--Advertisement--

पेंशनर्स को 4 माह से पहले नहीं मिलेंगे बकाया 62 करोड़, ये रहेगा प्रोसेस

आर्थिक तंगी का असर लोक भलाई स्कीमों पर भी पड़ा, सरकार आवेदन ले रही पर लाभ नहीं दे रही

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 06:04 AM IST

बठिंडा. केंद्र व राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही सामाजिक भलाई स्कीमों का लाभ जिले के एक लाख 3092 लोगों को आज तक नहीं मिल सका है। इसमें प्रशासन और सरकार आवेदन तो ले रही है लेकिन पिछले छह साल से लोगों को एक फूटी कोड़ी भी नहीं दी गई है।

अब राज्य में कांग्रेस सरकार के गठन के बाद आर्थिक तंगी की बात कहकर सभी योजनाओं के लिए राशि का आबंटन बंद कर रखा है। वहीं सरकार का दावा है कि अप्रैल 2018 से पहले खजाने की स्थिति में सुधार की संभावना नहीं है। फिलहाल लाभपात्रियों के 62 करोड़ 5 लाख 77 हजार रुपए सरकार की तरफ फंसे हुए हैं।

शगुन योजना के हैं 4 करोड़ बकाया

शगुन योजना के पैसे दिसंबर 2016 से पेंडिंग हैं। बेशक पंजाब सरकार ने इस योजना का नाम बदल कर जुलाई से आशीर्वाद योजना कर दिया है। वहीं जुलाई से पहले लाभपात्रियों को 15 हजार और जुलाई के बाद से 21 हजार रुपए दिए जाएंगे। इस हिसाब से दिसंबर 2016 से जून 2017 तक के 1660 लाभपात्रियों के 15 हजार रुपए के हिसाब से 2 करोड़ 49 लाख रुपए बकाया हैं।

इंटरकास्ट योजना के 63 लाख बकाया

अंतरजातीय शादी करने की योजना के तहत अप्लाई करने वालों को 2011 के बाद से कोई सहायता नहीं मिली। बेशक इस योजना के लिए पैसे केंद्र की तरफ से दिए जाते हैं। वहीं 2011 से लेकर अभी तक 126 लोगों ने अंतर जातीय विवाह करने पर मिलने वाली 50 हजार रुपए की सहायता के लिए अप्लाई किया, लेकिन इसकी फाइलें अभी भी दफ्तरों में पड़ी हैं। इसके चलते इस योजना के 63 लाख रुपए बकाया पड़े हैं।

मकान स्कीम के 1 करोड़ 71 लाख बकाया

गरीब परिवारों को पक्के मकान बनाकर देने की योजना के पैसे भी 2014 से लाभपात्रियों के पास नहीं पहुंचे। जिसके तहत मकान बनाने के लिए 50 हजार रुपए की सहायता दी जाती है तो मकान की रिपेयर के लिए 20 हजार रुपए दिए जाते हैं। इसके तहत लाभ लेने के लिए कुल 520 लोगों ने अप्लाई किया है।

पेंशनरों के हैं 55.57 करोड़ बकाया

पेंशनरों को दी जाने वाली आर्थिक सहायता के पैसे मार्च से पेडिंग हैं। जिनके कुल 55 करोड़ 57 लाख 50 हजार रुपए बकाया हैं। जबकि पेंशनरों को जून तक 500 रुपए प्रति महीना दिए जाएंगे तो जुलाई के बाद से 750 रुपए दिए जाएंगे। इसके तहत 1.13 लाख पेंशनरों के 500 रुपए के हिसाब से 16 करोड़ 95 लाख रुपए बकाया हैं।

जल्द देंगे स्कीमों का लाभ

वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल का कहना है कि केंद्र सरकार की तरफ से दिए जाने वाले जीएसटी के रिफंड को लेकर किश्तों में राशि जारी की जा रही है। सरकार लोकभलाई स्कीमों में लोगों को समय पर अदायगी देने के लिए योजना बना रही है इसमें पुरानी सरकार की तरफ से अव्यवस्थित ढंग से चलाई जा रही स्कीमों की जांच पूरी कर ली गई है व जो लाभपात्र रह जाएंगे उन्हें जल्द स्कीम का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा।