--Advertisement--

पास कराया ऑफिस का नक्शा बना डाला 4 मंजिला होटल,जारी किया गिराने का नोटिस

वहां तीन मंजिलें बन चुकी हैं और चौथी मंजिल बनाने की तैयारी है।

Danik Bhaskar | Nov 30, 2017, 04:45 AM IST

अमृतसर. नगर निगम कमिश्नर ने हाइड मार्केट में निर्माणाधीन इमारत को तीन दिन में ढहाने का फाइनल नोटिस दिया है। इस जगह पर आॅफिस बनाने के लिए नक्शा पास करवाया गया था, जबकि वहां होटल की लुक वाली बिल्डिंग तैयार हो रही है। इसका ग्राउंड फ्लोर पार्किंग के लिए पास करवा वहां कमरे बना लिए गए। फिलहाल वहां तीन मंजिलें बन चुकी हैं और चौथी मंजिल बनाने की तैयारी है।

कवर्ड एरिया 50 की जगह 85 फीसदी बनाया
निर्माणाधीन इमारत के ग्राउंड फ्लोर का कवर्ड एरिया 50 फीसदी पास करवाया गया था लेकिन उसकी जगह 85 फीसदी बना लिया। वहीं फ्लोर एरिया रेशो (एफएआर) 1.8 पास करवा उसकी जगह 3.74 (दोगुनी से ज्यादा) बना ली गई। 15 कारों की पार्किंग पास करवा कर सिर्फ तीन कारों की पार्किंग स्पेस रखी गई थी। वहीं वर्तमान में जितना एरिया बनाया गया है उस हिसाब से वहां पर 31 कारों की पार्किंग होनी चाहिए। वहीं जो अवैध निर्माण किया गया है, वह म्युनिसिपल कारपोरेशन बिल्डिंग बायलाज के मुताबिक कंपाउंडेबल नहीं है।

एक नवंबर को कार्रवाई के नाम पर ड्रामा किया
एक नवंबर को एमटीपी विभाग की तरफ से इसी बिल्डिंग के फ्रंट वाले कुछ हिस्से को गिराया गया था, जोकि मात्र ड्रामा रहा। निगम अफसरों के सामने ही म्युनिसिपल कारपोरेशन बिल्डिंग बायलाज की धज्जियां उड़ती रहीं लेकिन समय रहते कोई कार्रवाई नहीं की गई। जानकारी के मुताबिक इस इमारत को लेकर संबंधित बिल्डिंग इंस्पेक्टर और एटीपी को निगम कमिश्नर की तरफ से शोकॉज नोटिस भी जारी किया गया था।इस अवैध निर्माण को बचाने के लिए विधानसभा हलका ईस्ट का एक कांग्रेस नेता लगातार निगम अधिकारियों पर दबाव बनाने की कोशिश करता रहा है। चर्चा है कि वह नेता एक मंत्री के ओएसडी का नाम लेकर अफसरों पर अपना रौब बनाना चाहता था लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई। वह नेता अवैध निर्माण पर कार्रवाई रुकवाने के लिए निगम के चक्कर भी लगाता रहा है।

निर्माणाधीन बिल्डिंग का कवर्ड एरिया बढ़ाए जाने से एफएआर बढ़ गया है। ग्राउंड फ्लोर की पार्किंग एफएआर में शामिल नहीं होती लेकिन वहां कमरे बनने से वो भी एफएआर में गई। बिल्डिंग को होटल के तौर पर रेगुलराइज करवाना हो और ग्राउंड फ्लोर पर पार्किंग नहीं देनी (वर्तमान में नहीं दी) तो ग्राउंड फ्लोर से इस पर विचार किया जाएगा और अगर ग्राउंड फ्लोर कवर्ड एरिया में ले लिया गया तो जितनी पार्किंग ग्राउंड फ्लोर के एरिया के हिसाब से चाहिए बस उतनी ही अवेलेबल है।

अवैध निर्माण को लेकर नगर निगम कानून के मुताबिक नोटिस दे रहा है। -अमितकुमार, कमिश्नर नगर निगम