Hindi News »Punjab »Amritsar» ‘इनकम टैक्स में राहत नहीं दिए जाने से मिडिल क्लास हताश, एमएसपी बढ़ाने से महंगाई बढ़ेगी’

‘इनकम टैक्स में राहत नहीं दिए जाने से मिडिल क्लास हताश, एमएसपी बढ़ाने से महंगाई बढ़ेगी’

पंजाब भाजपा के प्रवक्ता और एडवोकेट नवीन सिंगला ने कहा कि वीरवार को संसद में पेश किया गया बजट भारत के विकास के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 02:05 AM IST

पंजाब भाजपा के प्रवक्ता और एडवोकेट नवीन सिंगला ने कहा कि वीरवार को संसद में पेश किया गया बजट भारत के विकास के नक़्शे को सर्वस्पर्शीय और सर्व समावेशक बनाएगा। इसके लिए वह भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली को बधाई देते हैं। सिंगला ने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना ‘आयुष्मान भारत’ के द्वारा 10 करोड़ परिवारों यानी देश की लगभग 40% आबादी को 5 लाख रुपए का बीमा प्रदान करना अद्वितीय पहल है। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का अभिनंदन करना चाहिए। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ गैस कनेक्शन प्रदान करने का मोदी सरकार का निर्णय भी ऐतिहासिक है। यह गरीबों की जीवन गुणवत्ता में सुधार एवं महिला सशक्तिकरण के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता का प्रमाण है।

केंद्र की भाजपा सरकार की तरफ से पेश किया गया अंतिम बजट लोगों की उम्मीदों पर पूरी तरह से खरा नहीं उतर सका। इसमें आम लोगों के लिए तो कुछ खास नहीं रहा, वहीं व्यापारियों के लिए भी कुछ खास नहीं था। कुछेक घोषणाएं तो पुरानी ही कर दी गईं, जिस पर अभी तक कोई अमल ही नहीं हुआ। फिलहाल केंद्र सरकार की तरफ से पेश किए गए अंतिम बजट की सराहना कम ही हुई है।

इनकम टैक्स में राहत न मिलने से मिडल क्लास हताश : व्यापार मंडल

पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल के प्रधान प्यारा लाल सेठ और महामंत्री समीर जैन और सुनील मेहरा ने कहा कि बजट 2018 में मध्यम वर्ग व्यापारी के लिए इन्कम टैक्स स्लैब में राहत न मिलने से निराशा हाथ लगी है। वित्त मंत्री की ओर से इनकम टैक्स कलेक्शन से 90 हजार करोड़ की बढ़ोतरी की बात कही गई, परन्तु राहत के नाम पर मध्यम वर्ग व्यापारी को सरकार ने राहत नहीं दी। मध्यम वर्ग को इस बजट में दरकिनार करने पर रोष व्यक्त करते हुए व्यापारी नेताओं ने सेस को 3% से 4% करने पर भी आपत्ति जाहिर की, क्योंकि सरकार का जब डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन बड़ रहा है तो सेस नहीं बढ़ाना चाहिए था। सरकार ने बढ़ती महंगाई देख राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, राज्यपाल एवं सांसदों के वेतन भत्ते बढ़ाने का प्रावधान तो बजट में रखा है, परन्तु मध्यम वर्ग व्यापारी को राहत देने के नाम पर बजट खामोश रहा। 10% एलटीसीजी ( लॉंग टर्म कैपिटल गैन) टैक्स का प्रावधान इस बजट में रखा गया है, जोकि मध्यम वर्ग की आय पर सीधा प्रहार है।

दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए प्रधानमंत्री को बधाई : नवीन सिंगला

मोदी सरकार ने इस साल के बजट में बहुत सी घोषणाएं की

जंडियाला गुरु |
मोदी सरकार ने इस साल के बजट में बहुत सी घोषणायें की।बजट को लेकर कुछ लोग खुश है ,और कुछ नाराज़ । बजट’के बारे में प्रतिक्रिया देते हुए जसवंत सिंह ग्रोवर ने कहा कि सरकार ने किसानों और गरीबों को बड़ी सौगात दी है। देश भर के किसानों को लुभाने के लिए उनकी आमदनी बढाने के साथ-साथ उनको और सहुलियत देने की कोशिश की गई है। वितमंत्री ने अपने बजट वाले भाषण में घोषणा की है कि अब किसानों को उनकी उत्पादन लागत के डेढ़ गुना दाम पर न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी (एमएसपी) दिया जाएगा। इस घोषणा के बाद किसानों को फसल का वाजिब दाम मिल सकेगा। एक अन्य नागरिक प्रताप सिंह ने कहा कि उम्मीद थी कि इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव करके सरकार मिडिल क्लास को थोड़ी राहत देगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने कहा की सरकार ने घोषणा कि रेलवे को पूरी तरह ब्रॉडगेज किया जाएगा,जो कि अच्छी बात है।

