• Hindi News
  • Punjab
  • Amritsar
  • ‘ब्रह्मज्ञानी सद जीव कभी नहीं मरता: आनंदमूर्ति गुरु मां
--Advertisement--

‘ब्रह्मज्ञानी सद जीव कभी नहीं मरता: आनंदमूर्ति गुरु मां

भास्कर न्यूज| अमृतसर माल रोड स्थित वेदांत केसरी 108 स्वामी निर्मल वेदांत आश्रम में वीरवार को ब्रह्मलीन 108 स्वामी...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:05 AM IST
भास्कर न्यूज| अमृतसर

माल रोड स्थित वेदांत केसरी 108 स्वामी निर्मल वेदांत आश्रम में वीरवार को ब्रह्मलीन 108 स्वामी निर्मल चेतन जी महाराज को श्रद्धांजलि देने के लिए धार्मिक समारोह का आयोजन किया गया। निर्मल पीठाधीश्वर एवं निर्मल साधना ट्रस्ट के परमाध्यक्ष अनंत श्री विभूषित 108 महंत स्वामी ज्ञानदेव सिंह जी की अध्यक्षता में हुए समागम के दौरान 30 जनवरी को रखे गए श्री अखंडपाठ साहिब का भोग डाला गया। कार्यक्रम में 108 स्वामी आनंद मूर्ति गुरु मां एवं महामंडलेश्वर 108 स्वामी प्रकाशानंद सरस्वती जी मुख्य रूप से शामिल हुए।

मंच का संचालन संत दर्शन सिंह शास्त्री ने किया। इस मौके पर आए संत-महात्माओं और सभी श्रद्धालुओं ने 108 स्वामी निर्मल चेतन जी महाराज के चित्र को पुष्प अर्पित करके उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। अपने प्रवचनों में 108 स्वामी आनंद मूर्ति गुरु मां ने कहा कि आत्मा कभी नहीं मरती वह तो अमर है। जब मनुष्य के शरीर में से आत्मा निकल जाती है तो उनका सारा शरीर बेजान हो जाता है। आत्मा उसी समय परमात्मा के साथ मिल जाती है और वह किसी दूसरे प्राणी का शरीर धारण कर लेती है। यह सारी क्रिया निरंतर चलती रहती है जिसे लोग भगवान का आशीर्वाद मान कर इस दुनिया में आते हंै। गुरु मां ने कहा कि ब्रह्मज्ञानी सद जीव है कभी नहीं मरता वह अमर हो जाता है। इस मौके पर स्वामी ज्ञानदेव सिंह जी महाराज ने कहा कि स्वामी निर्मल चेतन जी ने हमेशा दूसरों का भला किया है।

वह अपने जीवन काल में सेवा भाव के कार्य करते रहे और उन्होंने कभी भी किसी से भेदभाव नहीं किया। इसी तरह महामंडलेश्वर 108 स्वामी प्रकाशनंद सरस्वती, महंत सुखबीर सिंह अमृतसर, महंत जरनैल सिंह, महंत नरिंद्र सिंह हरिसहपुर, महंत नरिंद्र हरि शहपुर, महामंडलेश्वर बलविंदर सिंह, महंत सतनाम सिंह, महंत साहिब सिंह, भगवत भजन सिंह दखाओ, महंत अमनदीप सिंह हरिद्वार, संत झंडा सिंह शास्त्री, सहज दीप सिंह विरक्त मंडली, संत मंडली, संत पाल सिंह लोहिया समेत कई संतों ने अपने प्रवचनों से संगत को निहाल किया। इस मौके पर दैनिक भास्कर के मैनेजिंग एडिटर अनिल सिंघल और अन्य लोग मौजूद थे। समारोह को अंत में गुरु का अटूट लंगर लगाया गया।

निर्मल वेदांत आश्रम में 108 स्वामी निर्मल चेतन जी महाराज के ब्रह्मलीन होने पर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करने पहुंचा संत समाज और अन्य श्रद्धालु। (दाएं) मंच पर विराजमान अनंत श्री विभूषित 108 महंत स्वामी ज्ञानदेव सिंह जी महाराज, 108 स्वामी आनंदमूर्ति गुरु मां एवं महामंडलेश्वर 108 स्वामी प्रकाशानंद सरस्वती, दैनिक भास्कर के मैनेजिंग एडिटर अनिल सिंघल और अन्य।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..