Hindi News »Punjab »Amritsar» रजिस्ट्री करवाने के लिए लाइसेंस नंबर जरूरी होने का फरमान तुगलकी : शर्मा

रजिस्ट्री करवाने के लिए लाइसेंस नंबर जरूरी होने का फरमान तुगलकी : शर्मा

अमृतसर| अमृतसर डीड राइटर एसोसिएशन के प्रधान और भाजपा के पूर्व जिला प्रधान नरेश शर्मा ने पंजाब सरकार की ओर से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:05 AM IST

अमृतसर| अमृतसर डीड राइटर एसोसिएशन के प्रधान और भाजपा के पूर्व जिला प्रधान नरेश शर्मा ने पंजाब सरकार की ओर से रजिस्ट्रियों के लिए लाइसेंस नंबर जरूरी किए जाने के जारी किए फरमान को तुगलकी फरमान करार दिया है। उन्होंने कहा कि काॅलोनियों में जायदाद की खरीदो-फरोख्त को लेकर दस्तावेज की रजिस्ट्रेशन न करने का पंजाब सरकार का तुगलकी फरमान मंदी के दौर से गुज़र रहे रियल एस्टेट के कारोबार को मृत्यु शैया पर लाने वाला है। दस्तावेज रजिस्टर्ड न होने से पंजाब सरकार के रेवेन्यू को करोड़ों का नुकसान तो होगा ही, साथ ही रियल एस्टेट के साथ जुड़े कारोबारियों व्यापारियों का बंटाधार हो जाएगा। प्रॉपर्टी कारोबार से जुड़े तमाम लोग इस फरमान से हक्के-बक्के रह गए हैं। वसीका नवीस, प्रॉपर्टी डीलर्स, कॉलोनाइजर्स और इस कारोबार से जुड़े तमाम लोगो को रोजी-रोटी के लाले पड़ गए हैं। डिप्टी सेक्रेटरी रेवेन्यू पंजाब के आदेश अनुसार किसी भी कॉलोनी में स्थित किसी भी जायदाद को रजिस्टर्ड करवाने के लिए उसमें वैध कॉलोनी के लाइसेंस नंबर लिखना जरूरी होगा, तभी दस्तावेज रजिस्टर्ड होगा। सवाल तो ये है कि अफसरों की नाक के नीचे कॉलोनियां बन जाती हैं, प्लाट बिक भी जाते हैं और रजिस्टर्ड भी हो जाते हैं, लेकिन उस समय किसी विभाग की आंख नहीं खुलती है। उन्होंने कहा कि एक साधारण आदमी अपनी सारी जिंदगी की जमापूंजी से या बैंक से कर्ज लेकर अपने लिए एक छोटा सा घर बनाता है, लेकिन सरकार ऐसे फरमान जारी कर उनके सपनों को चकनाचूर कर देती है। लोगों को रोजगार देने का वादा करके सत्ता में आने वाली पंजाब की कांग्रेस सरकार लगातार लोगों को बेरोजगार कर रही है और रोजगार छीन रही है। पंजाब सरकार को ऐसे जनता विरोधी फैसले लेने की बजाय जनता के हितों को ध्यान में रखकर काम करना चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×