ऑनलाइन इनकम टैक्स स्क्रूटनी अच्छा कदम: सीए दविंदर

सीआईआई के मैंबर जोनल कौंसल सीए दविंदर सिंह ने कहा कि ऑनलाइन इनकम टैक्स स्क्रूटनी एक अच्छा कदम है परन्तु इसे जीएसटी की तरह हड़बड़ी में लागू करने से व्यापारियों को बहुत नुकसान झेलना पड़ सकता है। इनकम टैक्स लॉ के अनुसार इन्कम टैक्स स्क्रूटनी में लगाए गए टैक्स को सिर्फ इनकम टैक्स अपील के जरिए ही राहत पाई जा सकती है जिसमें सालों लगते हैं और टैक्स पहले ही जमा करवाना पड़ता है। ऑनलाइन इनकम टैक्स स्क्रूटनी अगर ठीक तरह से लागू नहीं की गई तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के साथ व्यापारियों की मुकदमेबाज़ी बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी। निश्चित है लोग दुविधा में हैं।

आधुनिक भारत के सपने को साकार करने वाला है केंद्रीय बजट 2018

बजट सराहनीय, यह आम आदमी के हक का बजट है : मलिक

राज्यसभा सांसद श्वेत मलिक ने केंद्रीय बजट 2018 को सराहनीय करार देते हुए कहा कि यह आम आदमी के हक का बजट रहा है। इस बजट में हर किसी को रखा गया है। यह केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की बढ़िया सोच ही है कि हर देशवासी को इस बजट में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि आधुनिक भारत के सपने को साकार करने के लिए सामान्य लोगों की ईज ऑफ लिविंग को बढ़ाने के लिए और विकास को स्थायित्व देने के लिए भारत में नई जनरेशन इंफ्रास्ट्रक्चर अत्यंत जरूरी है। रेल मेट्रो, हाइवे, आइवे, एयरपोर्ट, पावर ग्रिड, गैस ग्रिड, सागरमाला, भारत माला डिजिटल इंडिया से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास पर बजट में काफी बल दिया गया है।

‘केंद्र सरकार का अंतिम बजट निराशाजनक और हताश करने वाला’

बजट लोगों को कष्ट देने वाला है : डॉ. राज कुमार वेरका

विधायक डॉ. राज कुमार वेरका ने कहा कि यह बजट पूरी तरह से बकवास था। इसमें न तो किसानों को कुछ दिया गया और न ही कारखानेदारों को। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमेशा अपने मन की बात करते रहे हैं, लेकिन लोगों के मनों की कोई बात नहीं सुनी। उन्हें जनता की आवाज सुननी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि बड़े ही शर्म की बात है कि अगले वर्ष जलियावाला बाग का शताब्दी समारोह आ रहा है और उसके लिए कुछ नहीं दिया गया। बजट लोगों को कष्ट देने वाला है।

बजट पूरी तरह से गुमराह करने वाला : विधायक सुनील दत्ती

विधायक सुनील दत्ती ने कहा कि बजट पूरी तरह से लोगों को गुमराह करने वाला है। वर्ष 2019 में चुनाव आ रहे है तो ऐसे में लोगों को भ्रमित करने के लिए सिर्फ घोषणाएं ही की गई है। ज्यादातर तो पुरानी ही हैं। उन्होंने कहा कि पांच सालों का यह आखिरी बजट था और लोगों को इससे काफी उम्मीदें थी, लेकिन सरकार लोगों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सकी।

देखा जाए तो बजट पूरी तरह से निराशापूर्ण : अनिल कपूर

व्यापारी अनिल कपूर का कहना है कि बजट में देश के व्यापारियों के लिए कुछ भी नहीं है सरकार ने यद्यपि किसानों को राहत दी है लेकिन पिछले बजट की घोषणाएं भी अभी तक पूरी नहीं हो सकी है। उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए जरूरी कार्य किया गया है, महंगाई को देखते हुए देश की जनता को इनकम टैक्स में छूट बढ़ने की आशा थी जिसे पूरा नहीं किया गया है जिनसे सरकार को चुनाव में वोट का लाभ मिल सकता है। ऐसे क्षेत्रों को छोड़कर सरकार ने सभी क्षेत्रों को निराश किया है। देखा जाए तो बजट पूर्ण रूप से निराशाजनक है। किसी पक्ष को ज्यादा राहत नहीं है बल्कि बजट से दिक्कत होेने वाली है।

