--Advertisement--

ये है लेडीज की 'लाल गैंग', शराबी पतियों पर कराती है केस और भिजवाती है जेल

सर, मैं नौवीं में पढ़ती हूं। इलाके का गुंडा हमीद उर्फ हम्मू आए दिन मुझसे छेड़छाड़ करता है। वह घर के आसपास चक्कर लगाता रहता

Dainik Bhaskar

Jan 24, 2018, 02:56 AM IST
लाल गैंग in noida लाल गैंग in noida

सागर. बिलहरा की रहने वाली श्यामरानी अपने पति भागीरथ की शराब और गांजे की लत से परेशान थीं, वह रोज रात में नशे में उनके साथ मारपीट करता था। एक दिन उन्हें लाल गैंग के बारे में पता चला तो रात 8.30 बजे गैंग की एक सदस्य को फोन किया। टीम तुरंत ही महिला की मदद के लिए पहुंची और उसे बिलहरा पुलिस चौकी लेकर आई, यहां पुलिसकर्मियों ने मामला दर्ज करने से मना कर दिया। इसके बाद अगले ही दिन गैंग ने एसपी से जाकर शिकायत की और फिर शराबी पति पर मामला दर्ज कराया। महिलाओं की मदद के लिए इस तरह तत्पर रहने वाली यह गैंग कोई सरकारी अफसर नहीं बल्कि गांव की ही महिलाएं हैं।

- गांव में रहने वाली महिलाएं शराबी पतियों से परेशान हों या फिर उन्हें योजनाओं का लाभ दिलाना हो।

- लाल साड़ी में दिखने वाली यह गैंग महिलाओं की हर मदद के लिए तैयार रहती है।

- गरीब और अनपढ़ महिलाओं से बात कर उनकी समस्याएं सुनती है और फिर उनकी मदद के लिए संबंधित अधिकारियों तक पहुंचकर समस्या को हल कराती है।

कानून की जानकारी के लिए पहले ली ट्रेनिंग फिर काम शुरू किया

- राजा बिलहरा गांव की रहने वाली सपना चौरसिया बताती हैं कि इस काम को शुरू करने से पहले उन्होंने दिल्ली से आईं संतोष शर्मा और वकील नरेंद्र अहिरवार से घरेलू हिंसा जैसे मामलों की कानूनी जानकारी ली।

- प्रशिक्षण पूरा होने के बाद इन महिलाओं ने घर का काम खत्म करने के बाद हर दिन दो गांवों के भ्रमण का संकल्प लिया और फिर निकल पड़ी महिलाओं की मदद के लिए।

घरेलू हिंसा के सबसे ज्यादा मामले

- गैंग की सदस्य सपना चौरसिया ने बताया कि अब तक सुनी समस्याओं में सबसे ज्यादा मामले घरेलू हिंसा के होते हैं।

- जिनमें महिलाएं डर-सहम कर शिकायत तो बताती हैं, लेकिन पुलिस के पास जाने से डरती हैं। हम पहले पति और उनकी सास को समझाइश देते हैं।

हर सप्ताह 100 से भी ज्यादा समस्याएं निपटाने का टारगेट

- लाल गैंग की महिलाओं ने काम की शुरुआत में 10-10 महिलाओं की समस्याओं का समाधान करने का टारगेट तय किया था, लेकिन समस्याएं इतनी ज्यादा मिलीं कि फिर उन्हें इसे बढ़ाकर 100 तक करना पड़ा।

- वहीं गैंग ने महिलाओं के साथ अब वृद्धजनों की भी मदद करने का निर्णय लिया है। ये गैंग पिछले एक माह से 100 से भी ज्यादा महिलाओं और वृद्धों को लेकर जनसुनवाई में पहुंच रही है।

- करीब छह माह से ये गैंग पेंशन, कुटीर, आवास और राशन सहित अन्य कई समस्याओं में भी महिलाओं की मददगार साबित हो रही है।

X
लाल गैंग in noidaलाल गैंग in noida
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..