--Advertisement--

शादी के बाद यहां पहुंची नाबालिग, खुद काे बालिग बता मांगी सुरक्षा, कहा-जान को खतरा

परिवार से जान को खतरा बताते हुए पंजाब मानवाधिकार आयोग के पास सुरक्षा के लिए गुहार लगाई है।

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 07:49 AM IST
सकीना। सकीना।

दीनानगर. गुज्जर समुदाय की नाबालिग युवती को भगाकर ले जाने के मामले में अपहरण का केस दर्ज होने के बावजूद पुलिस की ओर से अभी तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। वहीं, मामले में नया मोड़ आ गया है। नाबालिग युवती ने 2 जनवरी को बरनाला की एक मस्जिद में अपने से दोगुना उम्र के व्यक्ति से विवाह कर लेने के बाद खुद को बालिग बताकर परिवार से जान को खतरा बताते हुए पंजाब मानवाधिकार आयोग के पास सुरक्षा के लिए गुहार लगाई है।


मानवाधिकार आयोग ने एसएसपी गुरदासपुर को इस पर अमल करने के निर्देश जारी किए हैं। हालांकि पुलिस की ओर से लड़की से शादी करने वाले व्यक्ति के खिलाफ 31 दिसंबर 2017 को ही अपहरण का केस दर्ज किया जा चुका है। लेकिन, अब मामले में युवती की उम्र को लेकर सवाल खड़ा हो गया है। स्कूल सर्टिफिकेट और आधारकार्ड के अनुसार युवती की उम्र साढ़े 15 साल है, जबकि लड़की ने मानवाधिकार आयोग के पास दायर किए हल्फिया बयान में अपनी उम्र 20 साल बताते हुए उम्र संबंधी कोई प्रमाण न होने का दावा किया है।

निकटवर्ती गांव धमराई में रहने वाले गुज्जर अल्लाहदित्ता की पत्नी बशीरां ने बताया कि उसके 5 बेटे और 3 बेटियां हैं। बीते 28 दिसंबर 2017 को उसकी बेटी सकीना दीनानगर दवाई लेने के लिए गई थी, लेकिन वापस नहीं लौटी। इस पर उसने पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाई। इस पर पुलिस ने गांव अवांखा के रोशन के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज किया था। बशीरां ने अपनी बेटी का स्कूल सर्टिफिकेट और आधारकार्ड दिखाया, जिसमें सकीना की जन्म तिथि 2 जुलाई 2002 दर्ज है। उसके मुताबिक बेटी की उम्र 15 साल है और वह नाबालिग है।

स्कीना ने आयोग को 20 साल बताई उम्र, शिकायत में अंगूठा लगाया

पंजाब मानवाधिकार आयोग की ओर से पुलिस को दिए गए आदेश के अनुसार सकीना और रोशन की बरनाला की एक मस्जिद में 2 जनवरी को शादी हो चुकी है। इसमें सकीना ने अपने परिवार से जान को खतरा बताते हुए पुलिस सुरक्षा की मांग की है। आयोग को दिए हल्फिया बयान में सकीना ने अपनी उम्र 20 वर्ष बताते हुए जन्म तिथि 5 जनवरी 1998 लिखी है और आयोग के पास दी शिकायत में अंगूठे का निशान लगाया है। स्कूल सर्टिफिकेट के अनुसार वह 8वीं क्लास तक पढ़ी है। सकीना के अनुसार वह और रोशन एक-दूसरे को पिछले 3-4 साल से जानते हैं और आपस में प्यार करते हैं। युवती ने बरनाला की मस्जिद में हुए निकाह की फोटो भी मानवाधिकार आयोग को सौंपी है। वहीं, सकीना से विवाह करने वाले युवक रोशन ने वोटर पहचान पत्र के आधार पर अपनी उम्र मानवाधिकार आयोग को 29 वर्ष बताई है।

डेरे और परिवार को संभालती है बशीरां

बशीरां का पति अल्लादित्ता हार्ट पेशेंट है। इससे पूरे घर को चलाने का दारोमदार बशीरां के कंधों पर है। उनके डेरे में करीब 20 भैंसें हैं। दूध दोहने से लेकर बाजार में बेचने तक का काम खुद करती है। रोजाना मोटरसाइकिल पर दूध के कैन रखकर दूध बेचने जाती है। लेकिन, बेटी के लापता होने के बाद वह दूध भी नहीं बेच पा रही है। बशीरां ने बताया कि गांव अवांखा के रहने वाले रोशन का उसकी जेठ की बेटी के साथ विवाह हुआ था। बदले में रोशन की बहन का निकाह उसके जेठ के बेटे के साथ हुआ था। रोशन की बहन का डेरा उसके डेरे से कुछ ही दूरी पर है। इस वजह से रोशन का अकसर वहां आना-जाना लगा रहता था।

मामले की निष्पक्ष जांच के लिए लिखा जाएगा : सुनील

मानवाधिकार कार्यकर्ता सुनील दत्त ने कहा कि अपहरण के अलावा प्रोटेक्शन आॅफ चाइल्ड फ्राॅम सेक्सुअल ऑफेंस एक्ट और चाइल्ड मेरिज एक्ट के तहत भी आरोपी के खिलाफ कार्रवाई बनती है। पूरे मामले की जांच के लिए मानवाधिकार आयोग को लिखा जाएगा । लड़की की ओर से दिए गए हल्फिया बयान की भी जांच करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि स्कूल सर्टिफिकेट और आधारकार्ड के अनुसार लड़की की उम्र कम होने के कारण उससे शादी करना कानूनन अपराध है। लड़की की उम्र की जांच के बाद होगी अगली कार्रवाई

दीनागर के एसएचओ कुलविंदर सिंह ने बताया कि पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर रखा है। आरोपी को पकड़ने के लिए कई जगह छापेमारी की गई। मानवाधिकार आयोग के आॅर्डर मिलले हैं। पूरा मामला जांच का विषय बन गया है। लड़की की उम्र की जांच कर अगली कार्रवाई की जाएगी।

सकीना की मां बशीरां और भाई-बहन मामले के बारे में जानकारी देते और स्कूल सर्टिफिकेट और आधारकार्ड में दर्ज जन्म तिथि दिखाते। सकीना की मां बशीरां और भाई-बहन मामले के बारे में जानकारी देते और स्कूल सर्टिफिकेट और आधारकार्ड में दर्ज जन्म तिथि दिखाते।
X
सकीना।सकीना।
सकीना की मां बशीरां और भाई-बहन मामले के बारे में जानकारी देते और स्कूल सर्टिफिकेट और आधारकार्ड में दर्ज जन्म तिथि दिखाते।सकीना की मां बशीरां और भाई-बहन मामले के बारे में जानकारी देते और स्कूल सर्टिफिकेट और आधारकार्ड में दर्ज जन्म तिथि दिखाते।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..