Hindi News »Punjab News »Amritsar News» Accident On Bathinda Highway Kills 8 Students

एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर

BhaskarNews | Last Modified - Nov 11, 2017, 06:10 AM IST

बुरी तरह कुचले जा चुके के थे शव, रिश्तेदार सिर्फ कपड़ों से कर रहे थे उनकी पहचान।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    रामपुरा के श्मशानघाट में जलती हुई बच्चों की चिताएं।
    बठिंडा/रामपुरा फूल. आज श्मशान घाट का माहौल कलेजा कंपा देने वाला था। सुबह बठिंडा-भुच्चो रोड स्थित फ्लाईओवर पर हुए एक भयंकर हादसे में मरे रामपुरा फूल के छह परिवारों के बच्चों की लाशें एक साथ बठिंडा सिविल हॉस्पिटल से यहां पहुंची थी। बच्चों को अंतिम विदाई देने के लिए पूरी रामपुरा मंडी के लोग श्मशान घाट पर उमड़ पड़े और नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी। एक- एक करके छह लाशों को मुखाग्नि दी गई तो पूरी रामपुरा मंडी के लोग फफक-फफक कर रो पड़े। परिजनों व रिश्तेदारों की चीख-चीत्कार के बीच एक साथ आईं इतनी लाशें के कारण रामपुरा को श्मशान घाट भी छोटा पड़ गया। पापा मैं ठीक हूं फिक्र न करो...
    - हादसे में मरने वाले एफसीआई बठिंडा में क्लर्क के पद पर तैनात रामपुरा फूल की लवप्रीत कौर ने अपने पिता स्वर्ण सिंह को फोन कर बताया था कि पापा मैं ठीक हूं, आप फ्रिक न करो।
    - हमारी बस का एक्सीडेंट हुआ है, लेकिन हादसे में उसे कोई चोट नहीं आई है। स्वर्ण सिंह ने बताया कि बेटी के फोन आने के बाद उन्हें चिंता छोड़ दी थी, लेकिन उन्हें क्यों मालूम था कि उनकी बेटी का यह आखिरी फोन है।
    - बेटी लवप्रीत कौर का आखिरी फोन सुनने के करीब दो घंटे बाद एक फोन आया कि उसकी बेटी लवप्रीत की मौत हो गई।
    कई घरों में नहीं जला चूल्हा
    - मरने वालों में रामपुरा के विनोद मित्तल, खुशबीर कौर, शिखा बांसल, जसप्रीत कौर व नैंसी के अलावा बठिंडा फूड सप्लाई विभाग में तैनात रामपुरा फूल निवासी लवप्रीत कौर के अलावा भुच्चो मंडी के ईश्वर कुमार व गांव लेहरा खाना की मनप्रीत कौर का शव पोस्टमार्टम के बाद उनके घर पहुंचे थे।
    - बच्चों के शव को देखकर उनके परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल था। पूरी मंडी में सन्नाटा था। कई घरों में चूल्हा तक नहीं जला।
    - सहारा जनसेवा के कार्यकर्ताओं ने हादसे के मृतकों और जख्मियों को सिविल हॉस्पिटल पहुंचाया।
    शव पहचान के लिए रखे
    - आसपास के इलाकों के वह सैकड़ों माता-पिता थे, जिनके बच्चे सुबह उन्हें जल्द वापस आने की बात कहकर घर से गए थे।
    - शव इस कदर कटे हुए थे कि उनके शरीर का एक-एक हिस्सा इकट्ठा कर अस्पताल लाना पड़ा।
    - अस्पताल में 6 लड़कियां और 3 लड़कों के शव पहचान के लिए रखे थे।
    - मरने वाले सभी छात्रों के अपने सपने थे कोई डाॅक्टर बनना चाहता था, तो कोई विदेश में जाकर नौकरी करना चाहता था, लेकिन हादसे से बच्चों के साथ-साथ उनके परिवारों के सपने भी टूट गए।
    आगे की स्लाइड्स में देखें संबंधित फोटोज...
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    रोड पर पड़े हुए शव।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    घायलों को हॉस्पिटल ले जाते लोग।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    मृतक खुशबीर कौर और सिखा
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    हादसे के बाद गाड़ियों की हालत।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    हादसे के बाद एक बस की हालत।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    हादसे में कई गाड़ियों में भी टक्कर हुई थी।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    हादसे में मरे डीएवी के तीन स्टूडेंट के आत्मिंक शांति के प्रार्थना करते हुए स्टूडेंट।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    हादसे में अपनों के खोने का गम।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    मातम...
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    बच्चों के रिलेटिव।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    सिविल अस्पताल में मरीज को बैड न मिलने पर जब मेयर बलवंत राय नाथ ने डॉक्टर के साथ बात की तो दोनों में बहस बाजी हो गई। जिसके बाद मेयर ने इसकी शिकायत भी की।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    रामपुरा फूल की लवप्रीत कौर के पिता स्वर्ण सिंह।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    बच्चों के रिलेटिव।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    एक बच्चे की मां।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    स्टूडेेट्स के रिलेटिव विलाप करते हुए।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    रोते हुए रिलेटिव।
  • एक साथ जली 8 लाशें, शवों के एक-एक टुकड़ों को लाना पड़ा था ऐसे बीनकर
    +17और स्लाइड देखें
    रिलेटिव
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Amritsar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Accident On Bathinda Highway Kills 8 Students
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Amritsar

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×