--Advertisement--

रोजाना शहर में घूमने आ रहे सवा लाख टूरिस्ट, 3 दिन में आएंगे ढाई-ढाई लाख

ज्यादातर यात्री अमृतसर की ओर रुख कर रहे हैं।

Danik Bhaskar | Jan 26, 2018, 07:02 AM IST

अमृतसर. एक साथ आई 26, 27 और 28 जनवरी की छुटिट्यों का आनंद लेने के लिए करीब सवा लाख पर्यटक रोजाना गुरु की नगरी पहुंच रहे हैं। यह संख्या आम दिनों से दोगुनी है। रोजाना अौस्तन 60 से 70 हजार के करीब सैलानी शहर में घूमने आते हैं। पर्यटकों की संख्या बढ़ जाने के कारण शहर के होटल और सराय तक पूरी तरह से फुल हो चुके हैं। बताते चलें कि 26 जनवरी से लेकर 28 जनवरी तक एक साथ तीन छुट्टियां हैं। इस कारण ज्यादातर यात्री अमृतसर की ओर रुख कर रहे हैं।

आज आने वाली सभी ट्रेनें भी फुल
छुटिट्यों के चलते शहर आने वाले यात्री ट्रेनों के जरिए से भी पहुंच रहे हैं। वहीं कई अपने वाहनों में भी आ रहे हैं। रेलवे अफसरों के अनुसार नई दिल्ली के अलावा मुंबई से आई सभी ट्रेनें वीरवार को फुल होकर पहुंची। 26 जनवरी को आने वाली ट्रेनें भी लगभग फुल होकर ही पहुंचेंगी। इनमें मुख्य ट्रेनें नई दिल्ली शताब्दी, शान-ए-पंजाब एक्सप्रेस, सुपर फास्ट, मुंबई से आने वाली पश्चिम एक्सप्रेस, सचखंड एक्सप्रेस और दादर एक्सप्रेस शामिल हैं।

गुरूवार को 23 हजार पर्यटकों ने देखी रिट्रीट : बीएसएफ के सूत्रों के अनुसार वाघा बॉर्डर पर होने वाली रिट्रीट में भी पर्यटकों की संख्या काफी बढ़ गई है। वीरवार को 23 से ज्यादा पर्यटक रिट्रीट देखने पहुंचे, जबकि इससे पहले 14 से 15 हजार तक पर्यटक ही रिट्रीट देखने के लिए पहुंचते थे।

शहर में 650 होटल
अमृतसर होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन सिविल लाइन के प्रधान एपीएस चट्ठा का कहना है कि शहर में करीब 650 होटल हैं, जिनके करीब 4900 कमरे हैं। उन्होंने बताया कि अंदरूनी शहर के होटलों को छोड़कर बाकी सभी होटल 24 से 26 जनवरी तक पूरी तरह बुक हैं।

अंदरून शहर के गेस्ट हाउसों और होटलों का इस्तेमाल कर सकते हैं टूरिस्ट
होटल एसोसिएशन वाल्ड सिटी अमृतसर के प्रधान सतनाम सिंह कंडा का कहना है कि दरबार साहिब के आस-पास करीब 300 होटल हैं। इनमें से कुछ तो फुल हैं, लेकिन कुछ खाली भी चल रहे हैं। गेस्ट हाउसों में कमरे खाली हैं, जो सैलानियों के लिए अच्छा विकल्प हो सकते हैं। उनका कहना था कि शहर के बाहरी इलाके में बने होटल लगभग फुल हो चुके हैं, क्योंकि उन्हें ऑनलाइन भी बुक किया जा सकता है। दरबार साहिब के आस-पास ज्यादातर होटल व गेस्ट हाउस इससे कनेक्टेड नहीं हैं, इसलिए पर्यटक सीधे भी इनसे संपर्क करके कमरे आदि बुक कर सकते हैं।

एसजीपीसी की 8 सरायों में 7 हजार श्रद्धालुओं के ठहरने का प्रबंध हर समय रहता है
शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के दिलजीत सिंह बेदी का कहना है कि उनके अधीन 8 सराय आती हैं, जिसमें करीब 1050 कमरे हैं। इनमें हाल भी रहते हैं। उनका कहना था कि करीब सात हजार यात्रियों के ठहरने का उनके पास प्रबंध हर समय रहता है।