अमृतसर

--Advertisement--

शादी में जा रहे था हिंदू नेता, दो नकाबपोश युवकों ने किया पीछा, मामला दर्ज

दोनों युवक पुलिस की मुस्तैदी को देखते हुए नेशनल हाइवे से लिंक रोड होते हुए फरार हो गए।

Danik Bhaskar

Nov 30, 2017, 04:55 AM IST

मोगा. शिवसेना हिंदुस्तान लीगल सेल के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट अमित घई पत्नी के साथ जब लुधियाना के एक मैरिज पैलेस में शादी समारोह में जा रहे थे तो रास्ते में बाइक सवार दो सिख युवकों ने उनका पीछा किया। इस पर एडवोकेट ने अपने गनमैनों को अलर्ट होने और बाइक सवारों को पकड़ने के लिए कहा। लेकिन दोनों युवक पुलिस की मुस्तैदी को देखते हुए नेशनल हाइवे से लिंक रोड होते हुए फरार हो गए।

जैकेट में हाथ डाल रिवॉल्वर निकालते देख गनमैन ने किया सचेत
हिंदूनेता का कहना है कि बुलेट मोटरसाइकिल के पीछे बैठे युवक अपनी जैकेट में हाथ डालकर रिवाल्वर निकालने की कोशिश कर रहा था। दोनों युवक नकाबपोश थे। इतना ही नहीं ग्रैंड विला मैरिज के निकट पड़ते फ्लाईओवर पर जब उनका काफिला पहुंचा तो बुलेट मोटरसाइकिल सवार युवकों ने उसकी स्कार्पियों गाड़ी के साथ अपना मोटरसाइकिल लगा दिया ओर रिवाल्वर निकाल लिया। इसके बाद उसकी गाड़ी के साथ पीछे रही एस्कॉर्ट गाड़ी में बैठे गनमैन ने वाकीटॉकी पर सूचना दी की वह उनकी गाड़ी से अपनी गाड़ी आगे निकालकर मोटरसाइकिल सवारों को पकड़ने की कोशिश करता है।

इस पर एस्कॉर्ट गाड़ी ने तेज गति से गाड़ी चलाकर मोटरसाइकिल सवारों को रोक लिया। लेकिन वह साथ लगती लिंक रोड जगरांव में पड़ते गांव मडियानी को जाने वाली सड़क से दोनों युवक मोटरसाइकिल समेत फरार हो गए।

हिंदू नेता अमित घई ने बताया कि वह 19 नवंबर को ग्रैंड विला मैरिज पैलेस गांव ढट में पत्नी के अलावा गनमैनों के साथ जा रहा था। जैसे ही उनका काफिला दोपहर 12 बजे के करीब कस्बा अजीतवाल के निकट पहुंचा तो इतने में एक बुलेट मोटरसाइकिल सवार दो युवक सिख युवकों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया। बाइक सवार युवक कभी उनके काफिले से आगे बाइक निकालते तो कभी काफिले से पीछे बाइक कर लेते थे।

इस पर मामले की जानकारी जगरांव देहाती के एसएसपी सुरजीत सिंह को दी गई। एसएसपी सुरजीत सिंह ने अमित घई के बयान दर्ज करके जिला लुधियाना देहाती में रपट दर्ज कर ली है। इतना ही नहीं पुलिस अधिकारियों द्वारा उनके साथ जाकर अजीतवाल से लेकर गांव मडियानी तक का मौका मुआयना किया गया। बुलेट मोटरसाइकिल के पीछे वाली नंबर प्लेट पर जरनैल सिंह भिंडरां वाले की फोटो लगी हुई थी।

घई आतंकियों के निशाने पर
उनके द्वारा पंजाब देश विरोधी ताकतों के खिलाफ आवाज बुलंद करने के चलते वह आतंकियों के निशाने पर हैं। इससे पहले अमित घई द्वारा दस जनवरी को संत जरनैल सिंह भिंडरां वाले को आतंकी कहने तथा उनका पुतला फूंकने का ऐलान करने पर उसके खिलाफ दस जनवरी 2017 को थाना सिटी वन में धारा 295,505, 153 120बी के तहत केस दर्ज किया गया था। इस उपरांत सितंबर महीने में अमित घई के खिलाफ थाना सिटी वन में उनकी सुरक्षा में तैनात गनमैनों से बदसलूकी करने के मामले में केस दर्ज किया गया था। इस घटना के बाद एसएसपी मोगा ने उसके सात गनमैन 11 सितंबर को वापस ले लिए थे। एडीजीपी सिक्योरिटी गौरव यादव को इंटेलिजेंस इनपुट मिला था कि उनकी जान को खतरा है जिसके बाद वापस 7 गनमैन सुरक्षा में लगा दिए थे।

Click to listen..