस्यों के अलावा बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे।