• Home
  • Punjab
  • Amritsar
  • कला के विविध पहलुओं को आर्ट गैलरी ने बख्शा मान
--Advertisement--

कला के विविध पहलुओं को आर्ट गैलरी ने बख्शा मान

एसजी ठाकर सिंह आर्ट गैलरी में रविवारीय श्रृंखला के तहत दस दिवसीय कला प्रदर्शनी लगाई गई। इसमें पेंटिंग, स्कल्प्चर,...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:00 AM IST
एसजी ठाकर सिंह आर्ट गैलरी में रविवारीय श्रृंखला के तहत दस दिवसीय कला प्रदर्शनी लगाई गई। इसमें पेंटिंग, स्कल्प्चर, ग्राफिक, फोटोग्राफी तथा स्कैच को शामिल किया गया है। इस मौके पर राज्य के विभिन्न हिस्सों से पहुंचे कलाकारों तथा विद्यार्थियों को बतौर मुख्य मेहमान शामिल हुए नार्थ जोन कल्चर सेंटर पटियाला के डायरेक्टर डॉ. सौभाग्य वर्धन के हाथों पुरस्कृत भी करवाया गया। गैलरी के चेयरमैन राजिंदर मोहन सिंह छीना, प्रधान शिवदेव सिंह, महासचिव डॉ. अरविंदर सिंह चमक ने मेहमानों का स्वागत किया और आयोजन में शिरकत करने के लिए आभार भी जताया। इस दौरान जीएनडीयू की संगीत विभाग की मुखी डॉ. तेजिंदर अदा ने अपनी नज्मों की पेशकारी करके माहौल को संगीत से सराबोर किया। पांच कलाकारों कवि चौहान अमृतसर, करुणा मोहिंद्रा लुधियाना, सोनिक जुत्सी अमृतसर, सरोज शर्मा अमृतसर तथा रिशीम बत्रा होशियारपुर को हाइली कमेंडेड सर्टिफिकेट दिया गया। इसी तरह से हाइली कमेंडेड सर्टिफिकेट जिन स्टूडेंट को दिए गए उनमें तानिया शर्मा अमृतसर, अमनप्रीत कौर अमृतसर, कुलजीत सिंह संगरूर, अजीज वर्मा पठानकोट तथा देगबीर सिंह के नाम शामिल रहे।

पहले दिन 5 कलाकारों को नकद पुरस्कार

एसजी ठाकर सिंह आर्ट गैलरी में रविवारीय श्रृंखला के तहत दस दिवसीय कला प्रदर्शनी लगाई

कला प्रदर्शनी आयोजन के पहले दिन पांच कलाकारों जिनमें राजवंत कौर लुधियाना, नेहा अमृतसर, राहुल शुक्ला लुधियाना, टीना शर्मा अमृतसर तथा प्रमोद कुमार गौतम डेरा बस्सी को 5,000-5,000 रुपए का नकद पुरस्कार दिया गया। इसी तरह से जिन पांच स्टूडेंट्स को 2,500-2,500 रुपए का पुरस्कार दिया गया उनमें दीपक कुमार फगवाड़ा, पुष्किन कैंथ जालंधर, अरुण पुरी जालंधर, अभिजीत सैनी पठानकोट तथा बलजीत सिंह फगवाड़ा के नाम शामिल रहे।

कला प्रदर्शनी की रचनाओं को देखते नार्थ जोन कल्चरल सेंटर पटियाला के डायरेक्टर डॉ. सौभाग्य वर्धन। साथ हैं गैलरी के चेयरमैन राजिंदर मोहन सिंह छीना और अन्य।

182 कलाकारों की 312

रचनाएं शामिल

डॉ. अरविंदर सिंह चमक ने बताया कि इस प्रदर्शनी में 182 कलाकारों ने हिस्सा लिया उनमें से 312 रचनाएं शामिल की गई हैं। इनमें से भी 168 को डिस्प्ले किया गया है। इसमें भी 77 वर्क स्टूडेंट के हैं। इन रचनाओं को चुनने के लिए गठित चुनाव कमेटी में डॉ. इंदु सुधीर, केवल सहगल, वरिंदर शामिल रहे, जबकि निर्णायक मंडल मे सुखपाल सिंह, दलबीर सिंह तथा मूर्तिकार नरिंदर सिंह रहे। यह प्रदर्शनी लगातार पांच सालों से लगाई जा रही है।