रोजगार बढ़ाने और आर्थिक स्थिति में सुधार होगा : गुनबीर सिंह

दिलबीर फाउंडेशन के प्रधान गुनबीर सिंह ने कहा कि बजट 2018 का मुख्य लक्ष्य समूह देश के बुनियादी ढांचे का विकास करने वाला लगता है, जिसके द्वारा रोजगार बढ़ाने और आर्थिक स्थिति के सुधार के लक्ष्य की प्राप्ति तय की गई है। इसलिए अधिकतर रकम रेल, सड़क और हवाई जहाजों के लिए रिजर्व रखी गई है, जोकि अमृत, हृदय और स्मार्ट सिटी की स्कीमों को सहयोग देगी। उन्होंने कहा कि किसान भलाई के लिए एमएसपी का नया लागत प्लस 50 प्रतिशत का फार्मूला सराहनीय है। सबसे महत्वपूर्ण है, भारतीयों के लिए सरकार की ओर से सेहत बीमा जोकि 10 करोड़ परिवारों को पांच लाख रुपये तक का इलाज मुफ्त करवाएगा।

एमएसपी बढ़ाने से महंगाई बढ़ेगी अवनीश: खोसला

बैंकिंग ट्रेड यूनियन के राष्ट्रीय सेक्रेटरी अवनीश खोसला ने कहा कि केंद्रीय बजट में मिनिमम स्पॉट प्राइज (एमएसपी) यह कहकर बढ़ाया गया है कि किसानों को इससे बहुत फायदा होगा, लेकिन इससे किसानों को कोई फायदा नहीं होगा। क्योंकि मिडल मैन अभी भी बीच में है, जिस कारण महंगाई और बढ़ जाएगी। जब तक मिडल मैन को नहीं निकाला जाता तब तक किसानों को कोई फायदा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि पेट्रोल के दाम आसमान को छू रहे हैं। बजट में पेट्रोल के दामों को कम करने के बारे में कुछ भी नहीं कहा गया है। इस समय सबसे ज्यादा जरूरत पेट्रोल के दामों को कम करने की थी।

बजट से देश की आर्थिक हालत मजबूत होगी : रजिंदर मोहन छीना

भारतीय जनता पार्टी के प्रांतीय उप प्रधान रजिंदर मोहन सिंह छीना ने कहा कि बजट पूरी तरह से किसानों के हक में रहा है। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की तरफ से प्रस्तावित बजट में गरीबों, महिलाओं और ग्रामीण क्षेत्रों का खास ध्यान रखा गया है। बजट से देश की आर्थिक हालत मजबूत होगी और मूलभूत ढांचे के विकास को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस बजट में खेतीबाड़ी, ग्रामीण विकास, छोटे उद्योग और गरीब परिवारों की मदद के लिए जो प्रस्ताव पेश किए हैं, वह सराहनीय हैं। शैक्षणिक क्षेत्र में डिजिटल टेक्नोलॉजी के लिए पैसा रिजर्व रखने के अलावा स्मार्ट सिटी जैसे अमृतसर शहरों के लिए मौजूद फंडों में बड़े स्तर पर वृद्धि की गई है।

बजट से लोगों को कोई फायदा नहीं : विधायक ओपी सोनी

विधायक ओम प्रकाश सोनी ने कहा कि केंद्रीय बजट से लोगों को कोई फायदा नहीं होगा। लोगों के साथ फिर से झूठे वादे किए गए हैं। इसमें न तो व्यापारियों के लिए कुछ किया गया है और न ही किसानों के लिए। चुनावों के दौरान जिस तरह भाजपा ने झूठे वादे किए थे, ठीक उसी तरह अब रेल बजट उन झूठे वादों की तरह ही है। उन्होंने कहा कि इस समय पेट्रोल के दाम आसमान छू रहे हैं, लेकिन उनको कम नहीं किया गया।

झूठ का पुलिंदा है अंतिम बजट : संजीव रामपाल

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सेक्रेटरी संजीव रामपाल ने कहा कि बजट में एंप्लॉयज के लिए कुछ नहीं किया गया। बजट में की गई घोषणाएं सिर्फ झूठ का पुलिंदा ही हैं। जीएसटी और नोटबंदी ने लोगों की तो कमर तोड़कर रख दी थी, यह बजट भी उसी का एक हिस्सा है। अब तक केंद्र सरकार झूठे वादे करती आई है। उन्होंने कहा था कि जीडीपी ग्रोथ करेगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। जनता का कुछ भी नहीं सोचा गया।

