--Advertisement--

बेटे पर लड़कियों को छेड़ने का आरोप, पूर्व पार्षद ने थाने में दी बिना कारण पीटने की कंप्लेंट

लड़कियों के साथ अश्लील हरकतें की, विरोध किया तो झगड़ा भी किया गया।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 03:46 AM IST
डेमोफोटो डेमोफोटो

अमृतसर. रणजीत एवेन्यू बी ब्लाॅक मार्केट में चल रहे पैडलर्स पब में लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में पूर्व भाजपा पार्षद मीनू सहगल के बेटे भाग्य सहगल के खिलाफ चौकी रणजीत एवेन्यू में शिकायत दर्ज की गई है। यह शिकायत पब संचालक ने लिखवाई है। भाग्य पर आरोप है कि उसने शराब के नशे में धुत होकर जमकर हुड़दंग मचाया और लड़कियों के साथ अश्लील हरकतें की। जब लड़कियों ने विरोध किया तो झगड़ा भी किया गया। दूसरी तरफ मीनू सहगल ने भी अलग से शिकायत दर्ज करवाई है कि कुछ युवकों ने उसके बेटे के साथ बिना वजह ही मारपीट की है। पुलिस ने दोनों तरफ से शिकायत ले ली हैं और जांच शुरू कर दी है।


पुलिस को दी शिकायत में पब संचालक अजय बतरा ने बताया कि रात को भाग्य सहगल शराब के नशे में धुत था और अपने दो-तीन दोस्तों के साथ आया। यहां पर और भी लोग थे और डीजे पर नाच रहे थे। भाग्य और उसके दोस्तों ने भी नाचते हुए लड़कियों के साथ अश्लील हरकतें करनी शुरू कर दी। लड़कियों ने विरोध किया तो वहां पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने भाग्य व उसके साथियों को बाहर निकाल दिया। इसके बाद भाग्य ने फिर से अंदर घुसने की कोशिश की, मगर उन्होंने खुद उसे मना कर दिया।

इसके बाद भाग्य रात 1.30 बजे तक पब के बाहर खड़ा रहा। जब लड़कियां पब से बाहर आई तो उनके साथ मौजूद पहचान वाले लड़कों के साथ भाग्य ने गाली-गलौज शुरू कर दी। इस पर उन लड़कों ने पकड़ कर भाग्य और उसके साथियों की पिटाई कर दी। भाग्य ने अपने मां-बाप को मौके पर बुला लिया। पूर्व पार्षद मीनू सहगल ने आकर पब के बाहर हंगामा शुरू कर दिया और उल्टा गालियां देनी शुरू कर दीं। चौकी इंचार्ज रोबिन हंस ने कहा कि दोनों तरफ से शिकायत मिल गई है। पब में लगे सीसीटीवी को भी चेक किया है। उसकी फुटेज से भी जांच की जा रही है, जिन लड़कों ने मारपीट की है। उनका पता लगाने के लिए कार्रवाई की जा रही है। जो भी इस मामले में आरोपी पाया जाएगा। उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

बेटा बेकसूर: मीनू सहगल

पूर्व पार्षद और भाग्य सहगल की मां मीनू सहगल ने अपनी शिकायत में कहा है कि उसके बेटे को बिना किसी कारण अज्ञात युवकों ने झगड़ा कर मारपीट की है, जबकि बेटे का कोई कसूर नहीं है।