Hindi News »Punjab »Amritsar» Will Keep Two Years On The Move

83 साल के चड्ढा के चाल-चलन पर दो साल रखेंगे नजर, समागमों में जाने पर रोक

वीडियो मामले में फंसे सीकेडी पूर्व प्रधान चड्ढा सिंह साहिबान के सामने पेश

Bhaskar News | Last Modified - Jan 24, 2018, 06:58 AM IST

  • 83 साल के चड्ढा के चाल-चलन पर दो साल रखेंगे नजर, समागमों में जाने पर रोक
    चरणजीत सिंह चड्ढा (83)

    अमृतसर. आपत्तिजनक वीडियो को लेकर कंट्रोवर्सी में फंसे चीफ खालसा दीवान के प्रधान रहे चरणजीत सिंह चड्ढा (83) के चाल-चलन पर श्री अकाल तख्त साहिब की तरफ से दो साल तक नजर रखी जाएगी। इसके बाद चड्‌ढा की तरफ से विनय पत्र दिए जाने पर उनकी माफी पर फैसला होगा। इस दौरान वह किसी धार्मिक समागम में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

    सिख इतिहास में ऐसा पहली बार है जब किसी पर इतने लंबे वक्त के लिए पाबंदी लगी हो। सोमवार को सीकेडी प्रधान पद से इस्तीफा देने के बाद चड्ढा मंगलवार को श्री अकाल तख्त के जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी गुरबचन सिंह की अगुवाई वाले पांच सिंह साहिबान के सामने पेश हुए। उन्होंने खुद को निर्दोष बताया।

    चड्ढा बोले- मुझे फंसाया गया है

    पेश होने के बाद बाहर आने पर चड्ढा ने कहा कि वह बेकसूर हैं। साजिश के तहत उन्हें फंसाया गया है। इस प्रकरण में उनके बेटे को जान भी गंवानी पड़ी। उन्होंने सिंह साहिबान के समक्ष अपना पक्ष रख दिया है। सिंह साहिबान ने हुक्म दिया कि चीफ खालसा दीवान चड्ढा की प्राथमिक सदस्यता खत्म करके अकाल तख्त को बताए। आदेश के मुताबिक चड्ढा पर दो साल तक किसी भी धार्मिक, सियासी और सामाजिक समागम आिद में स्टेज पर नहीं बोल पाएंगे। तब तक उनके चाल-चलन पर नजर रखी जाएगी। यह साफ नहीं किया गया कि चाल चलन पर नजर कैसे रखी जाएगी। एसजीपीसी के पूर्व मेंबर और अकाल पुरख की फौज के डायरेक्टर जसविंदर सिंह एडवोकेट इस सजा काे नाकाफी बता रहे हैं। उनका कहना है कि सजा तो ऐसी होनी चाहिए थी कि दूसरों को भी नसीहत मिलती। लेकिन इसमें कहीं न कहीं ढील बरती गई है। तख्त श्री दमदमा साहिब के पूर्व जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी केवल सिंह का कहना है चड्ढा को कम से कम 10 साल तक प्रतिबंधित किया जाना चाहिए था। सरबत खालसा में मनोनीत जत्थेदार बाबा बलजीत सिंह दादूवाल ने इसे नरमी बरतने वाला फैसला बताया है।


    मास्टर जौहर सिंह को लगाई धार्मिक सजा

    गुरुद्वारा छोटा घल्लूघारा, गुरदासपुर के पूर्व प्रधान मास्टर जौहर सिंह को सिंह साहिबान ने सहज पाठ करने या फिर सुनने के अलावा एक सप्ताह तक दरबार साहिब में एक-एक घंटे जोड़े, बर्तन की सेवा लगाई है। गुरुद्वारा साहिब के एक पदाधिकारी के महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़े जाने के बाद मास्टर को सजा सुनाई गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Amritsar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Will Keep Two Years On The Move
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×