--Advertisement--

83 साल के चड्ढा के चाल-चलन पर दो साल रखेंगे नजर, समागमों में जाने पर रोक

वीडियो मामले में फंसे सीकेडी पूर्व प्रधान चड्ढा सिंह साहिबान के सामने पेश

Dainik Bhaskar

Jan 24, 2018, 06:58 AM IST
चरणजीत सिंह चड्ढा (83) चरणजीत सिंह चड्ढा (83)

अमृतसर. आपत्तिजनक वीडियो को लेकर कंट्रोवर्सी में फंसे चीफ खालसा दीवान के प्रधान रहे चरणजीत सिंह चड्ढा (83) के चाल-चलन पर श्री अकाल तख्त साहिब की तरफ से दो साल तक नजर रखी जाएगी। इसके बाद चड्‌ढा की तरफ से विनय पत्र दिए जाने पर उनकी माफी पर फैसला होगा। इस दौरान वह किसी धार्मिक समागम में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

सिख इतिहास में ऐसा पहली बार है जब किसी पर इतने लंबे वक्त के लिए पाबंदी लगी हो। सोमवार को सीकेडी प्रधान पद से इस्तीफा देने के बाद चड्ढा मंगलवार को श्री अकाल तख्त के जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी गुरबचन सिंह की अगुवाई वाले पांच सिंह साहिबान के सामने पेश हुए। उन्होंने खुद को निर्दोष बताया।

चड्ढा बोले- मुझे फंसाया गया है

पेश होने के बाद बाहर आने पर चड्ढा ने कहा कि वह बेकसूर हैं। साजिश के तहत उन्हें फंसाया गया है। इस प्रकरण में उनके बेटे को जान भी गंवानी पड़ी। उन्होंने सिंह साहिबान के समक्ष अपना पक्ष रख दिया है। सिंह साहिबान ने हुक्म दिया कि चीफ खालसा दीवान चड्ढा की प्राथमिक सदस्यता खत्म करके अकाल तख्त को बताए। आदेश के मुताबिक चड्ढा पर दो साल तक किसी भी धार्मिक, सियासी और सामाजिक समागम आिद में स्टेज पर नहीं बोल पाएंगे। तब तक उनके चाल-चलन पर नजर रखी जाएगी। यह साफ नहीं किया गया कि चाल चलन पर नजर कैसे रखी जाएगी। एसजीपीसी के पूर्व मेंबर और अकाल पुरख की फौज के डायरेक्टर जसविंदर सिंह एडवोकेट इस सजा काे नाकाफी बता रहे हैं। उनका कहना है कि सजा तो ऐसी होनी चाहिए थी कि दूसरों को भी नसीहत मिलती। लेकिन इसमें कहीं न कहीं ढील बरती गई है। तख्त श्री दमदमा साहिब के पूर्व जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी केवल सिंह का कहना है चड्ढा को कम से कम 10 साल तक प्रतिबंधित किया जाना चाहिए था। सरबत खालसा में मनोनीत जत्थेदार बाबा बलजीत सिंह दादूवाल ने इसे नरमी बरतने वाला फैसला बताया है।


मास्टर जौहर सिंह को लगाई धार्मिक सजा

गुरुद्वारा छोटा घल्लूघारा, गुरदासपुर के पूर्व प्रधान मास्टर जौहर सिंह को सिंह साहिबान ने सहज पाठ करने या फिर सुनने के अलावा एक सप्ताह तक दरबार साहिब में एक-एक घंटे जोड़े, बर्तन की सेवा लगाई है। गुरुद्वारा साहिब के एक पदाधिकारी के महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़े जाने के बाद मास्टर को सजा सुनाई गई है।

X
चरणजीत सिंह चड्ढा (83)चरणजीत सिंह चड्ढा (83)
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..