Hindi News »Punjab »Amritsar» दिव्यांग बच्चों को थिएटर के गुर सिखाएगी पंजाब नाटशाला

दिव्यांग बच्चों को थिएटर के गुर सिखाएगी पंजाब नाटशाला

थिएटर के क्षेत्र में अपनी अत्याधुनिक तकनीक के जरिए विश्व स्तरीय ख्याति पा चुकी पंजाब नाटशाला अब उन बच्चों को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:00 AM IST

दिव्यांग बच्चों को थिएटर के गुर सिखाएगी पंजाब नाटशाला
थिएटर के क्षेत्र में अपनी अत्याधुनिक तकनीक के जरिए विश्व स्तरीय ख्याति पा चुकी पंजाब नाटशाला अब उन बच्चों को थिएटर के गुर सिखाएगी, जो साधन विहीन और दिव्यांग हैं। इसके लिए नाटशाला परिसर में ही अलग से हाइड्रोलिक स्टेज तैयार की गई है, जहां पर नाटशाला अपने खर्चे पर वर्कशाप लगा ऐसे बच्चों को अभिनय कला में दक्ष करेगी।

ऑडिटोरियम में जब मंचन नहीं होगा तक तक स्टेज जमीन की सतह पर रहेगी। मंचन शुरू होते ही यह तीन फीट ऊपर हो जाएगी। इसमें भी अगर कलाकार खड़े होकर पेशकारी देगा तो दर्शकों की सुविधा के अनुसार नीचे और बैठने की पेशकारी के दौरान ऊंची हो जाएगी। नाटशाला प्रबंधन की मानें तो इस तरह की पहल किसी निजी संस्थान द्वारा पहली बार किया गया है। बराड़ ने बताया कि आमतौर पर नाटशाला में हमेशा शो होते रहते हैं और दूसरों को मौका नहीं मिलता। इससे एक साथ दो शो होंगे तो साहित्यिक समागम भी इसमें किए जा सकेंगे।

नाटशाला की स्टेज के अलावा वर्कशाप के लिए एक और हाइड्रोलिक स्टेज की गई तैयार

पजाब नाटशाला की नई बनी ऊपर उठी हुई हाइड्रोलिक स्टेज ।

बच्चों में पैदा हो आत्मबल

बराड़ ने बताया कि गरीब परिवारों और संस्थानों से जुड़े बच्चे तथा दिव्यांग अक्सर थिएटर में नहीं आ पाते। उनका ही हाथ पकड़ने के लिए यह स्टेज तैयार हुई है और यहां पर वर्कशाप भी लगाई जाएगी। इसके लिए अलग-अलग संस्थानों से संपर्क कर लिया गया है। बच्चों को सिखाने के लिए डायरेक्टरों का भी चयन जारी है। बच्चों को ले आने-ले जाने से लेकर सिखाने आदि तक का खर्च नाटशाला उठाएगी। वह कहते हैं कि सामाजिक और पारिवारिक मजबूरी के चलते बच्चों का एक बड़ा वर्ग हीन भावना ग्रसित है। ऐसे बच्चों को हुनर के साथ आत्मबल देने की यह छोटी सी कोशिश है।

देश में पहली बार पहल

यह पहला मौका है जब देश में किसी प्राइवेट आर्गेनाइजेशन की तरफ से ऐसे बच्चों को थिएटर की बारीकियां सिखाने की पहल की गई है। बताते चलें कि थिएटर के लिए खास काम करने वाले पंजाब गौरव अवार्ड से नवाजे गए जतिंदर बराड़ ने 1998 में नाटशाला की स्थापना की थी। यह नाटशाला अपनी तकनीक के चलते दुनिया के बेहतरीन नाटशालाओं में शुमार हो चुकी है। अब उसी नाटशाला के कैंपस में बच्चों के लिए उक्त स्टेज बनाई गई है, जिसका उद्घाटन गत दिवस कॉमेडियन भारती सिंह तथा पद्मश्री सुरजीत पातर ने किया था। वर्कशाप की तैयारियां मुकम्मल कर ली गई हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×