केंद्रीय बजट जनता के हक में रहा : केवल कुमार

भाजपा के पंजाब महासचिव पूर्व एसपी केवल कुमार ने कहा कि केंद्रीय बजट जनता के हक में रहा। इसमें देश के अन्नदाता और गरीबों को खास तौर पर तरजीह दी गई है। देश में युवाओं को नौकरियों के लिए भी कहा गया है। गरीब लोगों को नेशनल हैल्थ प्रोजेक्शन स्कीम के तहत 5 लाख रुपये सालाना की राशि दी जानी है, जिससे तकरीबन 50 करोड़ रुपये लोगों को इसका लाभ मिलेगा। किसानों को सीधा फायदा देने के लिए कई तरह की स्कीमें सरकार ने लागू की है। रेलवे पर एक लाख 48 हजार करोड़ खर्च करने का जो लक्ष्य रखा गया है, उससे रेलवे स्टेशन हाईटेक होंगे, जिनका लोगों को फायदा मिलेगा।

पूरी तरह से निराशापूर्ण है बजट :नैनिश बहल

भारत विकास परिषद के नैनिश बहल ने कहा कि बजट पूरी तरह से निराशापूर्ण रहा है। अंतिम बजट से लोगों को काफी उम्मीदें थीं, लेकिन जनता की उम्मीद पर खरा नहीं उतर सके। उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा जरूरत इस समय पेट्रोल के दामों को कम करने की थी, लेकिन उनकी तरफ देखा भी नहीं गया। इतना ही नहीं अमृतसर शहर के लिए भी कुछ नहीं दिया गया। रेलवे के बजट में अमृतसर को नई ट्रेन की उम्मीद थी, लेकिन जनता निराश रही।

केंद्र सरकार का पेश किया गया बजट पेंशनर्स और कर्मचारियों के विरोध में, निश्चित ही इससे कोई खुशी नहीं होगा :सत्यापाल गुप्ता

केंद्र सरकार की ओर से वीरवार को पेश किया बजट पेंशनर्ज और कर्मचारियों के खिलाफ है। इसी को लेकर पंजाब पेंशनर्ज यूनियन पंजाब की जिला इकाई की बैठक की गई। जिला प्रधान दर्शन सिंह छीना अध्यक्षता में हुई बैठक दौरान पंजाब के महासचिव सत्यापाल गुप्ता ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से पिछले तीन सालों में कोई भी वृद्धि नहीं की गई। जिसको लेकर सभी पेंशनर्ज और कर्मचारियों में गुस्सा पाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर केंद्र सरकार ने पेंशनर्ज और कर्मचारी विरोधी बजट पेश करके इन लोगों को और दुखी कर दिया है। जिसका खमियाजा केंद्र सरकार को साल 2019 में आने वाली चुनावों में भुगतना पड़ेगा। इस मौके पर दर्शन लाल शर्मा, सुरिंदर सिंह, जसवंत सिंह, प्रीतम सिंह, महिंदर सिंह, बलदेव सिंह, जसवंत सिंह, रमेश कुमार, कुलवंत सिंह, बलराज सिंह आदि मौजूद थे।

आम जनता के लिए खास रहा बजट : कुमार अमित

भारतीय जनता पार्टी के जिला वाइस प्रधान कुमार अमित ने कहा कि यह बजट आम जनता के लिए काफी खास रहा है। गरीब और अनुसूचित जाति व महिलाओं को ध्यान में रखकर बजट पेश किया गया है। किसानों को सीधा फायदा देते हुए कई स्कीमें लागू की गई हैं, जिससे किसानों को उत्पादन से भी डेढ़ गुणा अधिक फायदा मिलेगा और एससी और एसटी के लिए पहले से अधिक 52 हजार करोड़ रुपए की ग्रांट दिए जाने का वादा किया है और 2022 तक प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों को फ्री मकान भी दिए जाने का वादा सराहनीय है। बजट लोगों की उम्मीदों के अनुसार हैं।

गरीबों को अच्छी मेडिकल सुविधा की पहल : डॉ. अशोक उप्पल

आईएमए प्रेसीडेंट व न्यूरोलाजिस्ट डॉ. अशोक उप्पल ने कहा कि गरीबों को अच्छी मेडिकल सुविधा की शुरुआत इस बजट से हुई। 5 लाख रुपए तक बीमे का अर्थ है महंगी सेवाएं भी ले पाएंगे। जरूरी दवाएं मुफ्त देना और जरूरी टैक्स फ्री या सस्ते में उपलब्ध करवाना अच्छा कदम। टीबी के मरीजों को 500 रुपए देकर उन्हें अच्छी डाइट उपलब्ध होगी। मेडिकल कॉलेज देना और पीजी सीटें बढ़ाने से डॉक्टर्स की कमी पूरे भारत में पूरी होगी।

India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Amritsar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ‘इनकम टैक्स में राहत नहीं दिए जाने से मिडिल क्लास हताश, एमएसपी बढ़ाने से महंगाई बढ़ेगी’
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×