• Hindi News
  • Punjab
  • Amritsar
  • सर्वे टीम के आने से हफ्ता पहले सिद्धू ने खुद झाड़ू उठाया, मगर शहर की रैंकिंग गिरना तय
--Advertisement--

सर्वे टीम के आने से हफ्ता पहले सिद्धू ने खुद झाड़ू उठाया, मगर शहर की रैंकिंग गिरना तय

स्वच्छता सर्वे-2018 के लिए सर्वे टीम अगले हफ्ते शहर पहुंच रही है। सर्वे के 4000 नंबर हैं। इसमें सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट,...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:05 AM IST
स्वच्छता सर्वे-2018 के लिए सर्वे टीम अगले हफ्ते शहर पहुंच रही है। सर्वे के 4000 नंबर हैं। इसमें सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, पब्लिक टॉयलेट्स और सफाई के 70 फीसदी नंबर हैं। सर्वे से पहले ही शहर के 50 फीसदी नंबर कट रहे हैं क्योंकि नंबरिंग में सबसे बड़ा आधार सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट है जिसके लिए प्रस्तावित जगह का विवाद चल रहा है। पब्लिक टायलेट्स से जुड़े नंबर भी कटेंगे। हालांकि शहर को अच्छी रैंकिंग दिलाने के लिए लोकल बॉडीज मंत्री नवजोत सिद्धू अमृतसर स्वच्छता अभियान का ऐलान कर चुके हैं। यही नहीं, बुधवार सुबह उन्होंने खुद मेयर कर्मजीत रिंटू, नगर निगम कमिश्नर सोनाली गिरि और कर्मचारियों के साथ मिलकर तीन इलाकों में झाड़ू भी लगाई।

वर्ष 2016 के सर्वे में देशभर में 49वें स्थान पर रहे अमृतसर की रैंकिंग 2017 में 381 अंक गिरकर 430 पर पहुंच गई थी। इस बार एक से 10 लाख और 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों की सर्वे रैंकिंग अलग-अलग आएगी। पंजाब में अमृतसर व लुधियाना की आबादी 10 लाख से ज्यादा है। अमृतसर को इस बार सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट, पार्कों में खाद बनाने, पब्लिक टॉयलेट्स, ओपन डंप, खुले में शौचमुक्त और ऑनलाइन सैलरी सिस्टम न होने से रैंकिंग में सबसे अधिक नुकसान हो सकता है।

हुण तां चुक्क लो...

जनाब ऐ कूड़े दा नईं, रैंकिंग दा भार जे...स्वच्छता सर्वे में अमृतसर की रैंकिंग सुधारने के लिए लोकल बॉडीज मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू और मेयर कर्मजीत रिंटू ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। बुधवार को दोनों ने निगम कमिश्नर सोनाली गिरि और कर्मचारियों के साथ मिलकर दरबार साहिब, गुज्जरपुरा और दुर्ग्याणा मंदिर के इलाके में सफाई की। खबर पेज-6 पर फोटो : हरविंदर संधू

1200 नंबर...सर्वे टीम देगी डायरेक्ट ऑब्जरवेशन के

डायरेक्ट ऑब्जरवेशन में स्लम, पुराना शहर, अनप्लांड, प्लांड एरिया में सफाई, पब्लिक टॉयलेट्स, कॉमर्शियल एरिया में सफाई, वेजीटेबल, फ्रूट, मीट शाप के पास ही खाद बनाने का इंतजाम, सफाई, रेलवे स्टेशन-बस स्टैंड इलाके में पब्लिक टॉयलेट्स के 1200 नंबर हैं।

सफाई में अमृतसर की रैंकिंग सुधारने की चुनौती इन तीनों पर

420 नंबर...सेनिटेशन ओडीएफ के

खुले में शौच मुक्त, पब्लिक टॉयलेट्स, स्लज टैंक की सफाई, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, घरों में टॉयलेट्स, पेट्रोल पंपों पर पब्लिक टायलेट्स, लोगों को जागरूक करने की मुहिम, कैपेसिटी बिल्डिंग योजना, कूड़े की मैनेजमेंट पर इनोवेशन के 420 नंबर हैं।

420 नंबर...कूड़ा कलेक्शन

सेग्रीगेशन, डंप साइट पर खाद, पार्क में खाद बनाना, हाजिरी से सैलरी सिस्टम के 420 नंबर हैं।

350 नंबर... प्रोसेसिंग & डिस्पो.

सॉलिड वेस्ट मैनजेमेंट के लिए फीस, कूड़ा फेंकने के लिए लैंड, डंप पर बनाई जा रही खाद के 350 नंबर हैं।

निगम में छुट्टियां रद्द, हर वार्ड के लिए लगाया नोडल अफसर...सफाई व्यवस्था में सुधार के लिए निगम कमिश्नर ने सभी कर्मचारियों और अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं। शहर के 85 वार्डों में से हर वार्ड में नोडल अफसर लगाया गया है जो वार्ड में सफाई का निरीक्षण कर जिला सेहत अधिकारी डॉ. राजू चौहान को रिपोर्ट देगा। डॉ. राजू ने बताया कि हर वार्ड में दोे दिन में फ्लैक्स लगा दी जाएंगी, जिन पर सफाई के लिए जिम्मेदार अफसरों के नंबर लिखे रहेंगे। 1000 डस्टबिन लगाए जा रहे हैं। सुबह कूड़ा उठाने का समय भी जल्दी कर दिया है। सात बजे तक नगर निगम की ट्रालियां और प्राइवेट कंपनी की गाड़ियां साफ-सफाई और कूड़ा उठाने के लिए निकल जाएंगी। काम का औचक निरीक्षण भी किया जाएगा और खामी मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। डंप पर कूड़ा सही ढंग से रखा जाए, इसके लिए इंस्पेक्टरों की ड्यूटियां लगा दी गई हैं।

1400 नंबर...पब्लिक फीडबैक

नगर निगम के दावों को परखने के लिए सर्वे टीम शहर में लोगों से बात करेगी। टीम पूछेगी कि लोगों काे सफाई सर्वे का पता है या नहीं? इलाका पिछले साल से साफ है या नहीं? डस्टबिन का इस्तेमाल, डोर-टू-डोर कलेक्शन, पब्लिक टॉयलेट्स-यूरिनल्स की गिनती बढ़ी, स्वच्छता एेप डाउनलोड की?

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..