Hindi News »Punjab »Amritsar» Saheed Amarsheer Funral In Punjab

शहीद बेटे का सिर चूमकर बोली मां- अभी तो तेरे कई अरमान थे बाकी, तुझ पर है गर्व

शहीद अमरसीर का सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार पिता बोले, बहू को दी जाए नौकरी

Bhaskar News | Last Modified - Mar 09, 2018, 06:25 AM IST

  • शहीद बेटे का सिर चूमकर बोली मां- अभी तो तेरे कई अरमान थे बाकी, तुझ पर है गर्व
    +5और स्लाइड देखें
    अपने शहीद बेटे का मस्तक चूमती हुई मां।

    फाजिल्का.असम में आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हुए जोड़की अंधेवाली गांव के शहीद अमरसीर सिंह का पार्थिव शरीर प्लेन से पहले दिल्ली, फिर अगली सुबह दस बजे आर्मी ट्रक से गांव में लाया गया। शहीद को देख वहां उपस्थित हजारों लोगों की आंखें नम हो गईं और अमरशीर सिंह अमर रहे, भारत माता की जय के नारों से आसमान गुंजायमान कर दिया।

    बेटा ही हमारे परिवार के लिए एक सहारा था

    - शहीद के पिता सुखमंदर सिंह ने कहा, मेरा बेटा देश के लिए शहीद हुआ है।

    - अब सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि वह उसके परिवार की सहायता करे।

    - बेटा ही हमारे परिवार के लिए एक सहारा था। इसकी छोटी बेटी चार वर्ष तो दूसरी 4 महीने की है।

    - घर का गुजारा चलाने के लिए उसकी बहू वीरपाल कौर को सरकारी नौकरी मिल जाए तो घर चलाना असान हो जाएगा।

    बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाएगा एवीपीएस स्कूल

    - शहीद की चार वर्षीय बेटी गुरनूर आत्म वल्लभ सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पढ़ती है।

    - इस स्कूल के स्टाफ ने भी शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित किए।

    - इसके बाद स्कूल प्रिंसिपल संगीता तिन्ना ने कहा कि स्कूल चेयरमैन रमन वाट्स व समस्त प्रबंधक व स्टाफ इस दुख की घड़ी में शहीद परिवार के साथ हैं।

    - इस परिवार के लिए स्कूल जो सहयोग हो सकेगा वह करेगा।

    - दोनों बेटियों की पढ़ाई का खर्च वहन करेगा।

    पति का चेहरा देखती रह गई पत्नी

    - 13 सिखलाई रेजिमेंट के सीनियर सैन्य अफसर तिरंगे में लिपटे शहीद का पार्थिव शरीर लेकर आए।

    - हजारों लोगों ने उसके अंतिम दर्शन किए।

    - पत्नी वीरपाल कौर अपने हाथों में पति का चेहरा लेकर चुपचाप देख रही थी। उसके मन में कई सवाल कौंध रहे थे।

  • शहीद बेटे का सिर चूमकर बोली मां- अभी तो तेरे कई अरमान थे बाकी, तुझ पर है गर्व
    +5और स्लाइड देखें
    शहीद की पत्नी।
  • शहीद बेटे का सिर चूमकर बोली मां- अभी तो तेरे कई अरमान थे बाकी, तुझ पर है गर्व
    +5और स्लाइड देखें
    शहीद के पार्थिव शरीर को अग्नि भेंट करते हुए।
  • शहीद बेटे का सिर चूमकर बोली मां- अभी तो तेरे कई अरमान थे बाकी, तुझ पर है गर्व
    +5और स्लाइड देखें
    शहीद अमरसीर सिंह के पिता सुखमंदर सिंह व माता को ढांढस बंधाते हुए लोग ।
  • शहीद बेटे का सिर चूमकर बोली मां- अभी तो तेरे कई अरमान थे बाकी, तुझ पर है गर्व
    +5और स्लाइड देखें
  • शहीद बेटे का सिर चूमकर बोली मां- अभी तो तेरे कई अरमान थे बाकी, तुझ पर है गर्व
    +5और स्लाइड देखें
    शहीद अमरसीर सिंह के पार्थिव शरीर को सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई देते हुए सेना की टुकड़ी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Amritsar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Saheed Amarsheer Funral In Punjab
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×