--Advertisement--

महिला ईटीओ ने व्हाट्सऐप पर मांगी जीएसटी डिटेल, सीए बोला-ईमेल भेज दूं तो दी धमकी

ऐसे धमकियां देंगे तो जीएसटी कानून कारोबारियों के लिए खौफ बनकर रह जाएगा।

Danik Bhaskar | Nov 23, 2017, 05:33 AM IST

अमृतसर. फोकल प्वाइंट इंडस्ट्रीज एसो. के चेयरमैन और प्रमुख उद्योगपति कमल डालमिया ने व्हाट्सऐप पर जीएसटी की डिटेल भेजे जाने पर उनके सीए को महिला ईटीओ की तरफ से धमकाए जाने बारे शिकायत की है। उन्होंने बुधवार को इंडस्ट्रियिल्सटों के साथ बैठक करने पहुंचे डायरेक्टर इंडस्ट्रीज और कामर्स डीपीएस खरबंदा से कहा कि अधिकारी ऐसे धमकियां देंगे तो जीएसटी कानून कारोबारियों के लिए खौफ बनकर रह जाएगा।

उन्होंने कहा कि जिला दफ्तर में तैनात ईटीओ और मोबाइल विंग के कुछ अधिकारियों की तरफ से धक्केशाही किए जाने के खिलाफ वह मुख्यमंत्री, ईटीसी पंजाब और डीईटीसी अमृतसर डिवीजन को भी शिकायत भेजी है।

फोकल प्वाइंट इंडस्ट्रीज ने यह समस्याएं बताईं
फोकलप्वाइंट इंडस्ट्रीज एसो. के चेयरमैन कमल डालमिया और प्रधान दर्शन सिंह गोराया ने कहा कि वर्ष 2003 की इंडस्ट्रियल पालिसी में पेंडिंग इंसेटिव तुरंत जारी किए जाएं ताकि नई पालिसी पर उद्योगपतियों का विश्वास बने। वन टाइम सेटलमेंट स्कीम के तहत पुराने इंडस्ट्रियल लोन केसों का निपटारा होना चाहिए। पंजाब स्माल इंडस्ट्री एंड एक्सपोर्ट कारपोरेशन चंडीगढ़ में किसी पत्राचार का जवाब नहीं मिलता। ओल्ड फोकल प्वाइंट में फायर ब्रिगेड, पावर सब स्टेशन, ईएसआई अस्पताल के लिए पिछले 30 साल से प्लाट रिजर्व पड़े हैं, जहां यह सुविधाएं दी जाएं।

डालमिया ने कहा कि 15 नवंबर 2017 को उनके सीए राजेश डिंगलीवाल को एक महिला ईटीओ ने फोन किया और उनकी फर्म द्वारा जुलाई, अगस्त और सितंबर को भरे गए जीएसटी और क्लेम किए क्रैडिट की डिटेल व्हाट्सऐप पर भेजने को कहा। उनके सीए ने कहा कि वह फर्म की डिटेल उनको ई-मेल से भेज देंगे, व्हाट्सऐप पर शेयर नहीं कर सकते। जिसपर महिला अधिकारी ने उनके सीए के व्हाट्सऐप नंबर पर 5 अन्य फर्मों की डिटेल भेज कहा कि बाकी भी भेज रहे हैं और आपको भी भेजनी होगी। इसके बाद जब सीए ने व्हाट्सऐप पर डिटेल भेजने से मना किया तो ईटीओ ने कहा कि वह उसे देख लेगी। यही नहीं 11 नवंबर शाम को उनकी फैक्टरी से निकले माल से लदे वाहन को रोककर मोबाइल विंग वालों ने माल के साथ मौजूद बिलों की तीन कापियां उतार ली और ड्राइवर के लाइसेंस की फोटो भी खींच ली। ड्राइवर ने उनका नाम पूछा तो उन्होंने कहा कि वह मोबाइल विंग से हैं लेकिन अपनी पहचान नहीं बताई।

एसजीएसटी की छूट बारे स्पष्ट किया जाए
पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल के प्रधान प्यारा लाल सेठ ने कहा कि नई पालिसी में रेडिमेड, मेडअप (शाल शामिल), फुटवियर, कुछ इलेक्ट्रानिक्स आइटम्स को एसजीएसटी से 100 फीसदी छूट दी है, इस बारे स्थिति स्पष्ट की जाए कि यह चार्ज करने के बाद रिफंड मिलेगा या फिर चार्ज ही नहीं करनी। पालिसी में बार्डर एरिया 30 कि. मी. तक कवर किया है, जबकि इसमें बार्डर डिस्ट्रिक्ट अमृतसर,तरनतारन, गुरदासपुर और फिरोजपुर सभी जिले आने चाहिए। एमएसएमई डेवलमेंट इंस्टीट्यूट की ब्रांच अमृतसर में खोली जाए।

इंडस्ट्री के लिए सिंगल विंडो सिस्टम हो
पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल के उप प्रधान रंजन अग्रवाल ने कहा कि अमृतसर बार्डर एरिया को स्पेशल इंसेटिव दिए जाने चाहिए। नई इंडस्ट्रियल पालिसी में बार्डर एरिया की हद को निगम हद तक बढ़ाया जाए। इंडस्ट्री के लिए सिंगल विंडो सिस्टम लागू हो। बैंकों से टाइअप करके इंडस्ट्रियिलस्टों को सस्ते लोन दिलवाए जाएं। अमृतसर देश का आखिरी छोर है, सारा रा मेटीरियल बाहर से आता है, जीएसटी में फ्रेट पर सब्सिडी मिले। पालिसी में जीएसटी संबंधी दी गई छूट 7 साल से बढ़ाकर 10 साल की जाए। इंडस्ट्रिलिस्टों के अलावा ट्रेडर और डिस्ट्रीब्यूटर भी बुलाए जाएं।