--Advertisement--

मजाक में ली दोस्त की जान, प्राइवेट पार्ट में पाइप डालकर छोड़ा गैस प्रेशर

गांव चहल की माधो फैक्टरी में की वारदात, अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 05:21 AM IST
डेमो फोटो डेमो फोटो
पटियाला. गांव चहल में लोहे की माधो फैक्टरी में काम करने वाले दो युवकों ने मजाक-मजाक में अपने ही एक साथी की हत्या कर डाली। फैक्टरी में जेसीबी का ड्राइवर और एक अन्य कर्मचारी बीती 11 नवंबर की दोपहर ट्रॉली पर बतौर ड्राइवर काम करने वाले 28 साल के अश्वनी कुमार से मजाक कर रहे थे। दोनों हत्यारोपियों ने गैस प्रेशर की पाइप अश्वनी के पीछे प्राइवेट पार्ट में लगा दी और अचानक प्रेशर छोड़ दिया।
प्रेशर इतना ज्यादा था कि अश्वनी की पेंट का कपड़ा भी उसके प्राइवेट पार्ट में जा घुसा। वह लहूलुहान होकर नीचे गिर पड़ा। उसकी चीख-पुकार सुनकर फैक्टरी में मौजूद अन्य कर्मचारियों ने मौके पर पहुंच कर अश्वनी को तुरंत नजदीकी अस्पताल पहुंचाया। हालत अधिक गंभीर होने पर डॉक्टरों ने उसे राजिंदरा अस्पताल रेफर किया। 13 नवंबर तारीख को अश्वनी की मौत हो गई। मृतक के भाई जस्सो माजरा निवासी राज कुमार के बयान पर पुलिस ने एक अज्ञात हत्यारोपी समेत दो लोगों पर गैर-इरादतन हत्या का केस दर्ज किया है। पुलिस ने एक हत्यारोपी झंबाली निवासी 28 साल के गुरसेवक सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में हत्यारोपी ने बताया कि वह और अश्वनी साथ काम करने के अलावा अच्छे दोस्त रहे हैं। अकसर एक-दूसरे से मजाक करते थे। गुरसेवक ने बताया कि बीती 11 तारीख को भी वह और एक अन्य कर्मचारी अश्वनी से मजाक कर रहे थे। लेकिन यह नहीं जानते थे कि गैस का प्रेशर इतना तेज होगा कि अश्वनी की जान चली जाएगी। बकौल एसएचओ हत्यारोपी को अदालत में पेश कर उसके रिमांड की मांग की गई, लेकिन अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया।
दूसरे हत्यारोपी की पहचान पता नहीं
वारदातमें शामिल दूसरे हत्यारोपी की पहचान अभी तक पुलिस पता नहीं लगा सकी। एसएचओ और जांच अधिकारी ने बताया कि फैक्टरी के सभी कर्मचारियों के बयान दर्ज किए जाने बाकी हैं। जिससे कि पता लग सके कि वारदात के समय कौन-कौन घटनास्थल पर मौजूद रहे। फिलहाल दूसरे हत्यारोपी की पहचान पता नहीं लग सकी है।
X
डेमो फोटोडेमो फोटो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..